विज्ञापन
विज्ञापन

खेत में सो रहे किसान की चाकू घोंपकर हत्या

Gorakhpur Bureauगोरखपुर ब्यूरो Updated Thu, 16 May 2019 11:07 PM IST
बालधर की फाइल फोटो।
बालधर की फाइल फोटो। - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
रामपुर कारखाना। थानाक्षेत्र के बभनौली गांव में बोरिंग की रखवाली कर रहे एक किसान की धारदार हथियार से घोंपकर हत्या कर दी गई। बदमाशों ने किसान का चेहरा गमछे से बांध दिया था। किसान के बेटे की तहरीर पर पांच नामजद लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। फिलहाल एक भी आरोपी पुलिस की पकड़ में नहीं आया है।
विज्ञापन
विज्ञापन
सिरसिया नंबर एक गांव निवासी बालधर सिंह (65) का बभनौली स्थित ईंट-भट्ठा के पास खेत है। वह अपने खेत में बोरिंग करा रहे थे। सामान की रखवाली के लिए बालधर सिंह बुधवार की रात भोजन के बाद खेत में सोने चले गए। रात में किसी समय बदमाशों ने धारदार हथियार से उनकी हत्या कर दी। गुरुवार की भोर में छोटा बेटा जयराम सिंह उनको घर भेजने के लिए पहुंचा। जयराम ने देखा कि पिता चारपाई पर खून से लथपथ पड़े हैं। जयराम के शोर मचाने पर गांव के लोग घटनास्थल की ओर दौड़ पड़े। इसी दौरान किसी ने घटना की जानकारी डायल-100 और एसओ विनय सिंह को दे दी। मौके पर थानेदार, एसआई दुर्गा प्रसाद पांडेय मयफोर्स पहुंच गए। बालधर का चेहरा उनके ही गमछे से बंधा था और उनकी जांघ पर धारदार हथियार से वार किए गए थे। खून अधिक बह जाने से बालधर की मौत हो गई थी। हत्या रात दो से तीन बजे के बीच होने का अनुमान है। बालधर के बेटे जयराम सिंह की तहरीर पर ईंट-भट्ठा मालिक देवरिया शहर निवासी विशाल मल्ल समेत सिरसिया नंबर एक गांव निवासी अश्वनी ऊर्फ अवनीश सिंह, विवेक सिंह, शिवम सिंह और आशीष ऊर्फ गोलू के खिलाफ बलवा और हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। आरोपियों में विशाल मल्ल के खिलाफ बरनई गांव में एक स्कूल प्रबंधक पर जानलेवा हमला करने का भी मुकदमा दर्ज किया गया था। थानाध्यक्ष विनय सिंह ने बताया मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाएगा।

पुलिस की लापरवाही से हुई हत्या
खेत में सोए किसान की हत्या पुलिस की लापरवाही के कारण हुई है। इस बात की चर्चा पूरे दिन क्षेत्र में होती रही। 15 दिन पहले बालधर के बड़े बेटे हरेराम सिंह ने पट्टीदारी के बच्चों के बीच हो रहे विवाद को छुड़ा दिया था। ईंट-भट्ठा मालिक समेत पट्टीदारों को यह बात नागवार लगी थी। दो बार धमकी देने और घर पर चढ़ जाने से घबराया हरेराम आठ मई को मुंबई चला गया। किसान के बेटे जयराम ने पुलिस को दिए तहरीर में बताया है कि 23 अप्रैल को अश्वनी, विशाल, विवेक और शिवम ने उसे घेरकर जान से मारने की धमकी दी थी। 10 मई को गांव के आशीष ऊर्फ गोलू ने भी जयराम को देख लेने की धमकी दी थी। सूत्रों की मानें तो 10 दिन पहले आरोपी बालधर के घर चढ़ आए थे और फायरिंग भी की थी। दोनों मामलों की सूचना थाने पर दी गई, लेकिन पुलिस ने नजरअंदाज कर दिया।

मिलनसार प्रवृत्ति के थे बालधर
बालधर बहुत ही मिलनसार प्रवृत्ति के थे। बीए की पढ़ाई करने के बाद जब नौकरी नहीं मिली तो खेती में ही हाथ आजमाना शुरू कर दिए। किसानी कर दो बेटों और एक बेटी को पढ़ाया-लिखाया। उनकी हत्या की जानकारी मिलते ही सिरसिया, बभनौली, मुण्डेरा मिश्र, बरईपुर लाला, कोटवा, कमधेनवा और मथुराछापर गांव के लोग घटनास्थल पर पहुंच गए। सब आपस में यही चर्चा कर रहे थे कि इतने हंसमुख व्यक्ति का कौन दुश्मन हो गया कि जान ले लिया। पत्नी सीतारमणी और बेटे का रोना देखकर सांत्वना देने आए लोगों की आंखें भी नम हो गईं।

Recommended

एलपीयू ही बेस्ट च्वॉइस क्यों है इंजीनियरिंग और अन्य कोर्सों के लिए
Lovely Professional University

एलपीयू ही बेस्ट च्वॉइस क्यों है इंजीनियरिंग और अन्य कोर्सों के लिए

लाख प्रयास के बावजूद  नहीं मिल रही नौकरी? कराएं शनि-केतु शांति पूजा- 29 जून 2019
Astrology

लाख प्रयास के बावजूद नहीं मिल रही नौकरी? कराएं शनि-केतु शांति पूजा- 29 जून 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Deoria

विद्युत कटौती और लो वोल्टेज से परेशान उपभोक्ताओं ने की शिकायत

विद्युत कटौती और लो वोल्टेज से परेशान उपभोक्ताओं ने की शिकायत

26 जून 2019

विज्ञापन

उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय के बेटे की मौत, सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जताया दुख

उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय के छोटे बेटे अंकुर पांडेय की बरेली में हुए सड़क हादसे में मौत हो गई है। अंकुर पांडेय की मौत पर उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भी दुख जताते हुए परिवार के सदमे से उबरने की कामना की है।

26 जून 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
सबसे तेज अनुभव के लिए
अमर उजाला लाइट ऐप चुनें
Add to Home Screen
Election