डबल मर्डर में नामजदगी से बढ़ी पुलिस की मुश्किलें

Gorakhpur Bureau Updated Tue, 06 Jun 2017 10:36 PM IST
ख़बर सुनें
रवि राय
देवरिया। हत्या के मामलों में आमतौर पर किसी की नामजदगी होने से पुलिस का काम आसान हो जाता है, पर दलित दंपती की हत्या में नामजदगी से पुलिस की परेशानी बढ़ती दिख रही है। नामजदगी के बावजूद परिजन जिस तरह से कई बातों को छुपाते नजर आ रहे हैं, वह पुलिस के गले नहीं उतर रहा। इसके अलावा दलित दंपती की हत्या को सहारनपुर कांड में रंगने की कोशिश किया जाना भी पुलिस की चिंता बढ़ा रहा है। बसपा के कुछ नेताओं ने एसपी राजीव मल्होत्रा से मुलाकात कर दलितों पर हो रहे जुल्म पर विरोध जताया।
डबल मर्डर में पुलिस तीन बिंदुओं पर काम कर रही है। पहला लक्ष्मीनारायण तिवारी हैं। जो गंभीरपुर के रहने वाले हैं। पिपरपाती गांव में उनका नेवासा है। पूछताछ में परिजनों ने बताया कि घोठा के पास लक्ष्मीनारायण ने सब्जी की खेती कर रखी है। 20 मई को उनकी दो भैंस लक्ष्मीनारायण के खेत में चली गई थी। इससे नाराज लक्ष्मीनारायण ने सत्यनारायण के बेटे राहुल को थप्पड़ मार दिया था। बीच-बचाव करने गई शांति को धमकाया था कि जानवर ऐसे ही नुकसान करेंगे तो तुम लोगों की हत्या कर देंगे। इस बात को परिजन पुलिस अधिकारी के सामने चीख-चीख कर कह रहे थे। गांव के लोग भी लक्ष्मीनारायण पर ही हत्या की आशंका जता रहे हैं। उनका कहना था कि लक्ष्मीनारायण और उनके दो बेटों ने घटना को अंजाम दिया। हत्या की सूचना पर लक्ष्मीनारायण भी मौके पर पहुंच गए। एसपी के सामने परिजनों ने उनके ऊपर आरोप लगाना शुरू कर दिया। पूछताछ में उन्होंने कहा कि विवाद हुआ था, धमकी दी थी, लेकिन हत्या नहीं की हैं यदि घटना में हाथ होता तो मौके पर क्यों आते। घर छोड़कर भाग जाते। यूं भी केवल खेत में भैंस चले जाने पर पति-पत्नी की हत्या कर देने की बात पुलिस के गले नहीं उतर रही है।
मामले का दूसरा पहलू मवेशी हैं। सत्यनारायण के घोठा पर नौ भैंसें हैं। भैंसें काफी कीमती हैं। मृतक के पिता गाजी प्रसाद ने बताया कि एक माह पहले सत्यनारायण एक भैंस बेच रहा था। पुरवां का रहने वाला एक व्यापारी ने 40 हजार रुपये कीमत लगाई थी। कुछ दिन बाद तिलई बेलवा के दो व्यापारी आए और जबरन भैंस खरीदने की कोशिश करने लगे। एक सप्ताह बाद एक साथ दोनों व्यापारी घोठा आए और कीमत को लेकर दोनों के बीच विवाद हो गया। तिलई बेलवा वाले पशु व्यापारी मात खा गए। इसपर उसने भी सत्यनारायण को अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। 80 वर्षीय गाजी प्रसाद का भी मानना है कि खेत में जानवर जाने पर कोई डबल मर्डर नहीं कर सकता। प्रभारी कोतवाल ने आशंका जताई कि हो सकता है कि कुछ लोग भैंस चुराने की नीयत से घोठे पर गए हों, इस बीच दंपती की आंख खुल गई हो। इसपर पहचान उजागर होने की डर से दोनों की हत्या कर दी गई हो और घबरा कर चोर बिना चोरी किए लौट गए हों। हालांकि इस पहलू को लेकर पुलिस को अभी कोई साक्ष्य नहीं मिल पाया है।
हत्याकांड से जुड़ा तीसरा पहलू सत्यनारायण के घर से जुड़ा है। जिस पर पुलिस को सबसे अधिक संदेह है, वह है सत्यनारायण की बेटी। दंपती के पांच बच्चे हैं। बड़ी बेटी की शादी पुरवां के कंगला टोला निवासी नागेंद्र के साथ की थी। कुछ दिन बाद उसकी मौत हो गई। बड़ी बेटी के दो बच्चे हैँ, जो मौसी मुनका के साथ ननिहाल में रहते हैं। करीब एक वर्ष पहले मुनका की शादी परिजनों ने नागेंद्र से करवा दी, ताकि बड़ी बेटी के बच्चों का सही से परवरिश हो जाए। एक बेटी रुमा की शादी बैकुंठपुर में हुई है। बेटे राहुल की भी शादी हो गई है। दीपू छोटा है। सूत्रों का दावा है कि शादी को लेकर मुनका खुश नहीं थी क्योंकि पति-पत्नी की उम्र में अंतर था। इसे लेकर आए दिन परिवार में विवाद होता था। सत्यनारायण और शांति हर बार पर्दा डालने की कोशिश करते थे। घोठे पर अक्सर सत्यनारायण और बड़ा बेटा राहुल सोते थे। कुछ दिन पहले सत्यनारायण नैनीताल चले गए तो बेटा ही अकेले सोने लगा। कभी-कभार शांति घोठे पर सोती थी। सोमवार की रात पति को भोजन देने गई थी और वहीं पर सो गई। इस बात की जानकारी परिवार के लोगों को थी। क्योंकि बेटा राहुल घर पर था। पुलिस सूत्रों का दावा है कि दंपती की हत्या सुनियोजित तरीके से हुई, ताकि एक साथ दोनों को खत्म किया जा सके। पुलिस ने पांच नंबरों को सर्विलांस पर लगाया है। इसमें एक सकरापार के एक युवक का भी नंबर है। आरोपी लक्ष्मीनारायण तिवारी के भी कुछ नंबर सर्विलांस पर हैं। ताकि सही लोकेशन पुलिस ट्रेस हो जाए। सीओ अजय सिंह ने कहा कि कई लोगों से पूछताछ की गई, पर हत्या में कोई भी ठोस सुराग हाथ नहीं लगा है। ऐसे में तीन बिंदुओं पर पड़ताल की जा रही है। जल्द की घटना का पर्दाफाश कर दिया जाएगा।

पहले हो गई थी अनहोनी की सुगबुगाहट
सत्यनारायण जिस घोठे पर रहता था, वहां सुबह होते ही चहल-पहल शुरू हो जाती थी। गांव के लोग भी अगर खेत की तरफ जाते तो वह सत्यनारायण के घोठे से होकर जाते थे। मंगलवार की सुबह कुछ अजीब नजारा था। सवा छह बजे तक जानवर पेड़ से बंधे थे। घोठे पर सन्नाटा था। आवाज देने के बाद भी कोई उत्तर नहीं मिला तो अनहोनी की सुगबुगाहट शुरू हो गई। भाई ऋषिमुनी जब मौके पर पहुंचा तो झोपड़ी के अंदर भाई-भाभी मृत पड़े थे। घटनास्थल को देखकर लग रहा था कि कातिलों ने उन्हें प्रतिरोध का मौका तक नहीं दिया।

हत्या से दलित समुदाय में नाराजगी
हत्या के बाद पूरी दलित बस्ती घोठे पर उमड़ पड़ी। महिलाएं और पुरुष चीख-चीख की रहे थे कि सरकार हमारी सुरक्षा नहीं कर सकती। एक-एक कर सभी दलित मारे जाएंगे। इसी बीच दो दिन युवक भीड़ में दाखिल हुए और कहा कि सहारनपुर की तरह देवरिया भी जलेगा। हत्या के बाद लोग दो फाड़ में नजर आए। हालांकि एसपी ने घटना की गंभीरता को देखते हुए अतिरिक्त फोर्स तैनात करा दी। इसके बाद भी करीब 300 से अधिक महिलाएं, पुरुष और बच्चे डीएम कार्यालय पर धरने के लिए निकल पड़े।

पोस्टमार्टम हाउस पर उमड़ी भीड़
दोहरे हत्याकांड के बाद गांव के लोग भयभीत नजर आ रहे हैं। सुबह छह बजे से लेकर दोपहर बारह बजे तक गांव की पूरी आबादी घोठा पर पहुंच गई। पुलिस ने चतुराई की और पहले ही शव को कब्जे में ले लिया। भीड़ जुटने से पहले ही दोनों शव पीएम हाउस पर पहुंच गए। इस बात से गांव के लोग नाराज हो गए। आरोपी लक्ष्मीनारायण तिवारी की गिरफ्तारी की मांग शुरू हो गई। एक बजे से लेकर शाम पांच बजे तक सैकड़ों महिलाएं पोस्टमार्टम हाउस पर पहुंच गई। हंगामा न हो इसके लिए पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई।

15 मई को तरकुलवा में हुआ था डबल मर्डर
पति-पत्नी की हत्या किए जाने की एक महीने के अंदर जिले में यह दूसरी घटना है। 15 मईल को तरकुलवा थानाक्षेत्र के बघड़ा गांव में शरीफ और उनकी पत्नी जसीमा खातून की गलाकाट कर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने चौबीस घंटे के अंदर ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। इस वारदात के चंद रोज बाद ही एक और डबल मर्डर से कानून-व्यवस्था को लेकर भी सवाल उठने लगे हैं।

Recommended

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

पालतू कुत्ते ने दरिंदों के चंगुल से बचाई 14 वर्षीय लड़की की जान, रेप करने वाले दो आरोपियों को भगाया

14 साल की नाबालिग से रेप से करने वालों पर उसके पालतू कुत्ते ने किया हमला, भागने पर कर दिया मजबूर।

21 अगस्त 2018

Related Videos

VIDEO: बच्ची से सुनिए देवरिया बालिका गृह की गंदी करतूत का पूरा सच

देवरिया बालिका कांड में तीन सदस्यीय टीम ने जांच पूरी कर ली है। अब जांच की रिपोर्ट तैयार कर सीएम योगी को सौंपी जाएगी।

7 अगस्त 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree