अब तक नहीं दिखा जीत का वह अंतर

Deoria Updated Fri, 09 May 2014 05:30 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
सलेमपुर। लोकसभा चुनाव के इतिहास में जेपी मूवमेंट और आपात काल के बाद हुआ लोकसभा चुनाव मील का पत्थर है। उस दौर में जीतने वाले प्रत्याशी को मिले मतों का आंकड़ा अभी तक कोई छू नहीं सका है। 1977 में जेपी की लहर तो पूरे देश में थी लेकिन सलेमपुर लोकसभा के लिए आज भी यह चुनाव अपने आप में मिसाल है। 1971 में सलेमपुर से संासद रहेे और जनता के काफी करीब रहने वाले तारकेश्वर पाण्डेय भी जेपी लहर के सामने पस्त हो गए थे। गरीबों के मसीहा कहे जाने वाले जनता पार्टी के उम्मीदवार रहे पूर्व सांसद रामनरेश कुशवाहा को 253659 मत मिले थे, जो सर्वाधिक मतों का अब तक का रिकॉर्ड है।
विज्ञापन

आजादी के बाद से कांग्रेस की इस कदर लहर थी कि 1952 से 1971 तक लगातार कांग्रेस के कब्जे में सलेमपुर लोकसभा की सीट थी। 1977 में उपजी जेपी लहर के दौरान कांग्रेस का सूपड़ा इस सीट से साफ हुआ था। लेकिन 1984 में इंदिरा गांधी की मौत से उठी सहानुभूति की लहर में रामनरेश कुशवाहा जैसे कद्दावर नेता हार गए। इस लहर में विजेता प्रत्याशी के प्राप्त मतों की संख्या 152231 रही। वर्ष 1989 में वीपी सिंह की आंधी देश में चली तो हरिकेवल प्रसाद संासद चुने गए और कांग्रेस के कद्दावर नेता रामनगीना मिश्र हार गए। लेकिन हरिकेवल प्रसाद के मतों का ग्राफ 245235 रहा। लोकसभा क्षेत्र में 1952 से लेकर वर्ष 2009 तक लहर किसी की भी हो लेकिन जेपी लहर में विजयी प्रत्याशी को मिले मतों का आंकड़ा आज भी अछूता है। यूपी की सलेमपुर संसदीय सीट शुरू से सुर्खियों में रही है। इस बार हो रहे लोकसभा के चुनाव में पूर्व सांसद हरिकेवल प्रसाद के पुत्र रविन्द्र कुशवाहा पहली बार भाजपा के टिकट पर तो पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के परिवार से ताल्लुकात रखने वाले रविशंकर सिंह पप्पू बसपा से और सपा से पूर्व सांसद हरिवंश सहाय अपना भाग्य आजमा रहे हैं। वहीं कांग्रेस ने अपने पुराने उम्मीदवार डॉ. भोला पाण्डेय को मैदान में उतारा है। सलेमपुर संसदीय सीट से चार बार सांसद रहे हरिकेवल प्रसाद भी जेपी लहर के आंकड़े को नहीं छू सके थे। अब देखना यह है कि इस बार का चुनाव क्या गुल खिलाता है?
सलेमपुर संसदीय सीट का इतिहास
वर्ष विजयी मतों की संख्या पराजित
1957 विश्वनाथ राय 62771 उमाशंकर
1962 विश्वनाथ पाण्डेय 66351 राजकुमार
1967 विश्वनाथ पाण्डेय 86702 आर नरेश
1971 तारकेश्वर पाण्डेय 168109 उग्रसेन
1977 रामनरेश कुशवाहा 253659 तारकेश्वर पाण्डेय
1980 रामनगीना मिश्र 121340 रामनरेश कुशवाहा
1984 रामनगीना मिश्र 152231 जनेश्वर मिश्र
1989 हरिकेवल प्रसाद 245235 रामनगीना मिश्र
1991 हरिकेवल प्रसाद 139167 रामबिलास
1996 हरिवंश सहाय 156427 हरिकेवल प्रसाद
1998 हरिकेवल प्रसाद 219450 हरिवंश सहाय
1999 बब्बन राजभर 170558 हरिवंश सहाय
2004 हरिकेवल प्रसाद 195570 डॉ. भोला पाण्डेय
2009 रमाशंकर विद्यार्थी 175088 डॉ. भोला पाण्डेय
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us