2014 फतह का पढ़ाया गया पाठ

विज्ञापन
Deoria Published by: Updated Sat, 13 Jul 2013 05:30 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
देवरिया। शुक्रवार को समाजवादी पार्टी के सदर लोकसभा प्रभारी ने कार्यकर्ताओं को 2014 में होने वाले लोकसभा चुनाव को फतह करने का पाठ पढ़ाया। जिला कार्यालय पर हो रही सदर विधानसभा की मासिक बैठक में भाग लेते हुए बूथ स्तर पर बनी कमेटियों के बारे में लोगों से जानकारी मांगी। उन्होंने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ता मतभेदों को भुलाकर चुनाव में लग जाएं।
विज्ञापन

लोकसभा प्रभारी एमएलसी विजय यादव ने कहा कि कार्यकर्ताओं के बल पर 2014 का मिशन सफल होगा। बूथ स्तर पर कार्यकर्ताओं का सम्मान होना चाहिए। उन्होंने सक्रिय कमेटियों के बारे में जानकारी मांगी। लोकसभा प्रत्याशी रामेंद्र त्रिपाठी ने कहा कि कार्यकताओं के बल पर चुनाव लडूंगा। यहां के कार्यकर्ता इमानदारी से लगे हुए हैं। मुझे किसी भी कार्यकर्ता पर संदेह नहीं है। एमएलसी रामसुंदर दास ने कहा कि चुनाव को देखते हुए सभी कार्यकर्ता पूरे मनोयोग से लग जाएं। लोकसभा प्रभारी के आने से कार्यकर्ताओं में उत्साह है। सम्मेलन को जिलाध्यक्ष रामइकबाल यादव, सदर विधानसभा अध्यक्ष व्यास यादव, पूर्व विधायक रुद्रप्रताप सिंह, रामछबिला मिश्र, बजरंग बहादुर सिंह, धर्मवीर गुप्ता, विजय रावत, जीउत यादव, अरविंद साहनी, हृदयनारायण जायसवाल, नित्यानंद तिवारी और विजय यादव आदि ने संबोधित किया।

कार्यकर्ताओं ने किया जोरदार स्वागत
जिला पंचायत सदस्य धर्मवीर गुप्ता की अगुवाई में सपा कार्यकताओं ने सोनूघाट चौराहे पर एमएलसी विजय यादव का जोरदार स्वागत किया। बाद में उनका काफिला लोकसभा प्रत्याशी के कार्यालय पर पहुंचा। स्वागत करने के बाद कार्यकर्ता पार्टी कार्यालय के लिए रवाना हो गए। इस दौरान परवेज आलम, अजय यादव, मनु सिंह, वेदप्रकाश, रामअशीष मौर्य, अतुल त्रिगुणायत, मेराज अहमद सहित कई लोग मौजूद थे।
राइफल तानने का लगाया आरोप
समाजवादी पार्टी में बैठक के दौरान दो नेताओं के बीच जमकर विवाद हुआ। मामला हाथापाई तक पहुंच गया। एक पक्ष ने दूसरे पक्ष पर राइफल तानने का आरोप लगाते हुए मामले की शिकायत जिलाध्यक्ष से की है। सपा नेता उमाशंकर यादव ने जिलाध्यक्ष रामइकबाल को दिए प्रार्थना पत्र में आरोप लगाया कि बैठक को संबोधित करने के बाद जैसे ही वह बाहर निकले। पार्टी के एक नेता ने कहा कि किसके खिलाफ बोल रहे हो। उनका कहना था कि संगठन की खामियों पर बोल रहा हूं। आरोप है कि इस बात से नाराज नेता ने उनके ऊपर राइफल तान दी और गालियां देने लगे। किसी तरह मामला शांत हुआ। जिलाध्यक्ष रामइकबाल का कहना है कि बैठक में इस तरह की कोई मामला सामने नहीं आया है। बाहर हुआ होगा तो इसकी जानकारी नहीं है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X