प्रमोशन में आरक्षण का विरोध जारी

Deoria Updated Tue, 18 Dec 2012 05:30 AM IST
देवरिया। प्रमोशन में आरक्षण के विरोध में सोमवार को भी कर्मचारियों का आंदोलन जारी रहा। सर्वजन हिताय संरक्षण संघर्ष समिति के आह्वान पर चौथे दिन कर्मचारियों ने कार्यालय में ताला बंद कर कलेक्ट्रेट में धरना दिया। अन्य संगठनों से जुड़े कर्मचारियों ने भी कार्य बहिष्कार किया और धरना में शामिल रहे।
राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष जयनारायण यादव ने कहा कि केंद्र सरकार प्रमोशन में आरक्षण लागू कर कर्मचारियों को आपस में बांटने का कार्य किया है। महासंघ के अध्यक्ष राम निवास पांडेय ने कहा कि आरक्षण में पदोन्नति का विधेयक पारित हो गया तो प्रदेश से शुरू हुआ यह आंदोलन पूरे देश में फैलेगा। सुजीत वर्मा ने कहा कि पदोन्नति के आधार पर आरक्षण वापस नहीं होता है तो कोई भी सरकार चैन से नहीं रहेगी। पंचदेव पांडेय ने कहा कि यह आंदोलन जारी रहेगा और 20 दिसंबर को डीएम कार्यालय पर धरना दिया जाएगा। कलेक्ट्रेट में धरने पर देव नारायण, सुरेंद्र सिंह, नर्वदेश्वर श्रीवास्तव, जितेंद्र श्रीवास्तव, हरेंद्र कुमार, उमेश राय, धनश्याम उपाध्याय, अजय तिवारी आदि उपस्थित रहे। धरने की अध्यक्षता खुर्शीद मिश्र और संचालन अशोक पांडेय ने किया।
स्वास्थ्य विभाग के मेडिकल मिनिस्ट्रियल संघ के राघव सिंह, शिव प्रसाद पांडेय, भोला शंकर तिवारी, अरविंद सिंह, अंजन चतुर्वेदी, रेनू सिंह, संजय मिश्र हेमंत पाठक, नमो नारायण पांडेय ने भी प्रदर्शन में भाग लिया।
सेवा योजन कर्मचारी संघ के शिवशंकर द्विवेदी, राम सूरत आर्या, पारसनाथ यादव, अरुण तिवारी, एसएस सिद्दीकी, तुलसी यादव आदि ने भाग लिया। वाहन चालक संघ के राम सिंह, धरमादेवी, आजम शाह आदि कर्मचारियों ने प्रदर्शन में भाग लिया और कलेक्ट्रेट में धरना दिया।
डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन सिविल कोर्ट ने भी प्रमोशन में आरक्षण का विरोध किया। इस दौरान संघ के अध्यक्ष शेषनाथ तिवारी, असीम आनंद मिश्र, संजय मिश्र, प्रेम नारायण मणि, कौशल किशोर पांडेय, शिवानंद, युगल किशोर तिवारी आदि अधिवक्ताओं ने विरोध जताया।
ग्राम्य विकास मिनिस्ट्रीयल एसोसिएशन ने भी पदोन्नति के विरोध में जोरदार आंदोलन किया। विकास भवन के सभी कार्यालयों में तालाबंदी कर विकास भवन के सामने बैठ गए। यहां पर प्रमुख रुप से सुनील सिंह, अमरनाथ, रामायण राव, केशव सिंह, अवधेश सिंह, योगेंद्र तिवारी, धर्मेंद्र, प्रभाकर सिंह, मांडवी मिश्र, विंदा सिंह, केडी सिंह, राम कृपाल यादव आदि ने संबोधित किया।
मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ ने भी प्रमोशन में आरक्षण का विरोध किया। इसमें प्रमुख रुप से लीलावती सिंह, मांडवी आदि महिला कर्मचारी आंदोलन में शामिल रहे। गवर्नमेंट पेंशनर्स वेलफेयर आर्गनाइजेशन ने भी प्रमोशन में आरक्षण का विरोध किया। संघ के अध्यक्ष देवेंद्र मणि त्रिपाठी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में जब मायावती की सरकार थी तो उन्होंने सर्वजन हिताय व सर्वजन सुखाय का नारा देकर पांच साल तक प्रदेश की बागडोर संभाली रही और बाद में जब केंद्र में पहुंची तो उन्होंने किसी एक वर्ग की आरक्षण की बात कर रही है। इस दौरान प्रमुख रुप से प्रकाश राम त्रिपाठी, बृज कुमारी देवी, उमाशंकर सिंह, राजेंद्र श्रीवास्तव, नथुनी यादव आदि आर्गनाइजेशन के नेता शामिल रहे। विद्युुत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष मोर्चा ने भी आरक्षण का विरोध किया। विद्युत विभाग के सभी कार्यालयों में कर्मचारियों ने तालाबंदी कर आंदोलन का विरोध किया। इस दौरान प्रमुख रुप से कर्मचारी नेता केएम पांडेय, केएम सिंह, अरविंद दीक्षित, जयराम मौर्य, मनोज मिश्र, मंगला प्रसाद, राजेंद्र यादव, शशि भूषण, विशाल मिश्र आदि शामिल रहे।

Spotlight

Most Read

Rampur

टेक्सटाइल्स की जमीन पर फिर अवैध कब्जे

रजा टेक्सटाइल्स की जमीन पर सप्ताह भर के भीतर ही फिर से अवैध कब्जे कर लिए गए। अवैध कब्जे को लेकर पुलिस व प्रशासन से मामले की शिकायत की गई है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: अलाव तापते वक्त हुआ विस्फोट, पुलिसकर्मी के खोए हाथ

देवरिया के जनपद रामपुर में अलाव तापते वक्त एक पुलिसकर्मी के साथ दर्दनाख हादसा हो गया। इस हादसे में पुलिसकर्मी के दोनों हाथ बुरी तरह झुलस गए।

14 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper