एक सप्ताह से नहीं बना मध्याह्न भोजन, हंगामा

Deoria Updated Wed, 12 Dec 2012 05:30 AM IST
मईल। देवरहा बाबा इंटर कॉलेज देवसिया में जूनियर कक्षाओं में एक सप्ताह से मध्याह्न भोजन नहीं बनने पर अभिभावकों ने मंगलवार को हंगामा किया। उनका कहना है कि स्कूल में पठन पाठन भी ठीक से नहीं हो रहा है। गांव के लोगों ने इसकी शिकायत एसडीएम बरहज से की। उन्हाेंने बीईओ को जांच कर कार्रवाई का निर्देश दिया।
देवरहा बाबा इंटर कॉलेज देवसिया में कक्षा छह, सात एवं आठ में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को मध्याह्न भोजन एक सप्ताह से नहीं मिल रहा है और पठन पाठन भी ठीक से नहीं हो रहा है। इसकी जानकारी छात्र-छात्राओं ने अपने अभिभावकों से दी। मंगलवार को एक दर्जन अभिभावक कॉलेज पहुंचे और मध्याह्न भोजन नहीं बनने और पठन पाठन ठीक से नहीं होने का कारण जानना चाहा। तो अध्यापकों ने बताया कि प्रधानाचार्य डा. अरविंद त्रिपाठी दस दिन से स्कूल नहीं आ रहे हैं। उनके नहीं आने का कारण भी किसी को पता नहीं है। इसके चलते मध्याह्न भोजन नहीं बन रहा है। हालांकि अध्यापकों ने पठन पाठन होने की बात कही। इस बात को लेकर अभिभावक हंगामा करने लगे। अभिभावकों ने इसकी शिकायत एसडीएम बरहज त्रिभुवन विश्वकर्मा के मोबाइल पर की। एसडीएम ने खंड शिक्षा अधिकारी भागलपुर को जांच कर कार्रवाई का निर्देश दिया। इस मौके पर अभिभावक सुरेंद्र सिंह, उग्रसेन सिंह, सुनील प्रसाद, लाल मोहर, रामजी प्रसाद आदि मौजूद रहे।
बाबा राघवदास जैसे थोड़े से संत हमें मिल जाएं तो भारत का स्वराज्य बाएं हाथ का खेल बन जाए।
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी
बाबा जी राजनीतिक, आर्थिक और सामाजिक व सांस्कृतिक जीवन से एकाकार हो गए। पूर्वी उत्तर प्रदेश में कोई ऐसी समस्या नहीं थी जिसकी ओर उन्होंने ध्यान न दिया हो। चाहे वह शिक्षा का क्षेत्र हो, हरिजनों के उत्थान का प्रश्न हो, कुटीर उद्योगों की स्थापना की समस्या हो, अपाहिजों, कुष्ठ रोगियाें की सेवा का क्षेत्र हो बाबा राघवदास जी के निष्ष्ठापूर्ण प्रयत्नों से सभी दिशाओं में अनेक योजनाएं कार्यान्वित हुईं। विचारों की स्पष्टता और सादगी उनकी विशेषता थी।
पंडित कमलापति त्रिपाठी, पूर्व मुख्यमंत्री
सबल की सेवा स्वार्थ पूर्ण होती है। अबल और निसहाय की सेवा ही वास्तविक सेवा है। कुष्ठ निवारण आंदोलन में अपना जीवन अर्पित कर बाबा राघवदास जन जन के हृदय में अपना स्थान चिर स्थाई बना गए हैं।
जगजीवन राम
बाबा जी जंग ए आजादी में अव्वल दिन से हिस्सा लिया। पूर्वांचल में बड़े बड़े काम किए। वह गांधी जी के सच्चे भक्त थे। उनकी ईमानदारी और सच्चाई हम सभी के लिए आदर्श है। वह मुल्क के एक बहादुर और जांबाज सिपाही थे। वह सिर्फ सियासी आदमी न थे, एक मजहबी आदमी भी थे। इनमें प्रेम और मुहब्बत का बड़ा माद्दा था। कृष्ण का भक्त होने की हैसियत से उन्होंने गीता को शोहरत देने में बड़ा काम किया। मुझसे उनसे गीता के बारे में बातें होती रहती थीं। वह गीता को बड़ी सरल भाषा में समझा देते थे। मैंने कई अध्याय उन्हीं से समझे।
सैयद महमूद, बाबा जी के मित्र और बिहार के पूर्व शिक्षा मंत्री

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

मध्यप्रदेश: कांग्रेस ने लहराया परचम, 24 में से 20 वॉर्ड पर कब्जा

मध्यप्रदेश के राघोगढ़ में हुए नगर पालिका चुनाव में कांग्रेस को 20 वार्डों में जीत हासिल हुई है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: अलाव तापते वक्त हुआ विस्फोट, पुलिसकर्मी के खोए हाथ

देवरिया के जनपद रामपुर में अलाव तापते वक्त एक पुलिसकर्मी के साथ दर्दनाख हादसा हो गया। इस हादसे में पुलिसकर्मी के दोनों हाथ बुरी तरह झुलस गए।

14 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper