भगवान परशुराम की प्राचीन मूर्ति चोरी

Deoria Updated Sun, 21 Oct 2012 12:00 PM IST
सलेमपुर (देवरिया)। जिले के ऐतिहासिक स्थल सोहनाग के परशुराम मंदिर से शुक्रवार की रात भगवान परशुराम की करीब एक हजार साल प्राचीन काले पत्थर की मूर्ति चोरी चली गई। मंदिर की दीवार में फिक्स करीब तीन फीट ऊंची मूर्ति का वजन करीब एक कुंतल बताया जा रहा है। चोरों ने दरवाजे का चैनल तोड़कर घटना को अंजाम दिया। मंदिर में स्थापित भगवान श्रीकृष्ण एवं विष्णु की मूर्ति सुरक्षित है। सूचना पर एसडीएम और सीओ मौके पर पहुंचे। गोरखपुर से पहुंची डाग स्क्वायड एवं फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट की टीम साक्ष्य जुटाने में जुट गई। पुजारी की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पुलिस के अनुसार, चोरी में स्थानीय लोगों का हाथ बताया जा रहा है।
सलेमपुर कोतवाली क्षेत्र के पर्यटक स्थल सोहनाग में भगवान परशुराम का मंदिर है। जिसमें भगवान परशुराम, विष्णु, ब्रह्मा एवं श्रीकृष्ण की काले रंग की पत्थर की मूर्तियाें में भगवान ब्रह्मा की मूर्ति वर्ष 1986 में चोरी चली गई थी। इसके बाद तीन मूर्तियां बचीं थीं। मंदिर की देखरेख का काम पुजारी गंगा शर्मा के परिजनों के जिम्मे है। शुक्रवार की रात मंदिर का ताला बंदकर परिजन मंदिर के बगल में स्थित घर में सोने चले गए। चोर मंदिर की चहारदीवारी फांदकर मंदिर परिसर में प्रवेश कर गए। अंदर पहुंचे चोरों ने मंदिर गेट के लोहे के चैनल को तोड़कर बीच में स्थापित भगवान परशुराम की मूर्ति को दीवार से तोड़कर कर अलग कर लिया और चंपत हो गए। शनिवार की सुबह जब पुजारी के परिवार की महिला दुर्गावती मंदिर की तरफ गईं तो चैनल टूटा देख अवाक रह गई। उन्होंने इसकी जानकारी परिवार को दी। घटना की खबर फैलते ही बड़ी संख्या में इलाके के लोग वहां पहुंच गए। एसडीएम राजित राम प्रजापति, सीओ रमाशंकर रावत, तहसीलदार सर्वेंद्र कृष्ण तिवारी, प्रभारी इंस्पेक्टर सुधाकर उपाध्याय ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। खोजी कुत्ता सोहनाग बाजार की तरफ गया और पुन: मंदिर की तरफ लौट आया। इस बाबत सीओ रमाशंकर रावत ने बताया कि केस दर्ज हो गया है। मामले की छानबीन की जा रही है।
70 के दशक में दो मूर्तियां चोरी हुईं थीं
सलेमपुर। सोहनाग धाम के टीले पर भगवान परशुराम की माता रेणुका और पिता जमदग्नि की मूर्तियां रखी गईं थीं। 70 के दशक में चोर दोनों मूर्तियाें को चुरा ले गए। आज तक उन मूर्तियों का पता नहीं चल सका है। वहीं भगवान परशुराम मंदिर से ब्रह्मा और श्रीकृष्ण की मूर्तियां वर्ष 1986 में चोरी चली गईं थीं। जिसमें श्रीकृष्ण की मूर्ति मईल थानाक्षेत्र के महुआबारी में घूरे से बरामद हुई थी। वहीं ब्रह्मा की मूर्ति चोरी होने के बाद मंदिर में वह स्थान आज भी खाली है।
लोगों में उबाल, सड़क पर उतरेंगे
सलेमपुर। भगवान परशुराम की मूर्ति चोरी होने की घटना से लोगों में उबाल आ गया है। क्षेत्र के लोगों ने प्रशासन को चेतावनी दी है कि यदि जल्द इसका खुलासा नहीं होता है तो जनता सड़क पर उतरने को विवश होगी। परशुराम धाम जनकल्याण समिति के सचिव एडवोकेट राम नारायण लाल, पूर्व प्रधान कामरेड सतीश, सतीश, मनोज मिश्र, चंद्रकांत शुक्ल, अखिलेश, गंगाधर शुक्ल समेत कई लोगों ने घटना के जल्द पर्दाफाश की मांग की है। वहीं दोपहर में भारी संख्या में जुटे आक्रोशित लोगों को तहसीलदार सर्वेंद्रकृष्ण तिवारी ने समझाकर शांत कराया।
550 ई. के बाद की हो सकतीं हैं मूर्तियां
काले रंग की पत्थर की मूर्तियां गुप्तोत्तर काल के बाद यानी 550 ईसवी के बाद की हो सकतीं हैं। यह देखना पड़ेगा कि यह किस शैली की हैं। पुरातात्विक अभिलेख में सोहनाग का उल्लेख है। जिसमें कहा गया है कि 580 से 600 ईसवी तक गया शाखा के मौखली वंश के राजा अवंति वर्मा ने यहां शासन किया। वर्मा साहित्य का संरक्षक एवं धर्मनिष्ठ था। वहीं जनश्रुतियों के अनुसार, यहां भगवान परशुराम ने तप किया था। जो क्षेत्रीय लोगों के आस्था एवं विश्वास के केंद्र भगवान परशुराम की तपोस्थली के रूप में विख्यात है।
डॉ. बीएन सिंह, विभागाध्यक्ष प्राचीन इतिहास, एसडी पीजी कॉलेज मठलार
पुरातत्व विभाग के निदेशक ने कभी किया था दौरा
सलेमपुर। एडवोकेट राम नारायण लाल ने बताया कि वर्ष 1992 में पुरातत्व विभाग के तत्कालीन निदेशक ने सोहनाग का दौरा किया था। उन्होंने बताया था कि यह मूर्तियां आठवीं से दसवीं सदी के मध्य की हैं। उन्होंने इन मूर्तियों की उपेक्षा पर हैरानी जताई थी। पर्यटनस्थल घोषित होने के बाद भी सरकार का ध्यान इस ओर आज तक नहीं गया। यदि सरकार ने इस ओर ध्यान दिया होता तो ऐतिहासिक धरोहर को बिखरने से बचाया जा सकता था। क्षेत्रीय लोगों ने सरकार से सोहनाग की ऐतिहासिकता को बरकरार रखने की मांग की है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में फिर शुरू हुई डीजीपी की रेस, ओपी सिंह को केंद्र ने नहीं किया रिलीव

उत्तर प्रदेश के नए डीजीपी के लिए अभी और इंतजार करना पड़ सकता है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: अलाव तापते वक्त हुआ विस्फोट, पुलिसकर्मी के खोए हाथ

देवरिया के जनपद रामपुर में अलाव तापते वक्त एक पुलिसकर्मी के साथ दर्दनाख हादसा हो गया। इस हादसे में पुलिसकर्मी के दोनों हाथ बुरी तरह झुलस गए।

14 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper