यूं ही नहीं मचा है गैस के लिए हाहाकार

Deoria Updated Sat, 29 Sep 2012 12:00 PM IST
देवरिया। आखिर घरेलू गैस के लिए क्यों न मचे हाहाकार। जब डिमांड से कम आपूर्ति ही हो रही है और कालाबाजारी करने वाले भी इस व्यवस्था पर हावी हैं। ऊपर से घरेलू गैस का खुलेआम व्यवसायिक उपयोग हो रहा है। प्रशासन की आंख के सामने होटल और वाहनों में घरेलू गैस का प्रयोग धड़ल्ले से हो रहा है।
1017 गांव, 32 लाख की आबादी, लगभग 50 हजार परिवार, 14 गैस एजेंसी, 165029 उपभोक्ता। गैस की आपूर्ति सिर्फ 59179 सिलेंडर। सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि घरेलू गैस के लिए हाहाकार क्यों मचा है। किल्लत से शहर से लेक र गांव तक के उपभोक्ता परेशान हैं। गैस के लिए कई-कई दिन लंबी लाइन लगानी पड़ रही है। फिर भी गैस मिलने की कोई गारंटी नहीं है। गैस किल्लत ने तो महिलाओं को भी चौखट से एजेंसी तक पहुंचा दिया है। पूरे जिले में विभिन्न कंपनियों की 14 गैस एजेंसियां है। इनसे कनेक्शनधारियों की संख्या 165029 है। इन उपभोक्ताओं को एक सितंबर से अब तक 59179 सिलेडरों की आपूर्ति हो सकी है। 105850 उपभोक्ताओं को गैस नहीं मिला है। नौकरीपेशा काम छोड़ दिन भर गैस के लिए हर जुगत अपना रहे हैं। जनप्रतिनिधियों और पहुंच वालों से भी सिफारिश करानी पड़ रही है। आम उपभोक्ताओं को तो गैस नहीं मिल पा रही है। लेकिन कालाबाजारी करने वालों को गैस मिल जा रही है।
सिर्फ पांच सौ व्यवसायिक कनेक्शन
देवरिया। एक तो आपूर्ति कम होने से उपभोक्ता वैसे ही परेशान हैं। ऊपर से घरेलू गैस का व्यवसायिक उपयोग इस परेशानी में दाद में खाज साबित हो रहा है। जिले में महज 500 व्यवसायिक कनेक्शनधारी हैं। उन्हें कालाबाजारी करने वालों से 14 किलो की घरेलू सिलेंडर महज पांच से साढ़े पांच सौ में मिल जा रही है। ऐसे में वे व्यवसायिक गैस पर दोगुना क्यों खर्च करें?
अधिकांश वाहन चलते हैं गैस से
देवरिया। स्टेशन रोड पर सवारी ढोने वाले अधिकांश वाहन घरेलू गैस से ही चलते हैं। इन वाहनों की जांच हो जाए तो काफी संख्या में सिलेंडर बरामद होंगे। यहीं शहर के ठेला, होटल और सरायों में भी घरेलू गैस की खपत हो रही है। प्रशासन सब कुछ देखकर भी तमाशबीन बना बैठा है।
उपभोक्ता बोले, प्रशासन जिम्मेदार है
देवरिया। गैस किल्लत से जूझ रहे उपभोक्ताओं ने जिला प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया है। उपभोक्ताओं का कहना है कि उन्हें बुकिंग, डिलिवरी के नाम पर परेशान किया जाता है। राघवनगर निवासी अंकिता पांडेय ने कहा कि कुछ तो ऊपर से किल्लत है और कुछ एजेंसी वाले जानबूझ कर अभाव पैदा करते हैं। हमारे हक का सिलेंडर कालाबाजारियों को बेचा जाता है। वहीं, उमानगर की पुष्पलता शाही ने कहा कि मुसीबत तो पहले से झेलनी पड़ती थी अब कोटा निर्धारित होने से एजेंसी वाले और आंख तरेरेंगे। राघनगर पूर्वी की गृहणी ऊषा देवी ने कहा कि सरकार गैस का कोटा निर्धारित कर उपभोक्ताओं को आफत में डाल दिया है। इसका बेजा लाभ एजेंसी वाले उठाएंगे। मजबूर उपभोक्ता महंगे दाम पर गैस खरीदेंगे। राघवनगर दक्षिणी की कृष्णा ने कहा कि अगर प्रशासन सख्ती करे तो निश्चित तौर पर उपभोक्ताओं को समय से गैस मिलेगी। लेकिन एजेंसियों की इस मनमानी में जिला प्रशासन भी सहयोग करता है।
ट्रक से ही उतार लेते हैं गैस
देवरिया। कालाबाजारी करने वालों की पहुंच गैस गोदामों तक ही नहीं एजेंसी के ट्रक चालकों तक है। सेटिंग से वह रास्ते में ट्रक से ही सिलेंडर ले लेते हैं। देवरिया ओवरव्रिज से बैतालपुर तक आधा दर्जन जगहों पर बेधड़क सिलेंडर उतारी जाती है। ट्रक चालकों को 100 से 50 रुपये तक प्रति सिलेंडर अधिक मिलता है।
किस एजेंसी के कितने उपभोक्ता और कितनी आपूर्ति हुई
गैस एजेंसी उपभोक्ता आपूर्ति
आशा गैस सर्विस 24468 8712
विजयश्री इंडेन गैस सर्विस 4601 1788
गणेश गैस सर्विस लार 18905 9799
बरहज गैस सर्विस 21917 8775
सुमित्रा गैस सर्विस भटनी 14188 6223
सुमित्रा गैस रुद्रपुर संबद्ध 16663 2982
रमावती इंडेन बघौचघाट 1126 612
देवरिया गैर सर्विस 32395 12010
शोभा गैस सर्विस 7645 1780
सुमित्रा गैस मझौलीराज 7015 1971
रमेश भारत गैस भाटपार 11070 3320
सिदेश भारत गैस रनिहवा 638 206
सेठ इंद्रजीत ग्रामीण गैस बरहज 898 300
इंडेन गैस पुलिस लाइंस 3500 700
कंपनियों को मांग के सापेक्ष के डिलेवरी बढ़ाने के लिए लगातार पत्र लिखा जा रहा है। इस महीने कुछ आपूर्ति भी बढ़ी है। कंपनियों के अफसरों से फोन से भी संपर्क जारी है।
--- देवेन्द्र प्रताप सिंह, जिला पूर्ति अधिकारी।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

फुल ड्रेस रिहर्सल आज, यातायात में होगी दिक्कत, कई जगह मिल सकता है जाम

सुबह 10:30 से दोपहर 12 बजे तक ट्रेनों का संचालन नहीं किया जाएगा। कई ट्रेनें मार्ग में रोककर चलाई जाएंगी तो कई आंशिक रूप से निरस्त रहेंगी।

23 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: अलाव तापते वक्त हुआ विस्फोट, पुलिसकर्मी के खोए हाथ

देवरिया के जनपद रामपुर में अलाव तापते वक्त एक पुलिसकर्मी के साथ दर्दनाख हादसा हो गया। इस हादसे में पुलिसकर्मी के दोनों हाथ बुरी तरह झुलस गए।

14 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper