सर्जन की लापरवाही से मौत

Deoria Updated Thu, 20 Sep 2012 12:00 PM IST
सलेमपुर। एक प्राइवेट नर्सिंग होम में मंगलवार की रात सरकारी अस्पताल के सर्जन की लापरवाही से एक विवाहिता की जान चली गई। आरोप है कि आपरेशन के करीब बारह घंटे बाद महिला की हालत बिगड़ने पर तीमारदार सर्जन के आवास पर पहुंचकर देखने के लिए गिड़गिड़ाते रहे लेकिन सर्जन उसे देखने नहीं गए। नतीजतन महिला की मौत हो गई। घटना से नाराज घरवालों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया। मामला बढ़ता देख अस्पताल के कर्मचारी भी वहां से भाग निकले। पुलिस के पहुंचने पर लोग शांत हुए। डाक्टर के मुताबिक महिला की मौत मिर्गी से हुई है।
भटनी थाना क्षेत्र के ग्राम कुकुरघांटी निवासी इसरावती पत्नी श्यामलाल की बच्चेदानी में तकलीफ थी। मंगलवार को उसने सीएचसी के सर्जन डा. चौधरी राकेश को दिखाया। सर्जन ने आपरेशन की सलाह दी और नगर के एक निजी हास्पिटल में सुबह करीब 10.30 बजे बच्चेदानी का आपरेशन कर दिया। रात करीब 9.30 बजे महिला की हालत बिगड़ गई। परिजनों ने कंपाउंडर को बताया और डाक्टर साहब को बुलाने को कहा। कंपाउंडर एवं पीड़ित परिवार सीएचसी परिसर में बने सर्जन डा. राकेश चौधरी के आवास पर पहुंचे और डाक्टर से चलकर महिला को देखने को कहा। परंतु डाक्टर महिला को देखने नहीं पहुंचे। रात करीब 11 बजे महिला ने दम तोड़ दिया। महिला की मौत होते ही घरवाले हंगामा करने लगे। बात बढ़ती देख कंपाउंडर एवं अन्य कर्मचारी नर्सिंग होम छोड़कर भाग खड़े हुए।
मिर्गी से हुई महिला की मौत-डाॅ. चौधरी
सीएचसी के सर्जन डा. चौधरी राकेश ने बताया कि मैंने आपरेशन किया था। मिर्गी (झटके) के चलते महिला की मौत हुई है। आपरेशन में कोई लापरवाही नहीं की गई है।

डाॅक्टर के खिलाफ करंेगे कार्रवाई
कोतवाली क्षेत्र के मझवलिया निवासी मृतका के भाई जितेंद्र ने कहा कि सीएचसी के सर्जन डा. चौधरी राकेश की लापरवाही से उसकी बहन की जान गई। कोतवाली पुलिस ने शव का अंतिम संस्कार कर थाने पर आने को कहा है। उसके जीजा दुबई में हैं। वह फ्लाइट से बृहस्पतिवार की सुबह आ जाएंगे। उनके आने पर चिकित्सक के खिलाफ कानूनी कार्यवाई की जाएगी।
सीएम के समक्ष उठाऊंगा मामला-मोहम्मद
पूर्व सांसद आस मोहम्मद ने बुधवार को प्रेसवार्ता में कहा कि सीएचसी के सर्जन डा. राकेश चौधरी सीएचसी के अलावा कई जगह आपरेशन करते हैं। जिस जगह महिला का आपरेशन किया गया, वहां कोई सुविधा नहीं है। अब तक कई मरीज मर चुके हैं। सरकारी डाक्टर का प्राइवेट प्रैक्टिस करना नियम विरुद्ध है। निजी अस्पतालों में आपरेशन से हुई मौतों का मामला सोमवार को मुख्यमंत्री के समक्ष उठाऊंगा। उन्होंने सीएमओ, एसपी, कमिश्नर से भी मामले की शिकायत की।
जांच को भेजी है टीम ः सीएमओ
इस संबंध में सीएमओ डा. आरएन तिवारी ने बताया कि मामला संज्ञान में है। डिप्टी सीएमओ और एडिशनल सीएमओ को सूचना भेजी गई है। वह लोग जांच के लिए मौके पर गए हैं। उनकी रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। पीड़ित पक्ष के लोग चाहें तो पोस्टमार्टम कराकर एफआईआर करा सकते हैं। कार्रवाई की जाएगी।
मौके पर एडिशनल सीएमओ डा. एसएन सिंह और मैं गए थे। डा. चौधरी राकेश के निजी नर्सिंग होम में आपरेशन करने एवं महिला के मौत की घटना सही है। नर्सिंग होम एवं डाक्टर की विधिवत जांच की जाएगी। जांच के बाद दोषी डाक्टर के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
डाॅ. एके सिंह, डिप्टी सीएमओ

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी एसटीएफ ने मार गिराया एक लाख का इनामी बदमाश, दस मामलों में था वांछित

यूपी एसटीएफ ने दस मामलों में वांछित बग्गा सिंह को नेपाल बॉर्डर के करीब मार गिराया। उस पर एक लाख का इनाम घोषित ‌किया गया था।

17 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: अलाव तापते वक्त हुआ विस्फोट, पुलिसकर्मी के खोए हाथ

देवरिया के जनपद रामपुर में अलाव तापते वक्त एक पुलिसकर्मी के साथ दर्दनाख हादसा हो गया। इस हादसे में पुलिसकर्मी के दोनों हाथ बुरी तरह झुलस गए।

14 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper