प्रमाण पत्र बनवाने में बिचौलिए हावी

Deoria Updated Fri, 07 Sep 2012 12:00 PM IST
देवरिया। लक्ष्मीपुर निवासी विन्ध्यवासिनी शर्मा आय प्रमाण पत्र बनवाने के लिए गुरुवार को सदर तहसील में भटक रहा था। उसे छात्रवृत्ति के लिए एक सप्ताह के अंदर प्रमाण पत्र देना है।
किसी ने इसकी सही जानकारी नहीं दी। उसने वहीं टहल रहे एक वकील से बात की। वकील ने प्रमाण पत्र बनवाने के नाम पद दो सौ रुपया लिया और चार दिन में प्रमाण पत्र उपलब्ध कराने को उसे आश्वस्त कर वापस कर दिया। विन्ध्यवासिनी की तरह आपको भी यदि आय, जाति और निवास प्रमाण पत्र बनवाने के लिए सदर तहसील जा रहे हैं और आपको तत्काल प्रमाण पत्र चाहिए तो वहां घूम रहे बिचौलियों से मिलिए। सरकारी फीस 20 रुपये की जगह उसे 200 रुपये दें आपको चार दिन में प्रमाण पत्र मिल जाएंगे। ऐसा न करने पर आपको प्रमाण पत्र के लिए एक से दो माह तक इंतजार करना पड़ेगा। उसमें भी प्रमाण पत्र आपके हाथ में मिलने की कोई गारंटी नहीं है। इस समय आय, जाति और निवास प्रमाण पत्र की सबसे अधिक आवश्यकता उच्च शिक्षा में प्रवेश, छात्रवृत्ति, कन्या विद्या धन और बेरोजगारी भत्ता के लिए पड़ रही है। विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों और तकनीकी कालेजों में प्रवेश की तिथि सिर पर हैं। तहसील में जिस संस्था के जरिए प्रमाण पत्र बन रहा है वह 20 दिन में देने की बात है। स्थिति यह है कि अभी 35 हजार प्रमाण पत्र तैयार ही नहीं हुए हैं। यह आवेदन दो माह से जमा हुए हैं। वैसे तो कई आवेदक ऐसे हैं जो रसीद लेकर भटक रहे हैं और तीन माह बाद भी उन्हें प्रमाण पत्र नहीं मिल सका है।
बिचौलियों के चक्कर में न पड़ना मंहगा पड़ा
पथरदेवा क्षेत्र के धनन्जय शर्मा 31 जुलाई से आय, जाति और निवास प्रमाण पत्र के लिए भटक रहे हैं। लखनऊ विवि में बीएससी में प्रवेश के लेना हैं। 10 सितंबर तक उन्हें प्रमाण पत्र नहीं मिला तो उनका प्रवेश होना संभव नहीं है। बतौर धनन्जय कहते हैं कि हमारे ही साथ दस लोग आवेदन जमा किए जिनका प्रमाण पत्र मिल गया।
शिकायत भी कोई नहीं सुनता
बीआरडी डिग्री कालेज में एडमिशन के लिए परेशान धर्मेंद्र यादव और सोनबरसा के सौम्या मणि ने कहा कि वह क्रमश: 24 जुलाई और 13 अगस्त को आवेदन किया है। नियमानुसार रसीद तो जमा किया लेकिन आय प्रमाण पत्र कहां गया इसको कोई भी बताने वाला नहीं है। शिकायत करने के लिए आते हैं तो शिकायत भी कोई सुनने वाला नहीं है। ऐसे में समय से प्रमाण पत्र नहीं मिला तो उनकी छात्रवृत्ति नहीं मिल पाएगी।
अब नहीं हो पाएगा एडमिशन
मुंडेरा निवासी सद्दाम अंसारी कहते हैं कि वह छह अगस्त को आय, जाति और निवास के लिए रसीद कटवाए। गोरखपुर विश्वविद्यालय में बीएससी कृषि में एडमिशन कराना है। दो दिन में प्रमाण पत्र नहीं मिला तो मेरा एडमिशन नहीं हो पाएगा। तहसील का चक्कर लगाते थक चुका हूं। अब किसी को पकडूृंगा ताकि जल्द प्रमाण पत्र बन जाए।
जून का जमा रसीद नहीं मिला प्रमाण पत्र
कुसहरी से आयी दीपा मद्देशिया कहती हैं कि जून माह में ही वह आय, जाति और निवास प्रमाण पत्र के लिए सभी औपचारिकताएं पूर्ण कर जमा की थीं। एक सप्ताह पूर्व आय प्रमाण पत्र मिल गया लेकिन अभी तक उसे निवास और आय प्रमाण पत्र नहीं मिला। हर रोज तहसील आती हूं लेकिन प्रमाण पत्र कहां गया और कब मिलेगा कोई बताने वाला तक नहीं है।
बिचौलियों को रोकने के लिए ही कम्प्यूटर प्रणाली लागू की गई है। फिर भी यदि इस प्रकार की कोई शिकायत मिलती है तो उसकी जांच करायेंगे और ऐसे लोगों के विरूद्ध कार्रवाई होगी। एक लाख से नीचे सिरियल नम्बर का प्रमाण पत्र देने के बाद ही अगला प्रमाण पत्र दिया जायेगा। इसके लिए कम्प्यूटर आपरेटरों को सख्त निर्देश जारी कर दिया गया है। प्रमोद कुमार, तहसीलदार सदर

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

16 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: अलाव तापते वक्त हुआ विस्फोट, पुलिसकर्मी के खोए हाथ

देवरिया के जनपद रामपुर में अलाव तापते वक्त एक पुलिसकर्मी के साथ दर्दनाख हादसा हो गया। इस हादसे में पुलिसकर्मी के दोनों हाथ बुरी तरह झुलस गए।

14 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper