युवक का शव रख लगाया जाम

Deoria Updated Thu, 02 Aug 2012 12:00 PM IST
रुद्रपुर। बुधवार को क्षेत्र के लुअठही चौराहे पर गुस्साए ग्रामीणों ने पुलिस के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया। आरोप है कि पुलिस ने मारपीट में घायल एक फरियादी की पिटाई की। इससे उसकी स्थिति और गंभीर हो गई। मंगलवार की रात युवक की मौत हो गई। नाराज लोगों ने रुद्रपुर-गोरखपुर मार्ग पर युवक का शव रख पांच घंटे तक आवागमन ठप रखा। इस दौरान कई बार पुलिस और ग्रामीणों में हल्की हाथापाई भी हुई। अंतत: आरोपित चौकी इंचार्ज को लाइन हाजिर किया गया है।
आठ दिन पहले मारपीट में घायल एक युवक के मरने के बाद लोग एकाएक पुलिस के खिलाफ सड़क पर उतर गए। लोग सुबह दस बजे युवक का शव लेकर लुअठही चौराहे पर पहुंचे और रास्ता बंद कर दिया। जाम की सूचना पर पहुंची पुलिस के ऊपर महिलाएं बांस लेकर टूट पड़ीं। नतीजतन प्रशासन को पांच थानों की फोर्स और पीएसी बुलानी पड़ी। मामले को शांत करने के लिए प्रभारी पुलिस अधीक्षक दिनेश पाल सिंह ने रामलक्षन के चौकी इंचार्ज को लाइन हाजिर किया गया है। बता दें कि लक्ष्मीपुर गांव के रहने वाले मोहन पुत्र सीता चौहान उम्र (32) वर्ष का नाली पर मिट्टी रखने के विवाद में उसके बगलगीर से मारपीट हो गई। इसमें मोहन को आंत में गंभीर चोट लगी। वह चौकी पर मुकदमा दर्ज कराने पहुंचा तो पुलिस उल्टे उसे ही पीटने लगी। पिटाई से उसकी स्थिति और बिगड़ गई। युवक का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा था। वहां से गंभीर हालत में उसे मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया। गोरखपुर मेडिकल कालेज में इलाज के दौरान मंगलवार की रात उसकी मौत हो गई। बुधवार को उसका शव आते ही ग्रामीण पुलिस पर आग बबूला होकर सड़क पर निकल पड़े। ग्रामीणों का गुस्सा देख पुलिस दहशत में आ गई। बांस बल्ली और ईंट पत्थर से लैस ग्रामीण हमलावर मुद्रा में दिखे। एसडीएम रामानुज सिंह और सीओ एनके सिंह ने दोषी पुलिस अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई कराकर लोगों को शांत किया।

पुलिस वाले खुद ही भ्रष्ट हैं...
रुद्रपुर/रामलक्षन। सरकार और पुलिस के आलाधिकारी पुलिस की छवि सुधारने की चाहे लाख कोशिश कर ले थानों की पुलिस ने तो कभी नहीं सुधरने की कसम खा ली है। बुधवार को पुलिस के खिलाफ महिलाओं का जो गुस्सा था वह केवल एक युवक की मौत को लेकर नहीं था। महिलाएं रोज के पुलिसिया उत्पीड़न को लेकर खाकी को नोच देना चाहती थी। हाथ में बांस बल्ली लेकर किसी भी खाकी वर्दी वालों पर तान रही महिलाओं को बस चला होता तो कई पुलिस वालों का सिर फोड़ दीं होती।
प्रदर्शन के दौरान महिलाओं ने पुलिस कर्मियों पर कई गंभीर आरोप लगाएं। उन्होंने बीट सिपाही पर गांव में कच्ची शराब बेचवाने और महिलाओं पर बुरी नजर डालने तक की बात कह डाली। लुअठही चौराहे पर जुटी भीड़ किसी नेता की ओर से ट्राली ट्रैक्टर से जुटाई नहीं गई बल्कि पुलिस का जुर्म सहते सहते आजिज लोग हर काम छोड़ कर उन्हें उनकी औकात बताने सड़क पर उतर गए। प्रदर्शन के दौरान चौराहे चीख-चीखकर पुलिस की करतूत कह रही लुअठही की बेला देवी ने कहा कि ये वर्दी वाले गुंडों से भी खतरनाक हैं। गांव में इन्हें देखकर महिलाएं घर में दुबक जाती हैं। किसी महिला को देखा तो छींटाकशी से बाज नहीं आते। गुचान देवी ने कहा कि हमारे गांव में पुलिस वाले बैठ कर कच्ची शराब बेचवाते हैं। गांव के माहौल को विषाक्त करने में इन्हीं का हाथ है। गीता देवी ने कहा कि इनकों तो फांसी पर लटका देना चाहिए। फरियाद लेकर थाने पर पहुंचने पर पहले उल्टे गालियों से बात करते फिर पैसे की मांग करते। छोहाड़ी देवी ने कहा कि पुलिस वाले गांव में महिलाओं पर बुरी निगाह डालते हैं। इस बाबत मौजूद पुलिस अधिकारियों ने कहा कि ऐसी हरकत करने वाले पुलिस कर्मियों के खिलाफ जांच कर कार्रवाई होगी।

Spotlight

Most Read

National

पाकिस्तान की तबाही के दो वीडियो जारी, तेल डिपो समेत हथियार भंडार नेस्तनाबूद

सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है। भारत के जवाबी हमले में पाकिस्तान की कई फायरिंग पोजिशन, आयुध भंडार और फ्यूल डिपो को बीएसएफ ने उड़ा दिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: अलाव तापते वक्त हुआ विस्फोट, पुलिसकर्मी के खोए हाथ

देवरिया के जनपद रामपुर में अलाव तापते वक्त एक पुलिसकर्मी के साथ दर्दनाख हादसा हो गया। इस हादसे में पुलिसकर्मी के दोनों हाथ बुरी तरह झुलस गए।

14 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper