बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

आंधी पानी में घायल चार और ने तोड़ा दम

Deoria Updated Sun, 03 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
सलेमपुर/भिंगारी बाजार। आंधी पानी ने शुक्रवार की शाम तबाही मचा दी। इस दौरान घायल चार और लोगों ने देर रात और शनिवार की सुबह दम तोड़ दिया। सलेमपुर और भाटपाररानी तहसील क्षेत्र में मृतकों की संख्या अब पांच हो गई है। आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हैं।
विज्ञापन

भटनी थाना क्षेत्र के भटनी खास गांव में शुक्रवार की शाम आंधी तूफान में पेड़ गिरने से गया राजभर 60 पुत्र रमेसर की मौत हो गई जबकि ददनी देवी 45 पत्नी गोवर्द्धन राजभर के दोनों पैर टूट गये। वहीं मायके आई गर्भवती महिला सुमित्रा देवी 30 पत्नी रामकेवल घायल हो गई। सलेमपुर कोतवाली क्षेत्र के मटियरा निवासी नीलम 18 पुत्री अमरनाथ, परान छपरा के अर्जुन यादव के ऊपर पेड़ गिरने से घायल हो गये। भरथुआ प्रतिनिधि के अनुसार सलेमपुर क्षेत्र के कंहरिया निवासी एनुल हक पुत्र माजिद, गुडडू शर्मा 30, मजुरी निवासी मोहन 14 पुत्र भुअर आंधी में घायल हो गये। इसके पूर्व भटनी के सिगहीडीह गांव में द्रोपदी देवी की मौत हो चुकी है। मईल थाना क्षेत्र के बलिया दक्षिण निवासी बाबूलाल 55 पुत्र रघुनाथ की आंधी के दौरान छत से गिरने से मौत हो गई। इसी थाना क्षेत्र के बिसौली माफी परमेश्वरी देवी पत्नी पहलवान घायल हो गई। देर रात उसने भी दम तोड़ दिया। भिंगारी बाजार प्रतिनिधि के अनुसार खामपार थाना क्षेत्र के सरया गांव के मठिया टोला निवासी जटाशंकर शाह 55 पुत्र भुवनेश्वर शाह आंधी पानी के दौरान गंभीर रूप से घायल हो गया। घायलावस्था में उसे जिला अस्पताल लेकर परिजन जा रहे थे कि रास्ते में उसकी मौत हो गई। मझौलीराज प्रतिनिधि के अनुसार नगर के वार्ड नं. 12 निवासी राजेश पुत्र विंध्याचल की छत पर पेड़ गिरने से पूरा मकान क्षतिग्रस्त हो गया। वार्ड नंबर 11 के देवेंद्र की भैंस के ऊपर पेड़ गिर जाने से वह घायल हो गई। वहीं ओमप्रकाश का बछड़ा एवं बकरी भी पेड़ गिरने से घायल हो गये। गोवर्धन की झोपड़ी पर भी पेड़ गिर गया। प्रतापुर प्रतिनिधि के अनुसार शुक्रवार की शाम आई आंधी में बनकटा थाना क्षेत्र के ग्राम जगदीशपुर में झोपड़ी गिरने से रामकली देवी 50 पत्नी नथुनी धोबी घायल हो गई। उसके पैर में चोट आई है। इसी थाना क्षेत्र के रामपुर में द्वारिका राजभर की भी झोपड़ी गिर गई। जिसमें अकलू राजभर दब गया। उसके सिर में चोट आई है।


800 बिजली पोल टूटे रेल पोल भी झुके
सलेमपुर/भटनी/भाटपाररानी। आंधी तूफान ने बिजली व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त कर दी। सलेमपुर, भाटपाररानी एवं आंशिक बरहज क्षेत्र में करीब 800 सीमेंट के पोल टूट गए। वहीं बवंडर से लोहे के रेल पोल भी टेढ़े हो गए और सैकड़ों पेड़ जमीन से उखड़ गए। इसके अलावा दर्जनों जगहों पर बिजली के तार टूट गए हैं। कई दर्जन कच्चे पक्के मकानों के भी क्षतिग्रस्त होने की सूचना है।
आंधी तूफान ने सर्वाधिक बिजली व्यवस्था को चोट पहुंचाई। भटनी सब स्टेशन से लेकर सकरापार, बभनौली कला, नोनापार समेत करीब पांच किलोमीटर तक दर्जनों बिजली पोल ध्वस्त मिले। इसके अलावा सकरापार से बभनौली कला गांव के बीच दर्जनों रेल पोल झुक गए। तार टूटकर सड़क पर गिरे थे। यही हाल सब स्टेशन के बैकुंठपुर फीडर से जुडे़ गांवों का था। भारी संख्या में पोल, क्रास आर्म, डबल पोल आदि टूटे थे। भटनी नगर के केवड़ा में रेल पोल टूटा पड़ा था। केवड़ा, हतवा नकहनी वार्ड एवं जेडी पब्लिक स्कूल बाईपास रोड पर कई हरे पेड़ उखड़ गए। सकरापार गांव के काली मंदिर पर नीम का विशाल पेड़ गिरने से मंदिर ढह गया। सलेमपुर क्षेत्र एवं लार में भी भारी संख्या में पोल ध्वस्त हो गये। पीएचसी विशुनपुरा की बाउंड्रीवाल गिर गई। लार में ट्रांसफार्मर पोल टूटने से नीचे आ गिरा। भरथुआ प्रतिनिधि के अनुसार भरथुआ-भटनी मार्ग पर भारी पेड़ आंधी पानी के दौरान गिर गया। वह शनिवार की सुबह तक पड़ा था। प्राथमिक विद्यालय मुजुरी पर जंगली पेड़ ढहा था। इसके अलावा पुरैनी, पुरैना, भरथुआ, धोबी समेत कई गांवों में पेड़ों की शाखाएं टूटने एवं ढहने की सूचना है। भाटपाररानी प्रतिनिधि के अनुसार आंधी पानी में दर्जनों गांवों में बाग बगीचे तहत नहस हो गये। सैकड़ों बिजली पोल टूटकर गिर गए। इसके चलते नगर एवं देहात की आपूर्ति ठप हो गई। धरमखोर दूबे, खामपार के छोड़का गांव, टीकमपार आदि में पेड़ गिरने से बिजली तार और पोल उखड़ गये। महुआबारी में सड़क पर पेड़ गिर जाने से रातभर रास्ता बंद रहा। नगर में अनेक दुकानों के कटरैन उड़ गये। अधीक्षण अभियंता देवरिया ने बताया कि पहले नगर पंचायतों की आपूर्ति बहाल करने की कोशिश की जा रही है। इसके बाद गांवों की आपूर्ति बहाल की जाएगी। वहीं एसडीओ सलेमपुर ने बताया कि 800 से अधिक पोल टूटे हैं।

32 अग्निपीड़ितों में बांटी गई सहायता राशि
भाटपाररानी। खामपार थाना क्षेत्र के ग्राम खैराट के 32 अग्नि पीड़ितों में कबीना मंत्री कामेश्वर उपाध्याय ने एक लाख 66 हजार 400 रुपये वितरित किए। शनिवार की सुबह गांव पहुंचे मंत्री ने पीड़ितों का हाल जाना। उन्होंने तहसील प्रशासन को गांव में कैंप लगाकर तत्काल सूची बनाने तथा अनुग्रह राशि वितरित करने का आदेश दिया। वह करीब तीन घंटे तक गांव में रुके और चेक बनने के बाद स्वयं पीड़ितों को सौंपा। बतादें कि शुक्रवार की शाम आंधी के दौरान घटना हुई थी।
पीड़ित 32 परिवारों में 52 सौ रुपये प्रति परिवार की दर से कुल एक लाख 66 हजार 400 रुपये वितरित किए। इसमें गृह अनुदान के लिए 2500 और अहेतुक सहायता 2700 रुपये शामिल है। अग्निपीड़ित परिवारों में इंद्रासन, जानकी, चिंता, हरिनाथ, गोपाल, अंकित, चंद्रदेव, रामायन गौड़, इनरमल, हरिंद्र, राजपति, चंद्रेश, पूजन, नंदलाल, विनय, श्रीलाल, रामरति देवी, बेचू, बिंदा, हीरा, फागू, हरिकिशुन, दीना, इसरावती, वासदेव, शीतल, रामप्यारे, श्रीगणेश, रामनारायण, विनय, उमेश और दुलारे देवी शामिल है। मंत्री ने आग के दौरान बुरी तरह झुलसे चंद्रदेव चौबे को अस्पताल भिजवाया। इस अग्निकांड में चंद्रदेव चौबे की एक गाय तथा सामरथी देवी श्रीलाल एवं बिंदा देवी की एक एक बकरी भी जल गई। अनुग्रह राशि वितरण के दौरान तहसीलदार, हल्का लेखपाल, कानूनगो आदि मौजूद रहे।
परिजनों को डेढ़ लाख की मदद
रुद्रपुर। शुक्रवार की शाम आंधी में बरडीहादल गांव में दरवाजे के सामने खड़ी एक युवती पर पेड़ गिर गया। इलाज के दौरान उसने रात करीब दस बजे जिला अस्पताल में दम तोड़ दिया। शनिवार को तहसील प्रशासन ने मृतका के पिता को डेढ़ लाख रुपये का चेक बतौर सहायता राशि प्रदान किया। क्षेत्र के बरडीहा दल गांव निवासी मुहम्मद सम्मल की बेटी अलीमुन उम्र करीब 18 वर्ष दरवाजे पर पेड़ के नीचे खड़ी थी।
करीब 5:30 बजे आई आंधी के दौरान उसके ऊपर आम का पेड़ गिर गया। सिर पर पेड़ गिर जाने से उसके सिर से तेज खून बहने लगा। वह गंभीर रूप से घायल हो गई। शनिवार की सुबह तहसील प्रशासन ने उसके घर पहुंच परिवार की दयनीय हालत का जायजा लिया। नायब तहसीलदार धर्मेंद्र सिंह ने अनुग्रह मद से मृतका के पिता सम्मल को डेढ़ लाख का चेक प्रदान किया।
डेढ़-डेढ़ लाख का चेक वितरित
सलेमपुर। शुक्रवार की सांय आई आंधी से दो मासूमों की मौत हो जाने पर एसडीएम ने दोनों के परिजनों को डेढ़-डेढ़ लाख रुपये का चेक आपदा राहत के तहत दिया। एसडीएम त्रिभुअन विश्वकर्मा ने बताया कि आपदा राहत के तहत नगर के पुराना बरहज वार्ड निवासी विशाल 10 पुत्र सुरेंद्र तिवारी और महुंई संग्राम निवासी अभिषेक उर्फ भुअर को राहत चेक दिया गया। विशाल और रौनक दोनों बालक मकान के दक्षिण खेल रहे थे। इसी बीच आई आंधी से दूसरी मंजिल के छत की रेलिंग मासूमों के ऊपर गिर जाने से विशाल ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। दूसरी घटना तहसील क्षेत्र के ग्राम महुंई संग्राम में हुई जहां आंधी से कटरैन गिरने से सात वर्षीय अभिषेक की मौत हो गई।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us