गांव का रास्ता पूछने के बहाने ले गए थे असलहाधारी

अमर उजाला ब्यूरो, चित्रकूट Updated Fri, 13 Jan 2017 11:37 PM IST
The village was taken on the pretext of asking the way Aslhadhari
अपहृत पूर्व प्रधान के गांव में ग्रामीणों से पूछतांछ करते एसपी डीपी सिंह। - फोटो : अमर उजाला
डाकू गैंग द्वारा अपहृत पूर्व प्रधान से पुलिस ने शुक्रवार की सुबह थाने में पूछताछ की। उसने बताया कि गांव का रास्ता पूछने के बहाने असलहाधारी जंगल की ओर ले गए थे। वहीं पुलिस ने दावा किया है कि रात को कांबिंग के दौरान पुलिस के जंगल पहुंचते ही अज्ञात गैंग अपहृत को छोड़कर भाग निकला। अपहृत को सकुशल घर पहुंचाया गया है।
     गौरतलब है कि रैपुरा थाना क्षेत्र के चरदहा गांव के पूर्व प्रधान सुखलाल को पुरवा से दो दिन पूर्व रात को अज्ञात बदमाश अपहरण कर ले गए थे। पूर्व प्रधान के लड़के शिवकुमार  ने थाने में अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। गुरुवार की रात को ही पुलिस अधीक्षक डीपी सिंह व थानाध्यक्ष मनोज शुक्ला ने गांव में जाकर ग्रामीणों व उनके परिजनोें से पूछतांछ कर कांबिंग की थी। देर रात को ही पुलिस को देखकर डाकू गैंग अपहृत को छोड़ भाग निकले।


शुक्रवार को एसपी फिर गांव पहुंचे और भागे डकैतों की तलाश में कांबिंग की। इस बीच अपहृत पूर्व प्रधान ने बताया कि जब वह पुरवा गए तो दो असलहाधारी भौंरी गांव का रास्ता पूछने आए और फिर कुछ दूर तक चलने को कहा। थोड़ी दूर जाने के बाद मौजूद अन्य चार लोग मिले और उसे भी अपने साथ जंगल की ओर ले गए। किसी फिरौती मांगने व दुश्मनी की बात नहीं बताई। पुलिस ने अपहृत से पूछताछ के बाद उन्हें गांव में छोड़ दिया है।

Spotlight

Most Read

National

शादी के उपहार में आई शुभकामना ने बनाया दुल्हन को विधवा

ओडिशा के बोलांगिर जिले के पटनागढ़ में शादी की खुशी में अचानक मातम पसर गया यहां रिसेप्शन समारोह में किसी ने गिफ्ट पैक में विस्फोटक भेज दिया।

24 फरवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen