भागवत में सभी विद्याएं निहित- रामभद्राचार्य

Chitrakoot Updated Sun, 19 Aug 2012 12:00 PM IST
चित्रकूट। तुलसी पीठाधीश्वर जगद्गुरु रामभद्राचार्य ने कहा कि श्रीमद्भागवत कथा में दुनिया की सभी विद्याएं निहित हैं। विश्वविद्यालय तो केवल विद्या देते हैं पर विद्याओं की कलाएं तो श्रीमद्भागवत के एक-एक शब्द में हैं। यह प्रवचन जगद्गुरु रामभद्राचार्य ने तुलसीपीठ चित्रकूट में श्रीमद्भागवत कथा के पहले दिन दिए।
उन्होंने उन्हें भाग्यशाली बताया जो कथा सुनने आए हैं। उन्होंने कहा कि कथा सदैव योग्य और जानकार विद्वान से ही सुननी चाहिए। उन्होंने आज के समाज की विडंबना को भी कथा के बीच में स्पष्ट किया। कहा कि सुरसा केवल हनुमान को खाना चाहती थी। आज का मानव पूरे समाज को खाना चाहता है। सलाह दी कि चलते बैठते, सोते जागते मिलते जुलते सदैव भगवान का स्मरण करते रहना चाहिए। भगवान राम और भगवान श्रीकृष्ण का नाम लेकर जो जीता है उस पर कभी विपत्ति नहीं आ सकती। भगवान प्रसन्न होकर गले भी लगा लें तब भी श्रीमद्भागवत की कथा नहीं छोड़नी चाहिए। पुरुषोत्तम मास में जो भी चित्रकूट में श्रीमद्भागवत कथा सुनेगा उसे करोड़ों कथाओं से अधिक फल प्राप्त होगा, ऐसा शास्त्रों में भी उल्लेख है। कथा 24 अगस्त तक अपराह्न तीन से साढ़े छह बजे तक होगी, संस्कार चैनल में भी इसका प्रसारण किया जा रहा है।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018