एक-दो मीटर खोद बना दिए कूप

Chitrakoot Updated Sun, 15 Jul 2012 12:00 PM IST
ब्लास्ट कूप निर्माण योजना का पुरसाहाल नहीं, ग्रामीण परेशान
मऊ (चित्रकूट)। बुंदेलखंड पैकेज के तहत ब्लास्ट कूप निर्माण योजना का भी कोई पुरसाहाल नहीं। विभिन्न गांवों में हाल बेहाल हैं तो मऊ विकास खंड के गांव खोहर गांव की तस्वीर भी इससे जुदा नहीं, जहां एक सैकड़ा से अधिक कुएं बनने हैं और जो बने हैं उनमें से ज्यादातर में खानापूरी की गई है।
पाठा के 17 ग्राम सभाओं में केंद्र सरकार के बुंदेलखंड पैकेज के तहत ब्लास्ट कूप निर्माण योजना से लगभग एक हजार कूपों का निर्माण किया जाना है। किसान के खेत में मिट्टी हटाकर या जरूरत पड़ने पर ब्लास्ट कराकर इन कुओं का निर्माण कराने के पीछे सरकार की मंशा यह है कि खेत को जरूरत के हिसाब से पानी वहीं से मुहैया कराया जा सके। यह काम मनरेगा के तहत होना है। मिट्टी के काम पर भुगतान ब्लाक से और ब्लास्टिंग पर भुगतान लघु सिंचाई विभाग करता है। खोहर के लगभग सात मजरों में भी सौ से ज्यादा कुएं बनने हैं। ग्रामीणों का कहना है तीन साल से काम हो रहा है और बमुश्किल पंद्रह कुएं ही बनकर तैयार हैं, जिनमें से कुछ मानक पर खरे भी नहीं उतरे। गांव की राजकुमारी पत्नी बचऊ निवासी खटेहा ने बताया कि उसकी गांव में पट्टे की जमीन है, जिस पर बमुश्किल एक मीटर खोदकर कुएं की शक्ल दी गई है। उसका कहना है कि अब कार्यदायी संस्था के लोग कहते हैं कि कुआं तो बन चुका। आरोप लगाया कि इस कुएं के पैसे में भी बंदरबांट कर लिया गया है। इसी तरह कमलाकांत पुत्र रामऔतार ने आरोप लगाया कि मनरेगा के तहत खेत से मिट्टी निकाल ली गई और कुएं के बनने का दावा कर दिया गया। उसका कहना है कि खेत में बने कुएं की गहराई बमुश्किल दो मीटर होगी। इसी गांव के छुटावन पुत्र कोल ने आरोप लगाया कि उसके खेत के पास नाले को कुएं की शक्ल दे दी और विभाग ने अपना झंडा लगा दिया।

मुख्यमंत्री से की जाएगी शिकायत
वरिष्ठ सपा नेता अयोध्या प्रसाद और अन्य ग्रामीणों का कहना है कि ब्लास्ट कूप निर्माण में भारी अनियमितता हुई है। बताया कि उन्होंने बीडीओ मऊ से इस संबंध में सूचना मांगी थी तो बताया गया कि क्षेत्र में 894 कूपों में काम चल रहा है, 94 कूपों का गहरीकरण किया जा रहा है और 30 पर रिचार्ज पिट लगना है। कहा कि पहले तो वह जिलाधिकारी से इस संबंध में टीम बनाकर जांच कराने की मांग करेंगे और फिर मुख्यमंत्री से भी यहां की शिकायत की जाएगी।

मजदूरी नहीं मिली
गांव के लोगों का आरोप है कि मिलीभगत करके फर्जी जॉबकार्ड से मजदूरी भुगतान भी कर लिया गया। कई जगहों पर खेत मालिकों ने सपरिवार लगकर मजदूरी की पर उन्हें पैसा नहीं मिला, यह आरोप है। गांव के मुन्ना पुत्र जमुना, श्यामबिहारी पुत्र कुलई, नत्थूलाल पुत्र मघई आदि ने कहा कि उन लोगों ने सपरिवार काम किया था और मजदूरी नहीं मिली। कूप निर्माण के लिए जमीन चुनने में भी अनियमितता हुई। एक परिवार के कई लोगों को कूप निर्माण के लिए चुना गया। कई जगहों पर तो काम हुआ ही नहीं। ग्रामीण रामजतन पुत्र सुखई, राजकुमारी पत्नी रामजतन, शिवचरण पुत्र सुखई, राजकली पत्नी राजबली, रामादेवी पत्नी सुरेश, गीता पत्नी छब्बूलाल, कमलाकांत पत्नी रामअवतार आदि लगभग दो दर्जन ग्रामीणों का कहना है कि उन लोगों के खेतों में कुएं के नाम पर भारी अनियमितता की गई है। जिलाधिकारी अगर इस तरफ जांच कराएं तो भारी घोटाला सामने आने की संभावना है।
क्या कहते हैं अधिकारी
इस संबंध में जब खंड विकास अधिकारी बीके शुक्ला से बात की गई तो उनका कहना था कि वह मामले की जांच कराएंगे। कूप निर्माण में अनियमितता पाए जाने पर संबंधित के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी, हालांकि अभी तक उनकी जानकारी में यह मामला नहीं आया है।

Spotlight

Most Read

National

2019 में कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव नहीं लड़ेगी CPM

महासचिव सीताराम येचुरी की ओर से पेश मसौदे में भाजपा के खिलाफ लड़ाई में कांग्रेस समेत तमाम धर्मनिरपेक्ष दलों को साथ लेकर एक वाम लोकतांत्रिक मोर्चा बनाने की बात कही गई थी।

22 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018

Recommended

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper