शिक्षा से ही दूर होंगी समाज की विषमता

Chitrakoot Updated Mon, 29 Oct 2012 12:00 PM IST
सीतापुर (चित्रकूट)। अखिल भारतीय श्रीभट्ट ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय चिंतन शिविर के दूसरे और अंतिम दिन भी समाज के उत्थान पर मंथन हुआ। लब्बोलुआब यह निकला कि धर्माचार्यों की सलाह, बुद्धिमानों की सीख और शिक्षा से ही आज की विषमताओं से पार पाया जा सकता है।
राष्ट्रीय रामायण मेला परिसर में पंडोखर सरकार गुरुशरण जी महाराज ने कहा कि जब तक सभी जातियां, संप्रदाय संस्कारित नहीं होंगे, तब तक राष्ट्र उन्नति नहीं कर सकता। संतोष गुरु का कहना था कि वही राष्ट्र या राजा उन्नति करेगा, जिसके पास धमोचार्यों और बुद्धिमानों का समूह होगा। राजा अकबर वह तब महान हुआ जब उसके पास बीरबल जैसा बुद्धिमान योद्धा था। उन्होंने कहा कि बच्चों को संस्कार देना जरूरी है। अतुलानंद स्वामी ने कहा कि समाज में उन्नति के लिए चार शालाएं जरूरी हैं, धर्मशाला, यज्ञशाला, पाठशाला और भोजनशाला। सभी एक स्थान पर सुलभ होनी चाहिए। रायबरेली के महेश शर्मा ने शिक्षा की जरूरत बताई। धीरेंद्र कुमार शर्मा ने लोगों को मर्यादा पुरुषोत्तम राम से सीख लेने की सलाह दी।
उन्होंने ब्राह्मण समाज के महापुरुषों कुमारिल भट्ट, कालीदास, आर्यभट्ट, बीरबल, चंदबरदाई, संजय जैसे आदर्शों को अपनाने को कहा। हनुमान प्रसाद निर्मल ने बताया कि बिना यज्ञोपवीत और ज्ञान के कोई भी उन्नति नहीं कर सकता। कुलदीप शर्मा, धीरेंद्र शर्मा, फूलचंद्र शर्मा, संतोष शर्मा, देवी प्रसाद शर्मा भी मौजूद रहे।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में कोहरे का कहर जारी, ट्रक और कार की टक्कर में तीन की मौत

कन्नौज के तालग्राम में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कोहरे के चलते एक भीषण सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से पीछे से आ रही कार के चालक को सड़क पर खड़ा ट्रक  नजर नहीं आया और उनमें कार जा टकराई। हादसे में तीन की मौत हो गई।

10 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls