लचर नौकरशाही से धान की खरीद प्रभावित

Chandauli Updated Sat, 29 Dec 2012 05:30 AM IST
मुगलसराय। जिले में धान खरीद की स्थिति लचर प्रशासनिक व्यवस्था के चलते बेहद चिंताजनक है। अभी तक खरीद शुरू नहीं हो पाने के कारण किसान अपनी उपज को औने पौने दामों पर बिचौलियों के हाथों बेचने को मजबूर हैं। हालांकि प्रशासन के अनुसार अब तक दो हजार मीट्रिक टन धान की खरीद भी हो चुकी है। इस दफा एक अक्टूबर से 28 फरवरी तक धान खरीद का शासन स्तर से फरमान जारी किया गया है,लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां रही है।
जिले में इस दफा कुल 57 क्रय केंद्रों के माध्यम से 51500 मीट्रिक धान खरीद करने का शासन स्तर से लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके अंतर्गत मार्केटिंग के 10, पीसीएफ 30, एग्रो 4, नैफेड 5, यूपीएसएस 4 व एनसीसीएफ के 4 क्रय केंद्र खोले गये हैं। डीएम के निर्देशानुसार एक किसान से अधिकतम 60 कुंतल धान की ही खरीद की जाएगी। प्रशासन का यह दावा है कि अब तक दो हजार मीट्रिक टन धान खरीदा जा चुका है। उधर किसानों और विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं का आरोप है कि प्रशासन भले ही एक अक्टूबर से खरीद का दावा किया है। लेकिन अधिकांश क्रय केंद्रों पर बंद पड़े ताले नहीं खुले हैं। ऐसे में लाचार किसान अपने उपज को औने-पौने दामों पर बिचौलियोें के माध्यम से निजी व्यापारियों को बेचने के लिए मजबूर हैं। इस स्थिति के चलते आए दिन किसी न किसी राजनीतिक दलों के नेताओं द्वारा किसानों के मुद्दे को लेकर जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन करने का सिलसिला जारी है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

परिवारवालों को था घर पर इंतजार लेकिन पहुंचा झंडे में लिपटा जवान का शव

बॉर्डर पर पाक लगातार नापाक हरकतें कर रहा है। पाक की तरफ से लगातार सीजफायर का उल्लंघन हो रहा है। इस दौरान कई जवान शहीद हो गए। शहीद होने वालों में एक चंदौली का जबाज भी था। जबाज सैनिक 15 फरवरी को घर आना था।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls