लाल बहादुर शास्त्री डिग्री कालेज में फिर भिड़े़ छात्रनेता

Chandauli Updated Tue, 25 Dec 2012 05:30 AM IST
मुगलसराय। एलबीएस डिग्री कालेज में सोमवार को एक बार फिर छात्र गुटों में नोकझोंक के चलते कालेज की फिजा गर्म हो गई। छात्रसंघ अध्यक्ष यादवेश यादव और महामंत्री दीपक कुमार गुप्ता के समर्थक छात्रों के बीच मारपीट की खबर लगते ही मौके पर पुलिस फोर्स पहुंच गई और हल्का बल प्रयोग कर मारपीट कर रहे छात्रों को कैंपस से बाहर खदेड़ कर स्थिति को काबू में किया। पुलिस ने दोनों छात्र गुटों के बीच सुलह समझौता करा दिया है। हालांकि इसको लेकर दोनों गुटों में तनावपूर्ण खामोशी बनी हुई है।कालेज में तनाव को देखते एहतियात के तौर पर पुलिस और पीएससी तैनात कर दी गई है।
एलबीएस डिग्री कालेज में छात्र संघ चुनाव के समय से ही छात्रों के दो गुटो में वर्चस्व की लड़ाई चली आ रही है। हालांकि यह सतह पर गत शनिवार को उस समय देखने को मिली जब दिल्ली में मेडिकल की छात्रा के साथ हुए गैंगरेप की घटना के विरोध में कालेज के छात्र सड़क पर उतर आए। इस दौरान किसी बात को लेकर छात्रों के दो गुट आपस में भिड़ गए थे। जिसे पुलिस ने किसी तरह समझा बुझाकर शांत कराया था। इसी बीच सोमवार को एक बार फिर कालेज का माहौल उस समय तल्ख हो गई जब सीढ़ी पर उतरते और चढ़ते समय छात्रों का दो गुट आमने सामने आ गया और देखते देखते दोनों गुटों में झड़प के बाद मारपीट शुरू हो गई। छात्रों के दो गुटों में संघर्ष की खबर लगते ही मौके पर भारी पुलिस फोर्स के साथ पहुंचे कोतवाल आरपी यादव ने डंडा पटक कर स्थिति को संभाला। उधर छात्रों के बीच मारपीट की खबर लगते ही शास्त्री कटरा की कुछ एक दुकानें धड़ाधड़ बंद हो गईं। जिससे लोगों में अफरा तफरी का माहौल उत्पन्न हो गया। छात्र गुटों के भिड़ंत को देखते हुए मौके पर पीएससी भी लगा दी गई। बाद में घटना को लेकर दोनों गुटों के छात्र नेता थाने पहुंच गए।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

परिवारवालों को था घर पर इंतजार लेकिन पहुंचा झंडे में लिपटा जवान का शव

बॉर्डर पर पाक लगातार नापाक हरकतें कर रहा है। पाक की तरफ से लगातार सीजफायर का उल्लंघन हो रहा है। इस दौरान कई जवान शहीद हो गए। शहीद होने वालों में एक चंदौली का जबाज भी था। जबाज सैनिक 15 फरवरी को घर आना था।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls