चहनियां ब्लाक प्रमुख के खिलाफ मुहिम तेज

Chandauli Updated Tue, 25 Sep 2012 12:00 PM IST
चहनियां। सूबे में सपा की सरकार बनने के बाद जिले के कई क्षेत्र प्रमुखों के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास होने से हौसला बुलंद सत्ताधारी पार्टी के रणनीतिकारों की अगली मुहिम चहनियां ब्लाक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए शुरू हो गई है। इसकी सुगबुगाहट के बाद चहनियां क्षेत्र में सियासी सरगर्मी तेज हो गई है। राजनीतिक विश्लेषकों की मानें तो अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए पर्याप्त संख्या बल जुटाना आसान नहीं होगा।
गौरतलब है कि जनपद के चकिया, बरहनी तथा धानापुर ब्लाक प्रमुखों के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास होने से उत्साहित रणनीतिकारों का अगला निशाना चहनियां ब्लाक प्रमुख की कुर्सी की ओर है। इसको लेकर इस समय क्षेत्र के सियासी गलियारे में मुहीम तेज भी हो गई है। चहनियां ब्लाक में कुल 88 क्षेत्र पंचायत सदस्य हैं। इसमें सर्वाधिक 27 सदस्य यादव बिरादरी के तथा दूसरे स्थान पर 15 राजपूत, छह मौर्य, सात दलित, पांच मुस्लिम, पांच राजभर, तीन ब्राह्मण सहित अन्य बिरादरी के क्षेत्र पंचायत सदस्यों के साथ संख्या पूर्ण होती है। प्रमुख पद के चुनाव में सामान्य (महिला) पद पर उपेंद्र सिंह की पत्नी ममता सिंह ने पूर्व विधायक धानापुर प्रभुनारायण सिंह के भाई अनिल यादव की पत्नी निर्मला यादव को शिकस्त देते कुर्सी पर कब्जा जमा लिया था। किंतु सत्ता परिवर्तन के बाद सपा के रणनीतिकारों ने मुहीम छेड़कर चकिया, बरहनी एवं धानापुर के ब्लाक प्रमुखों के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाकर कुर्सी से हटा दिया। इसके बाद अब चहनियां ब्लाक प्रमुख के खिलाफ भी सुगबुगाहट चल रही है। मगर संख्या बल को लेकर विरोधी खेमा अनिश्चितता में है। गत सप्ताह इसी सियासी समीकरण में अपने अपने समर्थक क्षेत्र पंचायत सदस्यों को एकजुट करके अपने अपने खेमें में रख लिया था, उस दौरान अगस्तीपुर व भूपौली के क्षेत्र पंचायत सदस्यों के परिजनों द्वारा एक पक्ष के ऊपर जबरन उठा ले जाने का आरोप भी लगाया गया था। हालांकि बाद में अपर पुलिस अधीक्षक के सामने अगस्तीपुर के क्षेत्र पंचायत सदस्य ने उपस्थित होकर इस आरोप को निराधार बताया था। हालांकि क्षेत्र के सियासी गलियारे में इसको लेकर चर्चाएं तेज हैं। क्षेत्र पंचायत सदस्य भी उहापोह में हैं कि किसका समर्थन करें किसका नहीं। हालांकि दोनों पक्ष अपने अपने समर्थकों पर कड़ी निगाह लगाए हुए हैं। अब समीकरण किस करवट बैठेगा यह तो आने वाला समय ही बताएगा फिलहाल कुर्सी को लेकर दाव पेंच शुरू है।

Spotlight

Related Videos

परिवारवालों को था घर पर इंतजार लेकिन पहुंचा झंडे में लिपटा जवान का शव

बॉर्डर पर पाक लगातार नापाक हरकतें कर रहा है। पाक की तरफ से लगातार सीजफायर का उल्लंघन हो रहा है। इस दौरान कई जवान शहीद हो गए। शहीद होने वालों में एक चंदौली का जबाज भी था। जबाज सैनिक 15 फरवरी को घर आना था।

22 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper