लगातार लुटेरों और छिनैतों के निशाने पर हैं रेल यात्री

Chandauli Updated Mon, 10 Sep 2012 12:00 PM IST
वाराणसी। वाराणसी से मुगलसराय, लखनऊ और इलाहाबाद रेलखंड पर लंबे समय से छिनैती, उचक्कागिरी और चोरी की घटनाएं घट रही हैं। पीड़ित यात्री को रेलवे पुलिस और रेलवे सुरक्षा बल के जवान बगैर प्राथमिकी दर्ज किए बैरंग वापस कर अपना पल्ला झाड़ लेते हैं। घटनाओं को नजरअंदाज करने और चौकसी नहीं बरतने के चलते शनिवार की रात को लुटेरों ने आसनसोल पैसेंजर ट्रेन के यात्रियों को अपना शिकार बना लिया। इस घटना ने समूचे रेल प्रशासन की आंखें खोल दी है। रविवार को पूर्वोत्तर रेलवे, उत्तर रेलवे प्रशासन ने जवानों को अलर्ट कर दिया। विशेष टीमें भी गठित कर दी गईं।
पूर्वांचल और बिहार के रेलखंडों पर लुटेरों और छिनैतों के सक्रिय होने का अहम कारण कई ट्रेनों में दिन तो दिन रात के समय स्कोर्ट का नहीं होना है। वाराणसी और मुगलसराय से गुजरने वाली ट्रेनों में छिनैत महिलाओं को अपना सबसे आसान शिकार मानते हैं। महिलाओं के गले से चेन, गहना, मोबाइल और पर्स छीनकर भागने की घटनाएं आम है। चलती ट्रेन में अपराध होने पर रेलवे पुलिस सीमा का हवाला देते हुए प्राथमिकी दर्ज करने से पल्ला झाड़ लेती है। ट्रेन में चलने वाले एस्कार्ट के जवान भी इन छिनैतों पर लगाम नहीं लगा सकते हैं।
28 अगस्त की रात को बरेली एक्सप्रेस में बनारस सोनिया के निवासी अशोक कुमार की पत्नी के गले से चेन छीन ली गई। 26 अगस्त को श्रमजीवी एक्सप्रेस की जनरल बोगी में पटना के राधेश्याम का मोबाइल छिनैत ले गए। 25 अगस्त को किसान एक्सप्रेस में तीन अलग-अलग यात्रियों से छिनैती की घटनाएं हुई। अगस्त के प्रथम सप्ताह में नीलांचल एक्सप्रेस में सोनभद्र की रहने वाली सुनंदा प्रसाद का बैग उचक्काें ने चलती ट्रेन उड़ा दिया। ऐसी और भी कई घटनाएं घटित हुईं जिनमें रेलवे पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज नहीं कराई। इंस्पेक्टर जीआरपी कैंट त्रिपुरारी पांडेय भी मानते हैं कि छिनैत सक्रिय हैं। कई मामले संज्ञान मेें हैं। छिनैतों को पकड़ने के लिए कई टीमें लगाई गई हैं। बताया कि एक माह में चोरी और छिनैती करने वाले 24 लोगों को दबोचा गया और उनके पास से चोरी का माल भी बरामद किया गया। तीन पर गैंगेस्टर के तहत कार्रवाई भी की जा चुकी है।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

परिवारवालों को था घर पर इंतजार लेकिन पहुंचा झंडे में लिपटा जवान का शव

बॉर्डर पर पाक लगातार नापाक हरकतें कर रहा है। पाक की तरफ से लगातार सीजफायर का उल्लंघन हो रहा है। इस दौरान कई जवान शहीद हो गए। शहीद होने वालों में एक चंदौली का जबाज भी था। जबाज सैनिक 15 फरवरी को घर आना था।

22 जनवरी 2018