वित्तविहीन शिक्षकों ने सम्मेलन में दिखाई ताकत

Chandauli Updated Wed, 09 May 2012 12:00 PM IST
चंदौली। उत्तर प्रदेश वित्तविहिन शिक्षक संघ जिला इकाई के तत्वावधान में मंगलवार को यमुना उच्चतर माध्यमिक विद्यालय परिसर में एक दिवसीय सम्मेलन का आयोजन किया गया। इसमें वित्तविहीन शिक्षकों ने अपने हक और अधिकार के लिए एक स्वर में संघर्ष करने का संकल्प लिया।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि प्रदेश अध्यक्ष लालबिहारी यादव ने कहा कि संगठन में एक शक्ति होती है। इससे बड़े से बड़ा कार्य किया जा सकता है। आज जो वित्तविहीन शिक्षकों को उपलब्धियां मिली हैं, यह संघर्षों का ही परिणाम है। कहा कि संगठन के माध्यम से हाईस्कूल और इंटर की मान्यता में एक एकड़ क्षेत्रफल के स्थान पर आधा एकड़ और शहरी क्षेत्र में आधा एकड़ केे स्थान पर छह बिस्सा क्षेत्रफल में निर्धारित किया गया। जिससे लोग वित्तविहीन विद्यालय खोलकर समाज में शिक्षा का प्रचार-प्रसार कर सके और गरीबों को शिक्षा दे सके। कहा कि उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ 14 अक्टूबर 1986 में वजूद में आया। इसके लिए हम लोगों ने भी संघर्ष किया। लेकिन शिक्षक संघ के नेताओं ने हमारे ही खिलाफ कार्य करने लगे। इससे क्षुब्ध होकर हम लोगों ने 2004 में अलग होकर वित्तविहीन शिक्षक संघ की स्थापना कर अपनी संघर्षों की लड़ाई लड़नी शुरू की। पूर्व की सरकार में हमने अपने हक के लिए आमरण अनशन शुरू किया। इसमें सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के प्रतिनिधि के रूप में पहुंचे। पूर्व मंत्री बलिराम यादव और विपक्ष के नेता विधानपरिषद अहमद हसन को भेजकर कहा कि अगर हमारी सरकार बनी तो वित्तविहीन विद्यालयों के शिक्षकों को मानदेय दिए जायेंगे। यही नहीं उन्होंने अपने घोषणा पत्र में भी इसका जिक्र किया। आज उसी का परिणाम है कि हम शिक्षकों को मानदेय मिलने जा रहा है। मंडल उपाध्यक्ष जगमेंद्र यादव ने कहा कि शिक्षकों और कर्मचारियों के लिए सरकार ने मानदेय की घोषणा कर सराहनीय कार्य किया है। इस अवसर पर रामबदन यादव, कमलेश उपाध्याय, डा. ओम प्रकाश चौबे, गीता राय, ओम प्रकाश सिंह यादव, रामकृत, रचना सिंह, जमुना सिंह, चंद्रशेखर शर्मा, सूर्यनाथ यादव, संजय गुप्ता आदि उपस्थित रहे। अध्यक्षता भुनेश्वर सिंह और संचालन जमुना प्रसाद यादव ने किया।

Spotlight

Most Read

National

पाकिस्तान की तबाही के दो वीडियो जारी, तेल डिपो समेत हथियार भंडार नेस्तनाबूद

सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है। भारत के जवाबी हमले में पाकिस्तान की कई फायरिंग पोजिशन, आयुध भंडार और फ्यूल डिपो को बीएसएफ ने उड़ा दिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

परिवारवालों को था घर पर इंतजार लेकिन पहुंचा झंडे में लिपटा जवान का शव

बॉर्डर पर पाक लगातार नापाक हरकतें कर रहा है। पाक की तरफ से लगातार सीजफायर का उल्लंघन हो रहा है। इस दौरान कई जवान शहीद हो गए। शहीद होने वालों में एक चंदौली का जबाज भी था। जबाज सैनिक 15 फरवरी को घर आना था।

22 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper