मारे गए तीनों लोग बेकसूर

Bulandshahr Updated Wed, 29 Jan 2014 05:48 AM IST
खुर्जा। सेहड़ा फरीदपुर में हुए जातीय संघर्ष में मारे गए तीनों लोग बेकसूर थे। किसी का भी मामले से सीधा लेना-देना नहीं था। पूरे मामले में पुलिस की लापरवाही ने मामले को जातीय संघर्ष में तब्दील कर दिया। पुलिस मामले को गंभीरता से लेती और समझौते की जगह दोनों पक्षों पर कार्रवाई करती तो तीन जानें नहीं जाती। ग्रामीणों की मानें तो पुलिस ने किशोरी के परिजनों को दबंगाें के यहां जबरन बुलाकर समझौता कराते हुए एकतरफा कार्रवाई की। इसी के चलते दबंगों के हौसले बुलंद हो गए और मंगलवार को दबंगों ने फिर किशोरी से छेड़छाड़ की और गांव के रास्तों की नाकाबंदी कर दलित परिवारों को जमकर पीटा।
ग्रामीणों की मानें तो मंगलवार सुबह दस बजे के आसपास जब किशोरी पर दोबारा हमला हुआ तो पुलिस गांव में मौजूद नहीं थी। आरोप है कि दबंगों ने गांव के मुख्य रास्तों पर ट्रैक्टर और बुग्गी लगाकर नाकाबंदी कर दी और दलित परिवारों पर हमला बोल दिया। जब तक पुलिस गांव में पहुंची तब तक काफी देर हो चुकी थी। एसओ गनेश चौहान ने बताया कि पुलिस के पहुंचते ही अचानक गांव में इंद्रपाल की हत्या की सूचना आई तो दलित परिवारों ने पुलिस के वाहनों में तोड़फोड़ शुरू कर दी और विरोध पर महिला कांस्टेबल सुमन और दरोगा श्रीनिवास पर लाठी डंडों से हमला कर भागने पर मजबूर कर दिया। मारपीट में दरोगा और महिला कांस्टेबल को चोटें आई हैं। एसओ की मानें तो जब तक पुलिस मृतक इंद्रपाल जाटव की ओर दौड़ी इसी बीच बुर्जी में भूसा भरने गए बलबीर की हत्या कर दी गई। पुलिस ने किसी प्रकार मारपीट के दौरान घायल एक पक्ष के बलवीर ओर दूसरे पक्ष के ओमप्रकाश को घरों से निकाल कर अस्पताल में भर्ती कराया। महज तीन घंटे में तीन की लोगों की मौत से गांव सन्नाटे के साथ दहशत फैल गई है।

गांव में पीएसी और पुलिस बल तैनात
गांव में तीन हत्याओं के बाद गांव में सन्नाटा और तनाव पसरा हुआ है। प्रकरण को लेकर ग्रामीण किसी भी कीमत पर बात करने को तैयार नहीं है। वहीं, दबंग पक्ष गांव से फरार हो चुका है। तनाव और दहशत को देखते हुए एसएसपी लक्ष्मी सिंह ने गांव में एक कंपनी पीएसी और कई थानों का पुलिस बल तैनात कर दिया है। वहीं एसएसपी लक्ष्मी सिंह ने पूरे गांव के हर घर में पुलिस टीम से सर्च करने के आदेश दिए हैं ताकि किसी को घर में बंधक बनाकर न रखा गया हो। दलित परिवारों ने कुछ लोगों के गायब होने की शिकायत एसएसपी से की थी।
मामले में पुलिस की लापरवाही सामने आई है। दोषी पुलिसवालों पर कार्रवाई करेंगे। दोनों पक्षों में से किसी ने तहरीर नहीं दी है। गांव में जो तीन हत्याएं हुई हैं उनका संबंध जातीय और राजनैतिक होने की आशंका है।
-के.सत्यनारायण
डीआईजी मेरठ रेंज

Spotlight

Most Read

National

पाकिस्तान की तबाही के दो वीडियो जारी, तेल डिपो समेत हथियार भंडार नेस्तनाबूद

सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है। भारत के जवाबी हमले में पाकिस्तान की कई फायरिंग पोजिशन, आयुध भंडार और फ्यूल डिपो को बीएसएफ ने उड़ा दिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

बुलंदशहर की ये बेटी पाकिस्तान को कभी माफ नहीं करेगी, देखिए वजह

पाकिस्तान की नापाक हरकतों की वजह से शुक्रवार को बुलंदशहर के रहने वाले जगपाल सिंह शहीद हो गए। जगपाल सिंह एक दिन बाद अपनी बेटी की शादी के लिए घर आने वाले थे।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper