हंगामे की भेंट चढ़ी पालिका बोर्ड बैठक

Bulandshahr Updated Fri, 28 Dec 2012 05:30 AM IST
सिकंदराबाद। नगर विकास के लिए बृहस्पतिवार को बुलाई गई पालिका परिषद सिकंदराबाद की दूसरी बोर्ड बैठक हंगामे की भेंट गई। चेयरमैन इंद्रा सैनी के गैर-जिम्मेदाराना जवाब के बाद सभासदों ने हंगामे कर दिया। इतना ही नहीं तानाशाही रवैये से आहत सभासदों ने बैठक से वाक आउट सामूहिक इस्तीफा देने की चेतावनी दी। सभासदों के तेवर से पालिका प्रशासन में खलबली मचा दी।
पालिका बोर्ड बैठक में दोपहर 12 बजे शुरू हुई। सभासद क्षेत्र की समस्याओं को रख रहे थे। सभासद धन्नू ने कहा पालिका ने लाखों रुपये की स्ट्रीट लाइटें खरीदी, लेकिन लाइटों को सड़कों पर नहीं लगाया गया। स्ट्रीट लाइट कहां गई इसकी जानकारी कर्मचारी नहीं दे रहे हैं। वार्ड 15 के सभासद इरशाद शमशाद ने कहा कि पालिका ने हजारों रुपये बगीचे के रख रखाव पर खर्च होना दिखाया है। जबकि लॉन या बगीचा ही नहीं है। रफीकुददीन ने कहा कि पालिका के कम्यूनिटी सेंटर में बारात के ठहरने का किराया 11 सौ निर्धारित है। सीजन में 11 से 12 बारात ठहरी हैं। पालिका ने कुल आय 22 सौ रुपये दिखाई है। जबकि 11 आयोजनों की 12 हजार की रशीद काटी है। इसी बीच चेयरमैन इंद्रा सैनी सीट से खड़ी हो गईं और कहा कि जिन सभासदों को विकास प्रस्तावों पर मोहर लगवानी है वे बैठक में रहे, बाकी चले जाएं। इस जवाब से सभासद भड़क गए और बोर्ड बैठक का बायकाट कर बाहर चले गए और नारेबाजी की।

गोलमाल है सब गोलमाल
सभासदों ने पालिका की अंधेरगर्दी पर कई सुलगते सवाल खड़े किये हैं। इरशाद ने कहा कि नगर में सफाई व्यवस्था चौपट पड़ी है। जबकि डीजल मद में एक माह के अंदर करीब 11 लाख रुपये खर्च दिखाया गया है। टूक्की ने कहा कि पालिका ने लाइब्रेरी खर्च 70 हजार दिखाया है। जबकि यहां न किताब है और न अखबार हैं। धन्नू ने जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र अवैध वसूली का आरोप लगाया है।
चेयरमैन नगर पालिका सिकंदराबाद की चेयरमैन इंद्रा सैनी का कहना है कि सभासद बात सुनने को तैयार नहीं थे। एजेंडे पर बात करने के बजाय सभासद अनर्थक बात कर रहे थे। इसलिए उनको ऐसा कहना पड़ा। सभासदों को पहले एजेंडे पर चर्चा करनी चाहिए थी। कमेटी बनाने पर सहमति से चर्चा की जाएगी।
ईओ सुरेंद्र सिंह ने कहा कि चेयरमैन को संयम का परिचय देना चाहिए था। बोर्ड बैठक में जो हुआ वह ठीक नहीं है। इन अड़ंगों से विकास की रफ्तार कम होगी। सभासदों के तमाम आरोपों की भी जांच करवाई जाएगी।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बुलंदशहर की ये बेटी पाकिस्तान को कभी माफ नहीं करेगी, देखिए वजह

पाकिस्तान की नापाक हरकतों की वजह से शुक्रवार को बुलंदशहर के रहने वाले जगपाल सिंह शहीद हो गए। जगपाल सिंह एक दिन बाद अपनी बेटी की शादी के लिए घर आने वाले थे।

20 जनवरी 2018