बुलंदशहर मिलावटी सामानों की मंडी!

Bulandshahr Updated Sat, 27 Oct 2012 12:00 PM IST
बुलंदशहर। जिलाधिकारी-सिटी मजिस्ट्रेट की सख्ती के बाद भी मिलावटखोरों पर नकेल नहीं लग पा रही है। खाद्य सुरक्षा अधिकारी मिलावटी खाद्य पदार्थ बिकने और दिल्ली तक सप्लाई होने की हकीकत को झुठला भी नहीं पा रहे हैं और सच स्वीकार करने से भी कतरा रहे हैं। हालात यह हो गए हैं कि जिन स्थानों पर उच्चाधिकारियों के सख्त निर्देश होते हैं वहां छापेमारी करनी पड़ती है और बाकी जगहों पर बहानेबाजी कर मामला टरका दिया जाता है। अफसरों की इस लीपापोती से बुलंदशहर मिलावटी सामानों की मंडी बन गया है।
मिलावटी खाद्य पदार्थों के लिए जनपद बदनाम है। मिलावटखोर चांदी काट रहे हैं और जिम्मेदार अफसर उगाही कर रहे हैं। पिछले तीन माह का रिकार्ड बताता है कि छापामारी केवल उन स्थानों पर हुई है जहां अधिकारियों ने कड़े आदेश दिए हैं। डीएम-सिटी मजिस्ट्रेट के सख्ती दिखाने पर ही कार्रवाई शुरू की गई है। अफसरों के सामान्य आदेशोें को खाद्य विभाग ने भाव ही नहीं दिया। यही कारण रहा कि एक माह तक चले अभियान में ज्यादातर निरीक्षक अवकाश लेकर चले गए, जो बचे वो कोर्ट में पैरवी करने में रह गए। यानी नमूना लेने का प्रभावी कार्य नहीं हुआ।
नरसेना, बीबीनगर, अनूपशहर, जहांगीाबाद, गुलावठी, खुर्जा, सिकंदराबाद और नगर बुलंदशहर मिलावटी खाद्य पदार्थों की मंडी बन गए हैं।
यहां केवल स्थानीय प्रयोग के लिए ही नहीं, बल्कि एनसीआर व दिल्ली में सप्लाई के लिए भी मिलावटी मावे, मिल्क केक, पपड़ी, घी और दूध की सप्लाई दूर-दराज तक की जा रही है। कई मिलावटखोरों की विभाग में गहरी पैठ है। वह धड़ल्ले से अपने काम को अंजाम दे रहे हैं। खाद्य विभाग के अफसर भी उनको बचाने का पुरा प्रयास करते हैं। अधिकारियों तक भी इस तरह के मामले पहुंच चुके हैं।

नमूना पास कराने का ठेका भी ले रहे हैं इंस्पेक्टर
खाद्य सुरक्षा अधिकारी केवल नमूना भरकर जांच कराने का ही कार्य नहीं करते, वे नमूना पास कराने का भी ठेका ले रहे हैं। नगर में ऐसी दो शिकायतें आई हैं। पुलिस लाइन रोड से एक परचून विक्रेता से 20 हजार रुपये लेने का मामला तूल पकड़ रहा है। इसकी जानकारी सिटी मजिस्ट्रेट को भी मिली है। काली नदी रोड और कचहरी रोड के परचून व्यापारियों से भी अवैध वसूली के मामले सामने आए हैं। सिटी मजिस्ट्रेट एके सिंह ने मामलों की जांच शुरू कर दी है।
मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी संजय पांडे का कहना है कि ये मामले गंभीर हैं। इनकी जांच हो रही है। ऐसे में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता। मिलावटी सामान बनाने, बेचने और सप्लाई करने वालों की धरपकड़ के लिए टीमों का गठन कर दिया गया है।

Spotlight

Most Read

Rohtak

जीएसटी विभाग ने ई-वे बिल को लेकर जांच किया अवेयरनेस कैंपेन

जीएसटी विभाग ने ई-वे बिल को लेकर जांच किया अवेयरनेस कैंपेन

19 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी के इस शहर में फिर दिखी हैवानियत

बुलंदशहर में एक बार फिर से गैंगरेप और मर्डर का मामला सामने आया है। कुछ बदमाशों ने यहां एक लड़की को अगवा कर पहले उसके साथ गैंगरेप किया। फिर उसकी हत्या कर दी। पुलिस को लड़की की लाश एक झील से मिली।

5 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper