मां की गवाही पर बेटे को उम्रकैद

Bulandshahr Updated Thu, 30 Aug 2012 12:00 PM IST
खुर्जा। चौदह माह पूर्व पहासू के गांव अल्लीपुर में युवती की हत्या में एडीजे मो. जहीरुद्दीन ने उसके भाई को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। यह कार्रवाई आरोपी की मां की गवाही पर की गई।
शासकीय अधिवक्ता यशपाल सिंह राघव ने बताया कि पहासू क्षेत्र के गांव अल्लीपुर निवासी चोव सिंह की पुत्री मीना उर्फ बीना की चार जून 2011 की रात गड़ासे से गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। मीना के भाई नेम सिंह ने अज्ञात के खिलाफ बहन की हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने इस मामले में मीना के कथित प्रेमी सतीश और उसके भाई सूरजपाल के खिलाफ चार्जशीट पेश की थी। आरोप था कि सूरजपाल ने सतीश से प्रेमप्रसंग के शक में अपनी बहन मीना की हत्या कर दी थी। एडीजे मो. जहीरुद्दीन सिद्दकी ने मामले की सुनवाई की और आठ गवाहों के बयान सुने। खास बात यह रही कि मृतका मीना की मां रामवती ने अपने पुत्र सूरजपाल के खिलाफ गवाही दी। एडीजे ने आरोपी सूरजपाल को आजीवन कारावास और पांच हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई। सबूतों के अभाव में कोर्ट ने कथित प्रेमी सतीश को बरी कर दिया।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बुलंदशहर की ये बेटी पाकिस्तान को कभी माफ नहीं करेगी, देखिए वजह

पाकिस्तान की नापाक हरकतों की वजह से शुक्रवार को बुलंदशहर के रहने वाले जगपाल सिंह शहीद हो गए। जगपाल सिंह एक दिन बाद अपनी बेटी की शादी के लिए घर आने वाले थे।

20 जनवरी 2018