रेप : बदनामी की कीमत पांच लाख

Bulandshahr Updated Sun, 19 Aug 2012 12:00 PM IST
पत्रकार वार्ता कर पूर्व विधायक अनिल शर्मा ने दी सफाई और विरोधियों पर लगाए आरोप
बुलंदशहर। पूर्व विधायक पर लगे किशोरी से रेप के आरोप का पटाक्षेप भले ही हो गया है, लेकिन अब राजनीति गरमा गई है। शनिवार को पत्रकार वार्ता कर पूर्व विधायक अनिल शर्मा खुलकर बोले। किशोरी और उसके पिता को उन्होंने मीडिया के समक्ष पेश करते हुए कहा कि मेरी राजनीतिक हत्या करने की कोशिश की गई है। विरोधियों ने पांच लाख रुपये की रकम का लालच देकर रेप का आरोप उन पर लगवाया था। ऐसा न करने पर किशोरी के भाई को जान से मरवाने की धमकी दी थी।
पूर्व विधायक ने बताया कि गांव खालौर में उनका एक इंटर कॉलेज है। जहां खालौर निवासी राजेश और राजकुमार कर्मचारी हैं। पहले दोनों के खिलाफ किशोरी के साथ छेड़छाड़ की रिपोर्ट थाने में दर्ज हुई थी। जिसमें उन्होंने भी दोनों आरोपियों के खिलाफ स्कू ल की ओर से भी कार्रवाई का निर्देश दिया था। इसका फायदा उठाते हुए वर्तमान डिबाई विधायक गुड्डू पंडित की ओर से कैलावल गांव के प्रधान संजय शर्मा, सरगांव प्रधान केशव शर्मा और सरगांव निवासी अमित को किशोरी के घर भेजकर उसके पिता को पांच लाख देने का लालच दिया। फिर किशोरी और उसके पिता को डिबाई विधायक की कोठी पर रखा। जहां रुपये का लालच देने के साथ किशोरी के भाई को जान से मारने की धमकी दी गई। इस दबाव में किशोरी ने 11 अगस्त को एसएसपी कार्यालय पर उनके खिलाफ रेप का आरोप लगाया था।

किशोरी के पिता ने कहा गुड्डू पंडित ने बनाया था दबाव
पीड़िता किशोरी के पिता ने बताया कि विधायक गुड्डू पंडित के आदमी उसके घर पहुंचे और अनिल शर्मा के खिलाफ रेप का आरोप लगाने का दबाव बनाया। इसके लिए उन्होंने पांच लाख रुपये देने की बात कही और ऐसा न करने पर उसके बेटे को जान से मारने की धमकी दी। यह पूछे जाने पर कि उसने 11 अगस्त को पूर्व विधायक अनिल शर्मा के खिलाफ रेप का आरोप क्यों लगाया था। इस पर किशोरी के पिता ने कहा कि विधायक के डर के चलते उसने ऐसा कहा था।

किशोरी की जुबानी
पीड़िता किशोरी ने बताया कि वह किसी अनिल शर्मा को नहीं जानती। दो अगस्त को मुझे राजेश और राजकुमार ईख के खेत में ले गए थे और उसके साथ बदतमीजी की। यह पूछे जाने पर कि उसने पहले पूर्व विधायक अनिल शर्मा के खिलाफ आरोप क्यों लगाया था तो किशोरी का यही जवाब था कि उसने दबाव के चलते ही ऐसा बयान दिया था।
किशोरी से जब यह पूछा गया कि शनिवार को उसे यहां कौन लेकर आया तो उसका यही कहना था कि मोय न पता कि यहां कौन लेकर आया। उसने बताया कि किसी प्रधान के कहने पर पिता जी उसे लेकर यहां आए।

हमारी भी सुनो
डिबाई विधायक श्रीभगवान शर्मा (गुड्डू पंडित)का कहना है कि इस प्रकरण से मेरा कोई वास्ता नहीं है। लड़की के बयान कैसे बदले इसमें कोई न कोई साजिश है। पूर्व विधायक अनिल शर्मा की ओर से मेरे खिलाफ बयान शिकारपुर सीट से मेरे भाई मुकेश शर्मा की जीत का परिणाम है। जनता ने विधानसभा चुनाव में सच्चाई का साथ दिया और जनता को धोखा देने वालों को नकार दिया।
कैलावन के ग्राम प्रधान संजय शर्मा का कहना है कि उनके खिलाफ लगाए जा रहे आरोप बेबुनियाद हैं। घटना में उनका कोई लेना देना नहीं है। किशोरी को गाड़ी में बैठाकर वह डिबाई विधायक की कोठी पर कभी नहीं ले गए। पूर्व विधायक अनिल शर्मा अपनी हार से खीजकर मनगढ़ंत आरोप लगा रहे हैं।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

दिल्ली-एनसीआर में दोपहर में हुआ अंधेरा, हल्की बार‌िश से गिरा पारा

पहले धुंध, उसके बाद उमस भरे मौसम और फिर हुई हल्की बारिश ने दिल्ली में हो रहे गणतंत्र दिवस के फुल ड्रेस रिहर्सल में विलेन की भूमिका निभाई।

23 जनवरी 2018

Related Videos

बुलंदशहर की ये बेटी पाकिस्तान को कभी माफ नहीं करेगी, देखिए वजह

पाकिस्तान की नापाक हरकतों की वजह से शुक्रवार को बुलंदशहर के रहने वाले जगपाल सिंह शहीद हो गए। जगपाल सिंह एक दिन बाद अपनी बेटी की शादी के लिए घर आने वाले थे।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper