श्री तकनीक यानि कम पानी में धान ज्यादा

Bulandshahr Updated Sun, 01 Jul 2012 12:00 PM IST
बुलंदशहर। जल संकट से जूझते किसानों के लिए श्री तकनीक से धान की पैदावार राहत भरी है। इस तकनीक से धान की फसल में अन्य की तुुलना में 50 फीसदी कम पानी की खपत होती है। कृषि वैज्ञानिकों की मानें तो एसआरआई (सिस्टमेटिक राइस इंटेसिफिकेशन) तकनीक यानि श्री तकनीक के जरिए बेहद कम पानी में धान की अच्छी पैदावार होती है। इतना ही नहीं इससे कीटों और बीमारियों का खतरा भी 70 प्रतिशत तक कम हो जाएगा।
एसआरआई तकनीक पंजाब, हरियाणा समेत जल संकट से जूझ रहे उत्तर प्रदेश के दर्जन भर से ज्यादा जिलों में इस्तेमाल की जा रही है। सरदार बल्लभ भाई पटेल कृषि शोध संस्थान के कृषि वैज्ञानिक डा. विवेक राज सिंह के मुताबिक विगत वर्ष यह तकनीक जिले में ट्रायल के तौर पर तकरीबन 10 हेक्टेयर रकबे में शुरू की गई थी। बेहतर परिणाम सामने आने के बाद अब जिले के बड़े हिस्से में इसे अपनाया जा रहा है। प्रतिदिन 8 से 10 किसानों की ओर से इस तकनीक की जानकारी मांगी जा रही है।

क्या है श्री तकनीक
श्री या एसआरआई तकनीक के जरिए मार्कर के जरिए खेतों में पौध लगाने के लिए 20 से 22 सेमी. पर छोटे-छोटे गड्ढे कर दिए जाते हैं। इन गड्ढों में 10 से 12 दिन तक नर्सरी में रखी गई पौध की रौपाई कर दी जाती है। हर गड्ढे में एक पौधा रोपा जाता है। इसकी रोपाई के बाद फसल में पानी खड़ा रखने की जरूरत नहीं होती। कोनोवीडर की मदद से रोपाई के 15 से 18 दिन बाद और फिर 40 से 45 दिन बाद फसल की निराई-गुड़ाई कर दी जाती है। इससे खरपतवार पैदा नहीं होते। कृषि वैज्ञानिकों के मुताबिक फसल पकने तक महज 4 से 6 बार गेहूं की फसल की तरह सिंचाई की जाती है।

कैसी है विधि
आमतौर पर खेत में पानी भरकर उसमें 21 दिन तक तैयार की हुई पौध की रौपाई की जाती है। इसमें पौधों की आपसी दूरी महज 15 सेमी तक रहती है। इसमें खरपतवार को समाप्त करने के लिए हर वक्त पानी भरा रहना जरूरी है। लेकिन इसी वजह से आद्रता बढ़ जाती है। जिससे कीटों और बीमारियों का प्रकोप बढ़ जाता है।

Spotlight

Most Read

Rampur

टेक्सटाइल्स की जमीन पर फिर अवैध कब्जे

रजा टेक्सटाइल्स की जमीन पर सप्ताह भर के भीतर ही फिर से अवैध कब्जे कर लिए गए। अवैध कब्जे को लेकर पुलिस व प्रशासन से मामले की शिकायत की गई है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी के इस शहर में फिर दिखी हैवानियत

बुलंदशहर में एक बार फिर से गैंगरेप और मर्डर का मामला सामने आया है। कुछ बदमाशों ने यहां एक लड़की को अगवा कर पहले उसके साथ गैंगरेप किया। फिर उसकी हत्या कर दी। पुलिस को लड़की की लाश एक झील से मिली।

5 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper