बिजली-पानी और बबाल

Bulandshahr Updated Fri, 15 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
खुर्जा/जहांगीरपुर। एक तो मौसम के तेवर गर्म, उस पर बिजली कम। बिजली आती भी है तो लो वोल्टेज के साथ यानि सिंचाई का काम भी बंद। नतीजा गुस्सा। बृहस्पतिवार को आखिरकार लोगों का गुस्सा फूटा। जहांगीरपुर में ग्रामीणों ने बिजली घर पर धावा बोलकर दो पावर कर्मियों को बुरी तरह पीटा। इब्राहिमपुर के ग्रामीणों ने सड़क पर उतरकर पावर कारपोरेशन और सिंचाई विभाग के खिलाफ प्रदर्शन किया। और वाजिदपुर में एक माह से जले ट्रांसफार्मर नहीं बदलने पर आंदोलन की चेतावनी।
विज्ञापन

हंगामा- 1 जहांगीरपुर में बिजली कर्मियों को पीटा
बृहस्पतिवार को जहांगीरपुर, गोठनी, नेकपुर और जवां समेत कई गावों के ग्रामीण बाइक पर सवार होकर कॉलेज बस स्टैंड बिजलीघर पहुंचे। ग्रामीणों को बिजली घर पर आता देख एसएसओ ओमप्रकाश सक्सेना और देवेंद्र लाइनमैन रफूचक्कर हो गए। ग्रामीणों ने लाइन मैन रामवीर और मोहित संविदा कर्मी को पकड़ लिया। उन्होंने बिजली कटौती को लेकर पावर कर्मियों को बुरी तरह पीटा और बाइक पर सवार होकर भाग गए। कर्मियों ने समाचार लिखे जाने तक इस मामले की शिकायत पुलिस से नहीं की।
हंगामा-2 इब्राहिमपुर में रजवाहे पर प्रदर्शन
इब्राहिमपुर के करीब दो दर्जन किसान बृहस्पतिवार को हटला आलम रजवाहे के पुल पर पहुंचे। गुस्साए किसानों ने पावर कारपोरेशन और सिंचाई विभाग के खिलाफ प्रदर्शन कर बिजली आपूर्ति और रजवाहों में पानी छोड़ने की मांग की। किसानों ने बताया कि कई दिन से बिजली नहीं आने से नलकूप नहीं चल रहे। रजवाहों में पानी नहीं आने से खेतों में सिंचाई बंद है। सैकड़ों एकड़ जमीन सूखे के कगार पर है। प्रदर्शन करने वालों में सुल्तान सिंह, गुलबीर सिंह, गुलजार सिंह, ब्रजपाल सिंह, दलवीर सिंह, रामखिलाड़ी, बालकिशन, लक्ष्मन सिंह, हरवीर शर्मा आदि किसान मौजूद रहे।
हंगामा -3 जेई को घंटों धूप में बैठाया
किसानों ने बंधक बना खरी-खोटी सुनाई
ऊंचागांव। बिजली समस्या से जूझ रहे सैकड़ों किसानों ने रघुनाथपुर उपविद्युत केन्द्र पर जेई को घंटों धूप में बन्धक बनाकर धरना दिया। बाद में अधिशासी अभियंता के दो दिन में पांच एमवीए का ट्रांसफार्मर लगवाने के आश्वासन पर धरना समाप्त किया गया।
रघुनाथपुर उपविद्युत के न्द्र से सात ग्राम चठहेरा, शकरपुर, रहमतपुर औंगना, नित्यानन्दपुर नगली, मिर्जापुर, भदौरी, प्याना खुर्द, आदि को विद्युत आपूर्ति की जाती है। किसान सभा के क्षेत्रीय मंत्री सूर्यप्रताप सिंह ने कहा कि केंद्र पर तीन एमवीए का ट्रांसफार्मर है, जिसपर क्षमता से अधिक भार है। पावर कारपोरेशन विभाग के अधिकारियों ने मंगलवार तक पांच एमवीए का ट्रांसफार्मर लगाने का आश्वासन दिया था लेकिन उन्होंने उसे पूरा नहीं किया। इसके कारण किसानों ने यह कदम उठाया।
धरने पर पहुंचे अधिशासी अभियन्ता खंड थर्ड ओमपाल सिंह ने दो दिन में इस केन्द्र पर पांच एमवीए का ट्रांसफार्मर रखवाने का आश्वासन दिया है। इस मौके पर किसान वीरपाल सिंह, रणवीर सिंह गंभीर सिंह, रवीकरन सिंह, ओमपाल सिंह, डंबर सिंह, सुनील कुमार आदि उपस्थित थे।
हंगामा-3 वाजिदपुर में आंदोलन की चेतावनी
गांव वाजिदपुर में एक माह से ट्रांसफार्मर फुंका होने के कारण बिजली आपूर्ति नहीं हो रही है। नलकूप नहीं चल पाने के कारण किसानों की फसल बर्बादी हो रही है। आरोप है कि कई बार शिकायत करने के बावजूद पावर कारपोरेशन कर्मचारियों ने ट्रांसफार्मर नहीं बदला। गुस्साए ग्रामीणों ने जल्द समस्या का समाधान नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।
कोट : जनरेशन में कमी और ओवर लोडिंग के कारण एलटी और एचटी लाइनें टूट रहीं हैं। उन्होंने कहा कि ट्रांसफार्मर बदलने के लिए एसडीओ को निर्देश दिए गए हैं। - आनंद पांडेय, अधिशासी अभियंता, पावर कारपोरेशन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us