विज्ञापन

गेहूं का कम रेट मिलने पर भड़के किसान

Bulandshahr Updated Sun, 03 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
भाकियू ने मंडी इंस्पेक्टर को बंधक बनाकर दिया धरना
विज्ञापन

औरंगाबाद। कृषि उत्पादन मंडी में सरकारी रेट पर गेहूं की खरीद नहीं करने पर किसानों और भाकियू कार्यकर्ताओं ने मंडी इंस्पेक्टर को बंधक बनाकर परिसर में हंगामा कर धरना दिया। इंस्पेक्टर के 1285 रुपये के रेट पर खरीद करने का भरोसा देने पर उसे मुक्त किया गया।
भारतीय किसान यूनियन के युवा इकाई के जिलाध्यक्ष गुड्डू प्रधान पसौली के नेतृत्व में दर्जनों किसान औरंगाबाद की कृषि उत्पादन मंडी में पहुंचे। किसानों ने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार के घोषित 1285 के रेट बजाए व्यापारी 1120 रुपये में गेहूं की खरीद कर रहे हैं। इस पर भाकियू कार्यकर्ता भड़क गए। उन्होंने मंडी इंस्पेक्टर पर मिली भगत का आरोप लगाया। गुस्साए भाकियू कार्यकर्ताओं ने मंडी इंस्पेक्टर सतवीर सिंह को बंधक बना लिया और धरने पर बैठ गए।
गुड्डू प्रधान ने कहा कि समर्थन मूल्य 1285 से कम कोई भी व्यापारी मंडी में गेहूं लेता हुआ पाया गया तो उसकी दुकान तत्काल बंद करवा दी जाएगी। किसानों का शोषण कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जिला संगठन मंत्री ब्रज प्रधान ने कहा कि मंडी इंस्पेक्टर और व्यापारियों के बीच किसान पिस रहे हैं। धरने के दौरान गांव चरौरा मुस्तफाबाद निवासी एक किसान का गेहूं मंडी इंस्पेक्टर ने 1285 रुपये की दर से तौल कराकर व्यापारी से नगद भुगतान दिलाया। इंस्पेक्टर ने कार्यकर्ताओं को आश्वासन दिया कि मंडी में किसानों का शोषण नहीं होगा और उन्हें पूरा रेट मिलेगा। इस पर भाकियू ने धरना समाप्त कर इंस्पेक्टर को मुक्त किया। गोपाल महंत, कालू सिरोही, राजकुमार फौजी यशपाल पवार, बिट्टू ठाकुर, रंजीत सिंह, हुकुमसिंह, सतेंद्र सिंह, पंकज चौधरी, रोहित कुमार, दीपक सिंह, विकास सिरोही, अंकुर सिरोही, सुरजीत सिंह, बसंत सिंह आदि धरने पर बैठे।
एडीएम ने गेहूं खरीद में तेजी लाने को कहा
बुलंदशहर। जिले में गेहूं खरीद पर शनिवार को एडीएम वित्त राजेंद्र सिंह ने समीक्षा बैठक की। बैठक में उन्होंने गेहूं खरीद पर नाराजगी व्यक्त करते हुए सभी क्रय केंद्र प्रभारियों को गेहूं खरीद तेज करने निर्देश दिए। कलक्ट्रेट में हुई समीक्षा बैठक में एडीएम ने कहा कि गेहूं खरीद में यदि केंद्रों पर कोई गड़बड़ी या अनियमितताएं पाई जाती हैं तो इसके लिए केंद्र प्रभारी को उत्तरदायी मानते हुए कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि गेहूं खरीद की स्थिति अभी ठीक नही हैं। 131845 मीट्रिक टन गेहूं खरीद का लक्ष्य मिला है। लक्ष्य की पूर्ति जल्दी करें। उप विपणन अधिकारी, एफसीआई, पीसीएफ, यूपी एसएस कर्मचारी कल्याण निगम और अन्य एजेंसियों के अधिकारी मौजूद रहे।

एडीएम को क्रय केंद्र पर बंद मिली खरीद
सिकंदराबाद। एडीएम (वित्त) ने शनिवार को एनएच-91 के गेहूं खरीद केंद्र पर छापा मारा। उन्हें केंद्र पर गेहूं खरीद बंद मिली। एसडीएम ने केंद्र प्रभारी को नोटिस जारी किया। गेहूं खरीद केंद्रों पर गड़बड़ी थमने का नाम नहीं ले रही हैं। शनिवार को गेहूं खरीद का जायजा लेने के लिए एडीएम (एफ) राजेंद्र सिंह रोडवेज बस अड्डे के सामने गेहूं खरीद केंद्र पर पहुंचे। केंद्र पर गेहूं खरीद चौपट मिली। एडीएम ने खरीद बंद होने का कारण पूछा तो प्रभारी ने संतोषजनक जवाब नहीं दिया। एडीएम ने एसडीएम को क्रास चेकिंग की जिम्मेदारी दी। केंद्र के बाहर खड़े किसानों ने एडीएम से केंद्र प्रबंधन की शिकायत की। बाद में एसडीएम ने केंद्र का निरीक्षण किया तो तब भी खरीद बंद मिली। एसडीएम ने केंद्र प्रभारी को नोटिस दिया है। उधर, चोला और शाहपुर केंद्र पर खरीद बंद है।
बारदाना होने पर भी तौल बंद
अनूपशहर। एसडीएम शीतल प्रसाद गुप्ता ने पीसीएफ द्वारा मोहरसा दरावर क्रय केंद्र का औचक निरीक्षण किया। केंद्र पर करीब 900 खाली बोरे होने के बाद भी 17 मई से गेहूं खरीद बंद मिली। खाली बोरे होने के बाद भी खरीद बंद होने पर उन्होंने सचिव पर कारवाई की संस्तुति की।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us