विज्ञापन

आखिर कब दूर होंगी परेशािनयां

Bulandshahr Updated Tue, 08 May 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
सरकारी गेहूं क्रय केंद्रों पर कम नहीं हो रही किसानों की मुश्किलें
विज्ञापन
विज्ञापन
जिले के सरकारी गेहूं क्रय केंद्रों पर बदइंतजामी के कारण किसानों की परेशानियां कम नहीं हो रही हैं। सोमवार को छतारी स्थित केंद्रीय उपभोक्ता भंडार क्रय केंद्र पर चार दिन से गेहूं खरीद बंद होने से गुस्साए किसानों ने हंगामा किया तो वहीं गांव रिझौड़ा के किसानों ने धांधली और उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए डीएम से शिकायत की है। उधर, खुर्जा क्षेत्र के किसानों ने किसान सभा के नेतृत्व में तहसील मुख्यालय पर प्रदर्शन कर आठ सूत्रीय ज्ञापन सौंपा।
बारदाने की कमी से नहीं खरीदा जा रहा है गेहूं
सिकंदराबाद। गेहूं खरीद केद्रों पर बारदाने की कमी से दो-दो दिन खड़े रहने के बाद भी गेहूं की तुलाई नहीं हो रही है। इससे किसान परेशान हैं।सरकारी खत्ती दनकौर अड्डा सहित किसान सेवा सहकारी समिति जीटी रोड, शेरपुर, पीर बियावनी, पीसीएफ बिलसूरी, सीएमएम सिकंदरबाद, एफएसएस चोला, सहकारी समिति ककोड़, सलेमपुर जाट, बड़ौदा शाहपुर कलां, साधन सहकारी समिति पर वारदाने की कमी है। गेहूं की खरीद न होने से रसूलपुर रिठौरी, जैतपुर, अमीरपुर बांगर, अमीनाबाद फकीरगढ़ी, सरायदूल्हा, मिजामपुर, सुखलालपुर, जौली, पीर बियावानी, लाठौर, अगवाना, चोला, कोंदू, पंचगई, ककोड़, नगला गोविंदपुर गांवों के किसान परेशान हैं।

वारदाने और भुगतान की व्यवस्था करवाई जा रही है। भुगतान के लिए एफसीआई को पत्र लिखा गया है। पेंडिंग भुगतान जल्द कराया जाएगा।
- अली हसन कर्नी, एसडीएम सिकंदराबाद


छतारी क्रय केंद्र बंद होने पर हंगामा
छतारी। न्याय पंचायत छतारी स्थित केंद्रीय उपभोक्ता भंडार क्रय केंद्र पर चार दिन से गेहूं खरीद बंद होने से गुस्साए किसानों ने सोमवार को हंगामा किया। किसानों ने आरोप लगाया कि वारदाना खत्म होने से केंद्र इंचार्ज भी नदारद है। क्रय केंद्र से जुड़े एक दर्जन से अधिक गांवों के सैकड़ों किसान फसल नहीं बिकने के कारण परेशान हैं। किसानों ने प्रदर्शन कर तहसील प्रशासन से खरीद शुरू कराने की मांग की। प्रदर्शन में महेश फौजी, जयपाल, हरपाल सिंह, कृष्ण कुमार, सुखपाल, जितेंद्र, अशोक, ओमप्रकाश, महेश, संजय समेत अनेक किसान मौजूद रहे।



किसान सभा ने किया प्रदर्शन
खुर्जा । किसानों ने सोमवार को किसान सभा के नेतृत्व में तहसील मुख्यालय पर प्रदर्शन कर आठ सूत्रीय ज्ञापन सौंपा। किसान सभा के जिलाध्यक्ष मेघराज सिंह सोलंकी का कहना है कि गेहूं अच्छी पैदावार के बाद भी तहसील क्षेत्र के 194 गांवों में महज 15 क्रय केंद्र खोले गए हैं। केंद्रों से किसानों को लौटाया जा रहा है। ज्ञापन में किसान सभा ने गेहूं का बकाया भुगतान कराने, 18 घंटे बिजली आपूर्र्ति, पांच हॉर्स पावर के तीन फेस विद्युत कनेक्शन, ट्रांसफार्मर और जर्जर तार बदलने, पानी निकासी के लिए बारिश सीजन से पहले नालों की सफाई आदि मांगे रखीं हैं। तहसीलदार युगराज सिंह ने समस्या के समाधान का आश्वासन दिया है। जगदीश, मीरपाल, नरेश, भरत, विष्णुदत्त त्यागी, अनिल त्यागी, जगवीर, अनिल, नौरंग, रज्जन, राजेंद्र, सुखवीर, अजीत, सोमचंद, राजेंद्र, कर्मवीर, सुंदरपाल, बिजेंद्र और सोनू समेत अनेक किसान मौजूद रहे। एसडीएम डीपी सिंह का कहना है कि किसानों की समस्या को देखते हुए धराऊं, खबरा, बीघेपुर में तीन नये क्रय केंद्र खोलने का प्रस्ताव डीएम को भेजा गया है।

Recommended

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें और प्रसाद की होम डिलीवरी पायें
त्रिवेणी संगम पूजा

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें और प्रसाद की होम डिलीवरी पायें

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Delhi NCR

राष्ट्रीय बालिका दिवस: अमर उजाला की अनूठी पहल, कार्यस्थल पर बेटियों के साथ शेयर करें सेल्फी

आपसे अपील है कि 23 व 24 जनवरी को अपनी बेटी को अपने कार्यस्थल-प्रतिस्थान पर लाएं। अपनी कुर्सी पर बैठाकर उसके साथ सेल्फी लें और हमें भेजें

22 जनवरी 2019

विज्ञापन

बुलंदशहर में दलदल में फंसे तीन गोवंश, युवाओं ने जान जोखिम में डाल दो को निकाला

यूपी में गोवंश को पकड़ कर गौशाला में भेजने की यूपी सरकार ने पहल की है, लेकिन अभी भी सूबे में कई इलाकों गाय किसानों की फसल को नुकसान पहुंचा रही हैं।

23 जनवरी 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree