स्कूल का छज्जा गिरा, छह बच्चे घायल

Bulandshahr Updated Wed, 02 May 2012 12:00 PM IST
खुर्जा। किला मेवई गांव में मंगलवार सुबह अवैध रूप से चल रहे स्कूल के मेन गेट के ऊपर बना छज्जा गिरने से छह बच्चे घायल हो गए। छज्जा गिरने पर स्कूल में कई बच्चे मलबे में दब गए। इससे वहां चीख-पुकार मच गई। ग्रामीणों ने मौके पर पहुंच कर घायलों को मलबे से निकाला और सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। चिकित्सकों ने गंभीर रूप से घायल दो बच्चों को जिला अस्पताल रेफर किया। गुस्साए ग्रामीणों ने स्कूल संचालक को पकड़कर पीट दिया।
किला मेवई गांव में उसमापुर रोड पर जय मां सरस्वती विद्या मंदिर स्कूल में मंगलवार को नर्सरी से कक्षा पांच तक के बच्चों की सुबह आठ बजे परीक्षा थी। कुछ बच्चे साढ़े सात बजे स्कूल गेट पर पहुंच गए। स्कूल का गेट नहीं खुलने के कारण बच्चे मेन गेट के पास खड़े हो गए। इस दौरान अचानक मेन गेट पर बना छज्जा गिर पड़ा। इससे मलबे में दबकर किला मेवई निवासी अरुण (8 साल) और मनीष (11 साल) पुत्र राजू, मनीष (8 साल) पुत्र नेत्रपाल, उजाला (11 साल), अंजलि (7 साल) पुत्री राजपाल और चंचल (10 साल) पुत्री सतवीर घायल हो गई। हादसे में उजाला पुत्री राजपाल को काफी चोट आई है। उसके शरीर में तीन जगह फैक्चर हैं। स्कूल के छात्र मनीष पुत्र राजेश को भी काफी चोट लगी है। बच्चाें की चीख-पुकार सुनकर परिजन और ग्रामीण मौके पर पहुंचे और घायलों को मलबे से निकाल कर सरकारी अस्पताल ले गए। चिकित्सकों ने गंभीर रूप से घायल मनीष और उजाला को जिला अस्पताल बुलंदशहर रेफर किया। हादसे की खबर पाकर अस्पताल पहुंचे स्कूल संचालक राकेश को गुस्साए ग्रामीणों ने पकड़ लिया और उसकी धुनाई कर दी।

अस्पताल पहुंचे अधिकारी
बुलंदशहर। खुर्जा के गांव किला मेवई स्थित प्राइवेट स्कूल का छज्जा गिरने से घायल बच्चों को देखने बीएसए रमेश चंद्र वर्मा अस्पताल पहुंचे। उन्होंने बताया कि स्कूल बिना मान्यता के चल रहा था। उन्होंने बताया कि जिले में बिना मान्यता के चल रहे विद्यालयों को चिन्हित करने का काम चल रहा है। जहां-जहां जर्जर स्कूल भवनों में बच्चे पढ़ रहे हैं उन्हें भी चिन्हित किया जा रहा है। इसकी सूची तैयार कर स्कूल संचालकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। वहीं, हादसे की सूचना मिलने के बाद एबीएसए अनिल कुमार और तहसीलदार युगराज सिंह सरकारी अस्पताल पहुंचे। दोनों अफसरों ने अस्पताल में घायल बच्चों का हाल-चाल पूछा और परिजनों को ढांढस बंधाया।

क्षेत्र के कई स्कूल बदहाल
खुर्जा। गांव मूंड़ा खेड़ा के प्राइमरी विद्यालय जर्जर हालत में है। अभिभावक और ग्रामीण विद्यालय की मरम्मत कराने के लिए कई बार प्रदर्शन कर चुके हैं। नगर के मंडी दान गंज स्थित प्राइमरी स्कूल दो दशक पुराने भवन में छत पर चलाया जा रहा है। छह माह पहले गांव किर्रा में स्कूल भवन निर्माण में धांधली का आरोप लगा ग्रामीणों ने हंगामा किया था। साढ़े तीन माह पहले गांव देवराला में विद्यालय भवन निर्माण के दौरान ग्रामीणों ने धांधली का आरोप लगाया था। अरनियां क्षेत्र के गांव सूरतपुर कलां और गंगावली में भी स्कूल भवन निर्माण में धांधली के आरोप लग चुके हैं।

संचालक फरार
हादसे के बाद से संचालक मौके से फरार हो गया। संचालक के मोबाइल पर संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन स्विच ऑफ होने के कारण संपर्क नहीं हो सका।

अवैध था निर्माण
ग्रामीणों की माने तो संचालक ने मेन गेट का निर्माण अवैध रूप से किया था। मेन गेट को रास्ते पर बनाया है। साथ ही निर्माण से पूर्व खुर्जा विकास प्राधिकरण या अन्य किसी प्रशासनिक अधिकारी से भी अनुमति नहीं ली थी।

मची अफरा-तफरी
स्कूल में हुए हादसे की खबर मिलते ही घटनास्थल पर पहुंचने के बाद परिजन और ग्रामीण सरकारी अस्पताल की ओर दौड़ पड़े। कई बदहवास अभिभावक अस्पताल में अपने लाडलों को ढूंढते रहे। अस्पताल के बाहर भीड़ लग गई।

कब तक बच्‍चे होते रहेंगे हादसे का शिकार
खुर्जा। तहसील क्षेत्र में कई विद्यालयों की इमारतें जर्जर हालत में हैं। हादसे के बाद अफसर ठोस दावे करते हैं और कुछ दिन बाद ही उनके दावों की हवा निकल जाती है। साढ़े तीन माह पहले पहासू कस्बे स्थित सुमन कुमारी सरस्वती ज्ञान मंदिर विद्यालय की जर्जर छत पर बैठकर परीक्षा दे रहे मासूम मलबे के साथ नीचे आ गिरे थे। तीस छात्र गंभीर घायल हो गए थे। हादसे के बाद बीएसए ने बिना मान्यता और जर्जर स्कूल के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही थी।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ताबड़तोड़ डकैतियों से हिली सरकार, प्रमुख सचिव ने अधिकारियों को किया तलब

राजधानी में एक हफ्ते के अंदर हुई ताबड़तोड़ डकैती की वारदातों ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

बुलंदशहर की ये बेटी पाकिस्तान को कभी माफ नहीं करेगी, देखिए वजह

पाकिस्तान की नापाक हरकतों की वजह से शुक्रवार को बुलंदशहर के रहने वाले जगपाल सिंह शहीद हो गए। जगपाल सिंह एक दिन बाद अपनी बेटी की शादी के लिए घर आने वाले थे।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper