यूपी बोर्ड की जांची 99 हजार कॉपियां

Bulandshahr Updated Tue, 01 May 2012 12:00 PM IST
बुलंदशहर। नगर के दो मूल्यांकन केंद्रों पर अब तक यूपी बोर्ड की 99 हजार कॉपियां जांची जा चुकी हैं। दोनों केंद्रों पर सोमवार को 25 हजार उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन हुआ। 127 परीक्षक और 18 डीएचई केंद्र से अनुपस्थित रहे।
यूपी बोर्ड परीक्षा का मूल्यांकन कार्य 26 अप्रैल से शुरू होने के बाद अब तक डीएवी इंटर कॉलेज में हाईस्कूल की 35 हजार कॉपियां जांची जा चुकी हैं। सोमवार को सात हजार कॉपियों का मूल्यांकन किया गया। राजकीय इंटर कॉलेज में इंटरमीडिएट की अब तक 64 हजार कॉपियां जंच चुकी हैं। इनमें से 18 हजार उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन सोमवार को हुआ।
सोमवार को मूल्यांकन कार्य में डीएवी इंटर कॉलेज में 441 परीक्षकों में से 107 और 43 डीएचई में से 18 अनुपस्थित रहे। राजकीय इंटर कॉलेज मूल्यांकन केंद्र पर 382 परीक्षकों में से 20 अनुपस्थित रहे। उधर, डीआईओएस रामाज्ञा कुमार ने बताया कि अनुपस्थित चल रहे परीक्षकों के खिलाफ कार्रवाई होगी।
50 नकलची पकड़े गए
गुलावठी। मोहाना स्थित डॉ. राममनोहर लोहिया चौबीसा महाविद्यालय के वरिष्ठ केंद्र अधीक्षक डॉ. सुनील गोयल ने कहा कि केंद्र पर नकलचियों पर नकेल कसी गई है।
डॉ. गोयल ने बताया कि करीब 1500 परीक्षार्थी केंद्र पर परीक्षा के लिए पंजीकृत हैं। प्रतिदिन 400 से 500 परीक्षार्थी परीक्षा देते हैं। अब तक 50 नकलची पकड़े गए हैं। आंतरिक उड़नदस्ते ने 45 तथा विश्वविद्यालय के उड़नदस्ते ने पांच नकलचियों को पकड़ा है।

आंसर शीट में मिल रहे एक जैसे उत्तर
बुलंदशहर। यूपी बोर्ड परीक्षा में किस प्रकार नकल हुई है इसका अंदाजा जंच रही कॉपियों से लगाया जा सकता है। मूल्यांकन के दौरान एक ही बंडल की कॉपियों पर लिखे उत्तर एक जैसे मिल रहे हैं।मूल्यांकन केंद्रों परिक्षक यह देख कर हैरान रह गए कि सभी उत्तरपुस्तिकाओं में एक जैसा उत्तर लिखा हुआ है। खास बात यह है कि ये उत्तर भी शब्द और वाक्य दर वाक्य मिल रहे हैं। इससे स्पष्ट हो रहा है कि बोल कर सामूहिक नकल कराई गई है। कॉपियों में गाइड के तर्ज पर लिखे हुए उत्तर मिल रहे हैं। इतना ही नहीं कॉपियों में उत्तर लिखने का क्रम भी लगभग समान ही है। दूसरी ओर पास करने की फरियाद लिखी कॉपियां भी सामने आ रही है। डीएवी इंटर कॉलेज के उप नियंत्रक अजय अग्रवाल ने बताया कि कई छात्र कॉपियों में प्रश्नपत्रों के खंडों में गड़बड़ी कर देते हैं। किसी खंड का उत्तर दूसरे खंड में दे देते हैं। ऐसे में परीक्षकों को कॉपियां जांचने दिक्कत आ रही है। परीक्षकों को खंडों को सही कर अंक देने की हिदायत दी गई है।

Spotlight

Most Read

Pratapgarh

अभी तक एक भी अपात्र से नहीं हुई रिकवरी

अभी तक एक भी अपात्र से नहीं हुई रिकवरी

20 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी के इस शहर में फिर दिखी हैवानियत

बुलंदशहर में एक बार फिर से गैंगरेप और मर्डर का मामला सामने आया है। कुछ बदमाशों ने यहां एक लड़की को अगवा कर पहले उसके साथ गैंगरेप किया। फिर उसकी हत्या कर दी। पुलिस को लड़की की लाश एक झील से मिली।

5 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper