एक मिनट की देरी पर भी नहीं मिलेगा प्रवेश

Meerut Bureau मेरठ ब्यूरो
Updated Tue, 18 Feb 2020 12:33 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
एक मिनट की देरी पर भी नहीं मिलेगा प्रवेश
विज्ञापन

बिजनौर। जिले में सीबीएसई परीक्षा बीस फरवरी से शुरू है। परीक्षा के लिए 19 केंद्र बनाए गए हैं। सीबीएसई ने इस बार परीक्षा में कई बदलाव किए हैं। बोर्ड नियमों के अनुसार परीक्षा में एक मिनट की देरी होने पर भी परीक्षा केंद्र में प्रवेश नहीं मिलेगा।
सीबीएसई परीक्षा की जिला कोआर्डिनेटर सीमा विश्वास ने बताया कि जिले में सीबीएसई के 101 कॉलेज हैं। परीक्षा में हाईस्कूल के 5773 तथा इंटरमीडिएट के 4016 अर्थात कुल 9789 छात्र-छात्राएं शामिल होंगे। बताया कि परीक्षा के लिए 19 केंद्र हैं। इनमें बिजनौर और धामपुर सर्किल में पांच-पांच, चांदपुर व नूरपुर सर्किल में दो-दो, नजीबाबाद सर्किल में चार तथा नगीना सर्किल में मात्र एक परीक्षा केंद्र है। जिले में परीक्षा का पहला पेपर 20 फरवरी को है। इस बार बोर्ड ने परीक्षा की व्यवस्थाओं को टाइट कर दिया है। प्रथम पाली की परीक्षा के लिए परीक्षार्थियों को ठीक दस बजे तक परीक्षा केंद्र पर पहुंचना है। एक मिनट की देरी होने पर भी एंट्री नहीं मिलेगी। छात्र अपना ओरिजनल एडमिट कार्ड लाएं। फोटो कॉपी मान्य नहीं है। परीक्षा केंद्र पर जिन कॉलेज के छात्र-छात्राएं परीक्षा दे रहे हैं, उन कॉलेज का एक-एक टीचर प्रवेश गेट पर रहेगा। टीचर अपने कॉलेज के परीक्षा देने वाले सभी छात्रों के एडमिट कार्ड की प्रमाणित फोटो कापी लेकर आएं। छात्र का एडमिट कार्ड खो जाने पर टीचर छात्र को एडमिट कार्ड की फोटो कापी मौके पर ही देंगे। छात्र-छात्राएं यूनिफॉर्म में आएं तथा अपने कॉलेज का आई कार्ड लेकर आएं। प्राइवेट परीक्षार्थी लाइट कलर का ड्रेस में आएं।

परीक्षा में इलेक्ट्रानिक डिवाइस पर है पाबंदी
बिजनौर। सीबीएसई परीक्षा की जिला कोआर्डिनेटर सीमा विश्वास ने बताया कि परीक्षार्थी में किसी भी प्रकार का इलेक्ट्रानिक डिवाइस लेकर नहीं आएं। मोबाइल व केलकुलेटर पकड़े जाने पर नकल माना जाएगा। छात्र इसको लेकर सतर्कता बरतें। मोबाइल बाहर रखकर केंद्र पर आएं। इस बारे में बोर्ड ने कॉलेज को भी निर्देश भेजे हैं, ताकि कॉलेज परीक्षार्थियों को आगाह कर दें।
इस बार आठ डिजिट का है रोल नंबर
बिजनौर। सीबीएसई परीक्षा की जिला कोआर्डिनेटर सीमा विश्वास ने बताया कि छात्रों के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात अनुक्रमांक अर्थात रोल नंबर को लेकर है। अब तक छात्रों का रोल नंबर सात डिजिट का था, लेकिन इस बार छात्रों का रोल नंबर आठ डिजिट का है। इसमें सात डिजिट बाक्स के अंदर लिखा जाएगा तथा एक डिजिट बाहर रहेगा। छात्र बाहर वाली डिजिट पहले भरेगा।
पेपर का कोड नंबर सावधानी से भरें
बिजनौर। सीमा विश्वास ने बताया कि छात्रों को पेपर का कोड नंबर भरने में भी सावधानी रखनी है। इस बार छात्रों के पेपर का कोड नंबर अलग-अलग है। एक कमरे में अलग-अलग कोड नंबर के पेपर होंगे। छात्र अपनी कापी पर पेपर का कोड नंबर ठीक से भरें। गलत कोड नंबर अंकित करने पर छात्र को नुकसान उठाना पड़ सकता है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X