विज्ञापन
विज्ञापन

गांवों में बेटियां बनेंगी ‘बेटी बचाओ’ अभियान की ब्रांड एंबेसडर

ब्यूरो, अमर उजाला/ बिजनौर Updated Sun, 16 Jun 2019 11:06 PM IST
demo
demo - फोटो : demo
ख़बर सुनें
बिजनौर में बेटियों को बचाने के लिए शुरू किया गया अभियान अब गांव स्तर पर जाएगा। ग्राम पंचायत विकास की कार्ययोजना में बेटियों को बचाने के लिए चर्चा की जाएगी। जो भी बेटी शिक्षा, खेल या किसी अन्य क्षेत्र में गांव का नाम रोशन कर रही है उसे गांव की ब्रांड एंबेसडर बनाया जाएगा। उसकी मिसाल देकर बेटियों को बचाने का प्रयास किया जाएगा। गांव में जो भी दंपति होंगे, उनकी काउंसलिंग की जाएगी। कन्या भ्रूण हत्या के खिलाफ एक-एक परिवार को जागरूक किया जाएगा।
विज्ञापन
विज्ञापन
बेटी है तो कल है, बेटी के बिना समाज की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। बेटियों को बचाने और पढ़ाने के लिए सरकारी, सामाजिक स्तर पर अनेक प्रयास किए जा रहे हैं। लेकिन बेटियों को बचाने के लिए अब केवल सामाजिक अभियान ही काफी नहीं है। इस अभियान को अब आंदोलन बनाना होगा। 2011 की जिले की जनगणना के अनुसार जिले में बेटियों का लिंगानुपात प्रति एक हजार लड़कों पर 917 था। लेकिन केंद्र सरकार द्वारा कराए गए एक सर्वे में और भयावह आंकड़े सामने आए हैं। जिले में छह साल तक आते आते 917 में से 117 बेटियां दम तोड़ जाती हैं। छह साल बाद बेटियों का लिंगानुपात जिले में 800 ही रह जाता है। यानि छह साल तक होते होते एक हजार बेटों पर जिले में केवल 800 बेटियां ही जीवित रहती हैं। चाहे जो भी वजह हो, 917 में से 117 बेटियां छह साल तक होते होते काल के गाल में समा जाती हैं।





बेटियों को बचाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान भी चलाया जा रहा है। जिले में भयावह लिंगानुपात को देखते हुए जिले को भी इस योजना में शामिल किया गया है। इस योजना को अब बड़ा रूप देकर गांवों में घर घर ले जाया जाएगा। गांवों में विकास कार्यों से जुड़ी ग्राम पंचायत विकास की कार्ययोजना की खुली बैठक होती है। बैठक में अब बेटी, बचाने बेटी पढ़ाने का मुद्दा भी उठाया जाएगा। देखा जाएगा कि गांव में लिंगानुपात कितना है। गांव वालों को बेटी बचाने के लिए टिप्स दिए जाएंगे। बेटियों की सफलता गांव की चौपालों में सुनाई जाएंगी। साथ ही गांव की जो बेटी किसी क्षेत्र में नाम रोशन कर रही है उसे गांव का ब्रांड एंबेसडर बनाया जाएगा। ब्लॉक व जिला स्तर पर भी ऐसी बेटियों को एंबेडसर बनाया जाएगा। बेटियों को बचाने के लिए महिलाओं से ज्यादा जागरूकता पुरूषों में लाई जाएगी। उन्हेें बताया जाएगा कि हर बेटी के भाग्य में पिता होता है, लेकिन हर पिता के भाग्य में बेटी क्यों नहीं है। बेटियों का पिता बन पिताओं को भाग्यशाली होने के बारे में जागरूक किया जाएगा।
जिला प्रोबेशन अधिकारी संजय कुमार के अनुसार बेटी ईश्वर का वरदान है। बेटी के बिना कोई समाज नहीं है। बेटियों को बचाने के लिए ग्राम विकास समितियों की खुली बैठक में इन मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। अच्छा काम कर रही बेटियों को गांव की ब्रांड एंबेसडर बनाया जाएगा।




योजना में ये होगा काम
बेटियों के पैदा होने पर उत्सव मनाए जाएंगे। कोई तारीख तय कर अस्पतालों, गांवों आदि में उत्सव का आयोजन किया जाएगा। किसी महीने में किसी अस्पताल या गांव में जितनी भी परिवारों में बेटी हुई हैं, उन्हें कार्यक्रम में आमंत्रित किया जाएगा। अभियान में यह भी देखा जाएगा कि गांव में कितनी महिलाएं गर्भवती थीं और कितनी का प्रसव हुआ है। इससे यह पता किया जाएगा कि गर्भवती महिलाओं की संख्या के सापेक्ष कम प्रसव हुआ है तो इसका क्या कारण है। कहीं किसी परिवार ने कन्या भ्रूण हत्या तो नहीं की है। ऐसे परिवार की महिलाओं से बात की जाएगी।

रंग ला रही मुहिम
पिछले कुछ सालों में बेटियों को बचाने के लिए चलाई जा रही मुहिम के सकारात्मक परिणाम भी सामने आए हैं। पहले जिले में प्रति एक हजार बेटों पर बेटियों का अनुपात 882 था। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार जागरूकता अभियान के असर के चलते 2017 में बेटियों का अनुपात प्रति एक हजार बेटों पर 920 बेटी तक पहुंच गया था। अब यह आंकड़ा बढ़कर 938 हो गया है।





वर्ष                बेटे        बेटी
2015-16    1000        894
2016-17    1000        882
2017-18    1000        920
2018-19    1000        938
नोट:उक्त आंकड़े स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट पर आधारित हैं। ये आंकड़े अस्पतालों में हुए प्रसव पर आधारित हैं।





पालिका        पुरुष            महिलाएं    लिंगानुपात
बिजनौर        49055        44242        901
नजीबाबाद    46372        42163        909
नगीना        49890        45356        909
शेरकोट        32369        29857        922
किरतपुर        31999        29947        935
स्योहारा        28065        25231        890
धामपुर        26608        24389            916
नहटौर        24947        22887        917
हल्दौर        10245        9322        909
अफजलगढ़    15215        13886    912
नूरपुर            20044        18762     936
चांदपुर        43354        40087        924





नगर पंचायत स्तर पर महिलाएं
झालू           10893    10085       925
मंडावर        11119      9959        895
सहसपुर       12822     11641        907
साहनपुर       11303    10336        937
जलालाबाद    10600    9760          920
बढ़ापुर        11911     11545        969





ब्लॉक स्तर पर महिलाएं
नजीबाबाद    180610    164680    911
किरतपुर    91787        83978    911
देवमल    136295    122387    897
खारी        120486    108316    898
कोतवाली    186909    174921    935
अफजलगढ़    123199    113265    919
नहटौर        101888    94819    930
अल्लैहपुर    120861    111786    924
बूढ़नपुर    95117        86972    913
जलीलपुर    131322    119643    911
नूरपुर        150050    138367    922
जिले का कुल लिंगानुपात                 917
नोट:ये आंकड़े 2011 की जनगणना पर आधारित हैं।

Recommended

इन्वर्टिस यूनिवर्सिटी में 'अभिरुचि' से निखारी जाती है छात्रों की प्रतिभा
Invertis university

इन्वर्टिस यूनिवर्सिटी में 'अभिरुचि' से निखारी जाती है छात्रों की प्रतिभा

समस्या कैसे भी हो, हमारे ज्योतिषी से पूछें सवाल और पाएं जवाब मात्र 99 रूपये में
Astrology

समस्या कैसे भी हो, हमारे ज्योतिषी से पूछें सवाल और पाएं जवाब मात्र 99 रूपये में

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Meerut

यूपी: जिला सहकारी बैंक की मेल आईडी हैक, मुख्य शाखा से मांगे 15 लाख, ऐसे हुआ खुलासा

जिला सहकारी बैंक की ईमेल आईडी को हैकर ने हैक कर लिया। हैकर ने बैंक खाते के बजाए अपना खाता मेल आईडी में लिखकर उत्तर प्रदेश कोऑपरेटिव बैंक से 15 लाख रुपये भी मांग लिए। ऐसे हुआ खुलासा...

19 जुलाई 2019

विज्ञापन

बिजली चोरी रोकने के लिए मोदी सरकार का मेगा प्लान तैयार

बिजली चोरी रोक कर 24 घंटे बिजली सप्लाई करने का बड़ा प्लान नरेंद्र मोदी सरकार ने तैयार किया है। खबरों की माने तो मोदी सरकार 3 स्तरीय प्लान में ईमानदार बिजली ग्राहकों को 24 घंटे बिजली सप्लाई करेगी।

18 जुलाई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree