शायरों ने लूटी खूब वाहवाही

Bijnor Updated Fri, 22 Nov 2013 05:42 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
नहटौर। तूफानी काफिला एक्सप्रेस के तत्वाधान में एक मैरिज हाल में आयोजित 24वें ऑल इंडिया मुशायरा व कवि सम्मेलन में कवियों अपने कलाम व रचनाएं पेशकर खूब वाहवाही लूटी। कौमी एकता, धर्मनिपेक्षता को बढ़ाने के लिए सम्मेलन संयोजक इमामुद्दीन भारती को डीएम अजयदीप सिंह ने शॉल ओढाकर सम्मानित किया।
विज्ञापन

मुशायरे का आगाज देवबंद से तशरीफ लाए डा. नदीम शाह देवबंदी व खुर्शीद हैदर मुजफ्फरनगरी ने नाते पाक से किया। अना देहवी ने फरमाया - एक उम्र में आते है आदाब मुहब्बत के, लम्हों में नहीं होती सदियों की राना साई। खुर्शीद हैदर मुजफ्फरनगरी का यह श्ेर खूब पसंद किया गया- वो इस शोहरत की मंजिल तक वाआसानी नहीं पहुंचा, उसे इस राह पर सौ बार ठुकराया गया होगा। कलीम सहारनपुरी ने कहा - खत्म होता बहुत पहले, ताआल्लुक उनसे ,फैसला करने में क्या देर लगा दी हमने। डा. जाहिद एहसास का यह शेर भी कई बार सुना गया -खुसुसी तौर पर जो हक जताता है, वह झूठा है, किसी भी फर्दे वाहिद की नहीं, उर्दू सभी की है। महनाज बरेलवी ने कहा कि इस कदर याद तुझको किया है, आंसुओं से बजू कर लिया है। इनके अतिरिक्त सज्जाद झंझट, सुनील उत्सव, डा. नदीम शाह, कासिर सहसबानी, अतहर आजमी आजमगढ़ी, तरूण सागर, अजीजुर्रहमान अजीज ने अपनी शायरी में खूब दाद बटौरी। कार्यक्रम का उद्घाटन डीएम अजयदीप सिंह ने फीता काटकर किया।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us