मुफ्त के लाभ से कोसों दूर हैं किसान

Bijnor Updated Sat, 01 Dec 2012 12:00 PM IST
बिजनौर। जागरूकता के अभाव में जिले के किसान मुफ्त का लाभ भी नहीं ले रहे हैं। इफ्को की मुफ्त दुर्घटना बीमा योजना में लाभ पाने को जिले से हर साल औसतन 36 किसान आवेदन कर रहे हैं। खास बात यह है कि अन्य संस्थाओं से इफ्को खाद खरीदते वक्त अधिकांश किसान रसीद नहीं लेते। इस कारण संबंधित किसान भी योजना की पात्रता से बाहर हो जाते हैं।
इफ्को ने खाद खरीदने वाले किसानों के लिए दुर्घटना बीमा योजना चला रखी है। इसमें किसानों से प्रीमियम जमा नहीं कराया जाता है। इसमें प्रति बोरा किसान को चार हजार रुपये तक का बीमा का लाभ दिया जाता है। बोरों की संख्या के हिसाब से बीमे की रकम बढ़ जाती है। दुर्घटना में एक अंग क्षतिग्रस्त होने पर बीमे की 25 प्रतिशत राशि और दो अंग क्षतिग्रस्त होने पर 50 प्रतिशत राशि इफ्को - टोकिया जनरल बीमा कंपनी द्वारा किसान को दी जाती है। दुर्घटना में मृत्यु पर बीमे की पूरी राशि किसान के परिजनों को मिलती है। सर्प दंश या फिर इलेक्ट्रिक दुर्घटना पर भी बीमे का लाभ दिया जाता है।
जिले में करीब साढ़े तीन लाख गन्ना किसान हैं, लेकिन समितियों के सदस्य करीब पौने दो लाख किसान ही हैं। सहकारी या गन्ना समितियों से खाद खरीदने वाले किसान को ही इफ्को बीमा योजना का लाभ मिलता है। अन्य संस्था से इफ्को का बोरा खरीदने वाले किसान को योजना का लाभ मिलता है, लेकिन जागरूकता के अभाव में अधिकांश किसान अन्य संस्थाओं से खाद खरीदते समय रसीद नहीं लेते हैं, जबकि बिना रसीद या अन्य पुख्ता दस्तावेज के बीमा का लाभ नहीं मिल सकता।
उधर, इफ्को के क्षेत्रीय प्रबंधक प्रवीण सिंह ने बताया कि किसानों को बीमे का लाभ लेने को बीमा कंपनी के हेड ऑफिस गुडगांव में आवेदन करना पड़ता है। जांच के बाद संबंधित किसान को बीमे की रकम दे दी जाती है। उन्होंने कहा कि किसानों को खाद का बोरा खरीदते समय रसीद जरूर लेनी चाहिए, ताकि किसान को इफ्को की बीमा योजना का लाभ मिल सके।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बिजनौर में दिखा पुलिस की नाकामी का सबसे बड़ा सबूत

यूपी के बिजनौर में एक लाख के इनामी बदमाश आदित्य और उसके एक साथी ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। कोर्ट ने दोनों को बिजनौर जेल भेज दिया है। कुख्यात आदित्य और उसके साथी ने लॉडी मर्डर केस में सरेंडर किया है।

11 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls