निर्माण में गड़बड़ियों की जांच जारी

Bijnor Updated Tue, 27 Nov 2012 12:00 PM IST
नजीबाबाद। जीआईसी में मरम्मत कार्य की धनराशि के दुरुपयोग प्रकरण की जांच डीएम के निर्देश पर जारी है।
राजकीय इंटर कॉलेज में मरम्मत कार्य के लिए लगभग चार लाख की ग्रांट से निर्माण कार्य कराया गया था। कॉलेज के शिक्षक अजय यादव ने निर्माण कार्य में भारी अनियमितता बरते जाने, अवमुक्त धनराशि के दुरुपयोग तथा पीटीए से कराए गए निर्माण कार्य को ग्रांट धनराशि से कराए जाने के प्रकरण की जांच की मांग की थी। डीएम के निर्देश पर एसडीएम आशुतोष मोहन अग्निहोत्री के नेतृत्व में जीआईसी के मरम्मत कार्य एवं रंगाई-पुताई की जांच चल रही है। स्वयं एसडीएम कॉलेज का मुआयना कर चुके हैं। विनियमित क्षेत्र के जेई एसके अवस्थी, नगरपालिका जेई उमेश बाबू ने सोमवार को तकनीकी कार्यों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान शिक्षक अजय यादव ने अनेक मरम्मत कार्य पीटीए मद से स्वयं कराने का दावा किया। उन्होंने लाखों की ग्रांट से कराए गए काम फर्जी दर्शाने, मरम्मत कार्य के लिए बनी समिति को गुमराह कर हस्ताक्षर कराने तथा वाउचर आदि पेश न किए जाने की जांच कमेटी को जानकारी दी।
उधर, प्रधानाचार्य फतेहचंद ने बताया कि ठेकेदार द्वारा विभिन्न निर्माण कार्यों के वाउचर अपने पास रखकर कुल धनराशि से हुए कार्य का उपभोग दिया गया है। प्रधानाचार्य ने मरम्मत कार्य गठित समिति की संस्तुति के बाद ही भुगतान आदि किए जाने का दावा किया।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बिजनौर में दिखा पुलिस की नाकामी का सबसे बड़ा सबूत

यूपी के बिजनौर में एक लाख के इनामी बदमाश आदित्य और उसके एक साथी ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। कोर्ट ने दोनों को बिजनौर जेल भेज दिया है। कुख्यात आदित्य और उसके साथी ने लॉडी मर्डर केस में सरेंडर किया है।

11 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls