सीमित बजट, अनुदान से वंचित होंगे कई किसान

Bijnor Updated Wed, 21 Nov 2012 12:00 PM IST
नजीबाबाद। सरकार द्वारा कृषि संयंत्रों पर दिए जाने वाले अनुदान का लाभ लेने के लिए कृषि विभाग में किसानों की भीड़ उमड़ने लगी है। पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी सभी आवेदक किसानों को अनुदान का लाभ नहीं मिलने की संभावना है।
खेती में काम आने वाले संयंत्रों जैसे ट्रैक्टर, हैरो, पंप सैट व रोटावेटर आदि पर सरकार प्रत्येक वित्तीय वर्ष में 50 प्रतिशत तक का अनुदान देती है। अनुदान का लाभ लेने के लिए बहुत से जरूरतमंद किसान कृषि विभाग में आवेदन करते हैं। विडंबना यह है कि सीमित राशि होने के कारण सभी आवेदकों को योजना का लाभ नहीं मिल पाता है। ट्रैक्टर व हैरो जैसे मंहगे संयंत्रों पर तो अनुदान का लाभ मुश्किल से ही मिल पाता है। गत वर्ष नजीबाबाद तहसील क्षेत्र के लिए अनुदान की राशि मात्र दस लाख रुपये भेजी गई थी। जबकि तहसील क्षेत्र के 70 से भी अधिक जरूरतमंद किसानों ने अनुदान के लिए आवेदन दिए थे। बहुत से आवेदक योजना का लाभ लेने से वंचित रह गए थे। वर्तमान वित्तीय वर्ष समाप्त होने में अभी काफी समय शेष है। कृषि विभाग में अब तक 40 आवेदन जमा किए जा चुके हैं। इस बार भी संभावना है कि सभी आवेदकों को अनुदान का लाभ नहीं मिल सकेगा।
अपर उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी मूला सिंह चौहान का कहना है कि अब तक प्राप्त 40 आवेदन में से पंप सैट व रोटावेटर के लिए गजरौला पाईमार के ध्यान सिंह सहित नौ आवेदकों को अनुदान का लाभ दिया जा चुका है। उनका प्रयास रहता है कि सभी आवेदकों को लाभ मिल सके।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बिजनौर में दिखा पुलिस की नाकामी का सबसे बड़ा सबूत

यूपी के बिजनौर में एक लाख के इनामी बदमाश आदित्य और उसके एक साथी ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। कोर्ट ने दोनों को बिजनौर जेल भेज दिया है। कुख्यात आदित्य और उसके साथी ने लॉडी मर्डर केस में सरेंडर किया है।

11 जनवरी 2018