धनतेरस पर बाजारों में धन वर्षा

Bijnor Updated Mon, 12 Nov 2012 12:00 PM IST
बिजनौर। धनतेरस पर बाजार में धन की खूब बरसात हुई। सर्राफा बाजार हो या फिर बर्तनों की दुकान सभी जगह लोगों ने जमकर खरीदारी की। साथ ही भीड़ के चलते शहर की सड़के जाम रहीं।
धनतेरस पर बाजार में सुबह से ही भीड़ रही। लोग सुबह से ही बर्तन व अन्य सामान खरीदने के लिए आते रहे। दुपहर बाद अचानक सर्राफा बाजार के साथ पूरे बाजार में भीड़ बढ़नी शुरू हो गई। लोग बर्तन व चांदी के सिक्के खरीदने के साथ मिट्टी की मूर्तियां, झालर, मिठाई व अन्य सामान भी खरीदकर ले गए। बर्तनों में महिलाओं ने नए डिजाइन के बर्तन खरीदे। देर रात तक बाजार में भारी रौनक थी। सर्राफा बाजार भी गुलजार रहा। सुनारों ने बताया कि सिक्कों व आभूषण की बिक्री गत वर्ष से अधिक हुई है। भीड़ के चलते सिविल लाइंस, चाहशीरी रोड, डाकखाना, राम का चौराहा आदि जगहों पर जाम के हालत रहे। जाम खुलवाने में पुलिस के पसीने छूट गए।
एसबीआई की मुख्य ब्रांच ने शनिवार को ही धनतेरस पर सोने के सिक्कों के रेट तय कर दिए थे। रविवार को एसबीआई में अलग-अलग भार के 40 सिक्के बिके। दो, चार और पांच ग्राम के सिक्के लगभग खत्म ही हो गए। आईसीआईसीआई के मैनेजर गजेंद्र चौहान के अनुसार सिक्के बिके, लेकिन 50-50 ग्राम के दो सिक्के बिक जाने के कारण औसत अच्छा बन गया। ऐक्सिस बैंक में भी सात सिक्के बिके।

बाजार में घुसे वाहन
प्रशासन की रोक के बावजूद बाजार में वाहनों की घुसपैठ रही। रिक्शा, बाइक व कार बाजार में जाने के कारण ही जाम लगा। स्थिति यह रही कि पैदल चलने के लिए भी बाजार में जगह नहीं थी। जाम के कारण लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ी। बाजार में चांदी के होलमार्क सिक्कों की धूम मची रही। इन सिक्कों पर सर्राफा बाजार में लोग ढूंढते रहे। सामान्य सिक्कों के मुकाबले ये सिक्के महंगे रहे।

हल्दौर। धनतेरस तथा दीपावली से पहले लोगों ने जमकर खरीददारी की। इसके चलते हरबंश गंज बाजार, गांधी बाजार, यूनियन बैक लेन बाजार, मस्जिद चौक, टाटमोहरा पर जाम की स्थिति बनी रही। यातायात कंट्रोल करने के लिए पुलिस लगी थी। बाजार में चीन के बल्बों एवं लड़ियों की बिक्री हुई परन्तु लोगों ने मिट्टी के दिए खरीदने में अधिक रुचि दिखाई। खील बताशों एवं खांड के बने खिलौनों की भी जमकर खरीददारी हुई।

नूरपुर। धनतेरस का त्योहार धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर लोगो ने सोने चांदी के सिक्कों एवं बर्तनों की जमकर खरीदारी की। ज्वैलर्स की दुकानों पर लोग चांदी के पुराने सिक्के ढूंढते नजर आए। पुराना सिक्का तेरह सौ से दो हजार रुपये तक में बिका जबकि नये सिक्के के रेट सात सौ से एक हजार रुपये रहे।
दीपावली पर बाजारों को सजाया
बिजनौर। दीपावली पर ग्राहकों को रिझाने के लिए व्यापारियों ने दुकानों और मार्गों को दुल्हन की तरह सजाया।
व्यापारियों ने शास्त्री चौक से पीएनबी तक सड़क के दोनों ओर बल्लियां गाड़कर झालरों व बल्बों से भव्य सजावट कराई है। पंजाबी कालोनी से सर्राफा बाजार तक सड़क के दोनों ओर झालरों, मूर्तियों, बर्तनों, मिठाइयों, पोस्टरों की दुकानेें अटी पड़ी हैं। दुकानदारों ने इलेक्ट्रानिक्स का सामान दुकानें के काफी बाहर तक लगाकर उनको झालरों से सजाया। स्कूल रोड पर दुकानदारों ने सड़क के आरपार झालरों व कंडील सजाकर ग्राहकों को लुभाने ने कोई कसर नहीं छोड़ रखी है। सर्राफा बाजार को भी सुदंर ढंग से सजाया गया है। प्रशासन द्वारा रिक्शाओं व बाइकों को मुख्य बाजार में रोकने का प्रयास न करने से दिन भर जाम की स्थिति बनी रही और लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा।
बाजार में जमकर हुई खरीदारी
बिजनौर । दीपावली पर इलेक्ट्रोनिक्स आइटम का बाजार ग्राहकों को लुभाने के लिए पूरी तरह से तैयार है। विभिन्न कंपनियों की ओर से टीवी, फ्रिज, वाशिंग मशीन, डीटीएच, डीवीडी प्लेयर आदि मॉडल पर स्पेशल डिस्काउंट दिया जा रहा है। दुकानदारों ने भी ग्राहकों को लुभाने के लिए दुकान के काफी बाहर तक सामान सजाकर रखा है। इलेक्ट्रोनिक्स आइटम के विक्रेता राजीव कुमार, सलीम, नदीम, फरहान, आशु के अनुसार ग्राहक सामान खरीदने में काफी रुचि दिखा रहे हैं। एलसीडी टीवी ग्राहकों की पहली पसंद बने हुए हैं। बाजार में ग्राहकों ने जमकर खरीदारी की।
धनतेरस पर बाजार में भीड़ उमड़ी
धामपुर। धनतरेस पर बाजार में लोगाें की भारी भीड़ रही। लोगाें ने बर्तन और चांदी के सिक्के खरीदे। रामबाबू सर्राफ ने बताया कि लोग धनतेरस के मौके पर चांदी के सिक्काें को खरीदना सगुन मानते हैं। सर्राफ मनीष आर्य का कहना है कि चांदी की कीमत बढ़ने से इस बार चांदी के सिक्काें के रेट 650 रुपये से लेकर 950 रुपये तक है। बाजार में मिट्टी के दीवाली, कुल्हिए, चिराग, दीये आदि की भरमार है। लोग आवश्यकता के तहत खरीद रहे है। बाइक शोरूम पर भी लोगों की भारी भीड़ रही।
धनतेरस पर हुई जमकर खरीदारी
नजीबाबाद। या देवी सर्वभूतेषु लक्ष्मी रूपेण संस्थिता, नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:...। सरीखे श्लोकों से महालक्ष्मी की स्तुति कर लोगों ने धनतेरस पर्व हर्षोल्लास से मनाया। बाजार में उमड़े लोगों ने परंपरागत खरीदारी की।
देवताओं के वैध भगवान धनवंतरी जयंती धनतेरस पर लोगों ने बाजार में पहुंचकर जमकर खरीदारी की। भगवान धनवंतरी व माता लक्ष्मी के कृपा पात्र बनने की लालसा में श्रद्धालुओं ने नए बर्तन व चांदी के सिक्के खरीदे। बाजारों में बर्तनों की दुकानों पर लोगों की भारी भीड़ उमड़ती दिखाई दी। स्थिति यह थी कि बर्तन की दुकानों पर भारी भीड़ के चलते लोगों को दुकान के बाहर खड़े होकर अपनी बारी आने की प्रतीक्षा करनी पड़ी। परंपरा निभाते हुए श्रद्धालुओं ने बर्तनों के साथ कोई न कोई नया सामान खरीदा। नगर के बाजारों में स्थानीय लोगों के साथ दूर-दराज के गांवों के लोग भी उमड़ पड़े। बाजारों में खरीदारी के लिए भारी भीड़ उमड़ने का सिलसिले ने देर रात तक थमने का नाम नहीं लिया। रंग-बिरंगी झालरों से सजे बाजार व दुकानों पर उपलब्ध साज-सज्जा के सामान लोगों के आकर्षण का केंद्र बने रहे।

बर्तन खरीदने से आती है समृद्धि
पंडित हर्षवर्धन बूटी बताते हैं कि भगवान धनवंतरी के जन्मदिवस पर नए बर्तन व चांदी के सिक्के खरीदने से सुख-समृद्धि आती है। धनतेरस पर बर्तन आदि की खरीदारी करने वाले जातको पर हमेशा धन लक्ष्मी व भगवान धनवंतरी की कृपा बनी रहती है।
बढ़े मूल्यों ने की दीपावली महंगी
बिजनौर। दीपावली के दौरान खरीदे जाने वाले सामान के महंगा हो जाने के कारण त्योहार इस बार अधिक महंगा साबित होगा।
घरों को रोशन करने वाली जो मोमबत्ती पिछले साल 140 रुपये प्रतिकिलो थी, वो इस बार 160 रुपये प्रति किलो बिक रही हैं। सरसों के तेल के दाम भी 10 रुपये बढ़कर 85 रुपये लीटर हो गए हैं। पिछले वर्ष 265 रुपये वाला देशी घी अब 280 रुपये में बिक रहा है। दीपावली पर परंपरा के रूप में खरीदे जाने वाले खील-बताशों के दामों में भी पांच से सात रुपये का उछाल आ गया है और इस बार ये 60 रुपये प्रति किलोग्राम तक हो गए हैं।
बाजारों के जाम में फंसे रहे लोग
नजीबाबाद। नगर में अक्सर लगने वाले जाम की समस्या ने दीपावली के त्योहार पर और भी विकट रूप ले लिया है। दिन भर नगर के प्रमुख बाजारों में लगे जाम में लोग फंसे रहे।
बाजार कल्लूगंज हो या चौक बाजार हर स्थान पर लगे जाम में वाहन चालक ही क्या पैदल भी फंसे रहे। सबसे अधिक विकट स्थिति चौराहा जगन्नाथ पर दिखाई दी। दीवाली पर विशेष रूप से लगाए गए फड़ों के बीच संकरे मार्गों पर लोग घंटों फंसे रहे। जिन मार्गों पर पैदल निकलना भी दूभर हो रहा था वहां चौपहिया वाहन चालकों ने घुसकर स्थिति को और भी विकट बना दिया। जाम में फंसे लोगों को पहले तो जगन्नाथ के चौक पर तैनात पुलिसकर्मी मूकदर्शक बने देखते रहे। बाद में जब स्थिति ज्यादा विकट हो गई, तब मौके पर तैनात पुलिस कर्मियों ने सुध ली। कल्लूगंज व चौक बाजार की ओर जाने वाले दुपहिया वाहनों को भी पुलिस कर्मियों ने अवरोधक लगाकर रोक दिया। वाहनों को मछली बाजार की ओर मोड़ दिया गया जिससे कुछ देर बाद ही मछली बाजार में भी जाम की स्थिति बन गई। दीपावली पर दूरदराज के गांवों से खरीदारी के लिए आने वाले ग्रामीण व स्थानीय लोग दिन भर जाम की विकट समस्या से जूझते रहे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बिजनौर में दिखा पुलिस की नाकामी का सबसे बड़ा सबूत

यूपी के बिजनौर में एक लाख के इनामी बदमाश आदित्य और उसके एक साथी ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। कोर्ट ने दोनों को बिजनौर जेल भेज दिया है। कुख्यात आदित्य और उसके साथी ने लॉडी मर्डर केस में सरेंडर किया है।

11 जनवरी 2018