बिजली संकट झेलने को हो जाइए तैयार!

Bijnor Updated Mon, 15 Oct 2012 12:00 PM IST
नजीबाबाद। 132 केवी विद्युत उपसंस्थान से जुड़े उपभोक्ता घोर बिजली संकट झेलने को तैयार हो जाएं। दरअसल पहले ही ओवरलोड चल रहे उपसंस्थान से बढ़ापुर बिजलीघर को जोड़ने की विद्युत निगम ने कवायद शुरू कर दी है।
नजीबाबाद स्थित 132 केवी विद्युत उपसंस्थान से 33 केवी क्षमता के अकबराबाद, चंदक, आदर्शनगर, तिमरपुर, साहनपुर, भागूवाला, रायपुर, बड़िया समेत कुल 10 बिजलीघर एवं इंडस्ट्रियल एरिया के अंतर्गत इंडियन ऑयल, शुगर मिल के लिए अलग से फीडर जुड़े हैं। 40-40 एमवीए क्षमता के दो ट्रांसफार्मरों के विद्युत उपसंस्थान पर पहले ही से 135 एमवीए लोड चल रहा है। नजीबाबाद नगर व ग्रामीण क्षेत्रों के उपभोक्ता व्यापक विद्युत कटौती से परेशान हैं। ऐसे में विद्युत निगम के आला अधिकारी बढ़ापुर बिजलीघर का अतिरिक्त लोड नजीबाबाद विद्युत उपसंस्थान पर डालने की कवायद शुरू कर चुके हैं। स्थानीय अधिकारियों को आगामी एक सप्ताह के भीतर यह प्रक्रिया पूर्ण कर लेने के कड़े निर्देश दिए गए हैं। यदि ऐसा होता है, तो उपभोक्ताओं को और अधिक विद्युत कटौती से जूझना पड़ेगा। व्यापारी नेता शिवकुमार माहेश्वरी, नकुल अग्रवाल, सुधीर अग्रवाल, नईम टाटा, शाहिद सिद्दीकी आदि ने प्रक्रिया का विरोध करने की बात कही।
अहम तकनीकी जानकारी
किरतपुर स्थित 132 केवी विद्युत उपसंस्थान से 33 केवी नगीना बिजलीघर के माध्यम से 11 केवी बढ़ापुर बिजलीघर को चलाया जा रहा था। कितरपुर विद्युत उपसंस्थान ओवरलोड होने के चलते नगीना में 132 केवी विद्युत उपसंस्थान का निर्माण शुरू कर दिया गया है, जिसे पूरा होने में करीब एक वर्ष लगेगा। साथ ही बढ़ापुर बिजलीघर को 33 केवी बिजलीघर में परविर्तित कर दिया गया है, जिससे बढ़ापुर को फिलहाल नगीना से चलाना संभव नहीं हो पा रहा। उधर, नजीबाबाद विद्युत उपसंस्थान से चल रहे तीन बिजलीघरों भागूवाला, चंदक व तिमरपुर को अब तक भी 132 केवी विद्युत उपसंस्थान बरकातपुर से नहीं जोड़ा गया है। अधिकारी दबी जबान फरवरी 2013 तक बिजलीघर जुड़ने की बात कह रहे हैं। ऐसे में बढ़ापुर को नजीबाबाद विद्युत उपसंस्थान से जोड़ा जा रहा है।
क्या होगा प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद
विद्युत उपसंस्थान से संचालित अपोजिट ग्रुप व्यवस्था फेल हो जाएगी। एचबी-2 श्रेणी की विद्युत आपूर्ति भी प्रभावित होने की संभावना है। इसका सीधा असर क्षेत्र के कारोबार पर भी पड़ेगा।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बिजनौर में दिखा पुलिस की नाकामी का सबसे बड़ा सबूत

यूपी के बिजनौर में एक लाख के इनामी बदमाश आदित्य और उसके एक साथी ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। कोर्ट ने दोनों को बिजनौर जेल भेज दिया है। कुख्यात आदित्य और उसके साथी ने लॉडी मर्डर केस में सरेंडर किया है।

11 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls