अपने ही आदेश पर डीएम ने रोक लगाई

Bijnor Updated Sat, 06 Oct 2012 12:00 PM IST
बिजनौर। किरतपुर में छापामारी के दौरान पकड़े गए लगभग 40 हजार लीटर तेल को उसके स्वामी मनोज कुमार को सौंपे जाने के अपने ही आदेश पर डीएम ने रोक लगा दी है। स्टे का यह आदेश सैंपल की जांच रिपोर्ट के फर्जीवाड़ा सामने आने पर किया गया है।
विदित हो कि किरतपुर में डीएम के निर्देश पर एडीएम ने अपनी टीम के साथ 28 फरवरी 2010 को एमके मैसर्स के यहां छापा मारा था। उस वक्त संस्थान पर करीब 40 हजार लीटर तेल मिला था। इसके बारे में प्रशासन को यह शक था कि तेल मिलावटी है। इस मामले में 28 मई 2012 को डीएम ने इस तेल को मनोज कुमार को वापस दिए जाने के आदेश दिए थे। इन आदेशों के पारित होने के बाद डीएम को अभियोजन विभाग द्वारा अवगत कराया गया कि इस मामले में विधि विज्ञान की प्रयोगशाला की सही रिपोर्ट, जिसमें तेल को मिलावटी केरोसिन व साल्वेंट पाया गया था को डीएम से छुपाया गया है तथा एक फर्जी व कूट रचित तथा गलत रिपोर्ट जिसमें तेल सैंपल को सही माना गया है, डीएम के समक्ष पेश की गई है। डीएम ने यह मामला प्रकाश में आने के बाद तेल को उसके मालिक को सौंपे जाने के आदेश स्थगित कर दिए हैं तथा इस मामले में कानूनी कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बिजनौर में दिखा पुलिस की नाकामी का सबसे बड़ा सबूत

यूपी के बिजनौर में एक लाख के इनामी बदमाश आदित्य और उसके एक साथी ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। कोर्ट ने दोनों को बिजनौर जेल भेज दिया है। कुख्यात आदित्य और उसके साथी ने लॉडी मर्डर केस में सरेंडर किया है।

11 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls