टांडा में बुखार ढा रहा कहर

Bijnor Updated Fri, 28 Sep 2012 12:00 PM IST
हल्दौर। टांडा में बुखार में बुखार कहर ढा रहा है। हर घर में मरीजों की चारपाई बिछी हुई हैं। उधर एक व्यक्ति को डेंगू की पुष्टि होने पर गांव में दहशत पसर गई है। डेंगू का प्रभाव दिन पर दिन बढ़ने के बावजूद स्वास्थ्य विभाग के कान पर जूं नहीं रेंग रहा है।
ग्राम टांडा ग्राम पंचायत करनपुर गांवड़ी में आता है। गांव में 15-20 परिवार हैं। ग्रामीणों के अनुसार पूरे गांव को बुखार ने जकड़ रखा है। गांव के सुभाष को कई दिन से बुखार आ रहा था। शुरू में स्थानीय चिकित्सक के यहां इलाज कराने पर जब आराम नहीं मिला तो चांदपुर इलाज के लिए ले जाया गया। परिजनों ने बताया कि जांच में डेंगू की पुष्टि हुई है। उधर पंकज को कई दिन से बुखार आ रहा है। अब उसे पीलिया ने भी जकड़ लिया है। गांव में डेंगू का रोगी मिलने से बुखार के अन्य रोगियों में दहशत है। नृपेन्द्र, जयप्रकाश, राजीव, विनीता, धर्मवीर आदि की भी बुखार से हालत खराब है। कामेश सिंह, धर्मवीर सिंह, नरेश कुमार आदि का आरोप है कि गांव में कोई स्वास्थय कर्मचारी नहीं आता है। ग्रामीणों को शासन की स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ नहीं मिल रहा है। लोग नीम हकीमों के हाथ लुटने के लिए मजबूर हैं। सीएचसी प्रभारी डा. जयवीर सिंह राठी का कहना है कि गांव में टीम भेजकर जांच कराई जाएगी।
युवती लापता
हल्दौर। ग्राम कुम्हारपुरा में बुधवार की रात घर के बाहर लगे सरकारी हैंडपंप पर पानी लेने गई एक युवती लापता हो गई। परिजनों ने पुलिस को सूचना देते हुए बताया कि जग नल के पास ही पड़ा मिला।
डेंगू का एक और मरीज मिला
बिजनौर। कस्बे में ठाकुर द्वारा मंदिर निकट निवासी हरपाल सिंह को चार दिन से बुखार आ रहा था। स्वास्थ्य में सुधार न होने पर गुरुवार को उसे बिजनौर एक निजी चिकित्सक के यहां उपचार के लिए ले जाया गया। वहां जांच के बाद चिकित्सक ने हरपाल सिंह को डेंगू की पुष्टि की है। हरपाल सिंह को उपचार हेतु निजी चिकित्सक के यहां भर्ती कराया दिया गया है।
डेंगू की सूचना पर भी जांच नहीं
कर्मचारियों ने डेंगू रोगियों के नाम नोट कर दी जांच पूरी
सूचना मिलने पर स्वास्थ्य टीम को करनी होती है जांच
बिजनौर। झालू में डेंगू रोगी की सूचना मिलने के बावजूद स्वास्थ्य विभाग की टीम नहीं पहुंचीं। जांच के नाम पर एएनएम और एक कर्मचारी नेे गांव में जाकर डेंगू रोगियों के नाम नोट कर जांच की सभी औपचारिकताएं पूरी कर दी हैं।
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य महानिदेशक के स्पष्ट आदेश हैं कि यदि किसी क्षेत्र में संक्रामक रोग अथवा अन्य रोग फैलने की सूचना मिलती है, तो संबंधित क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग की टीम संभावित रोगियों की जांच करेगी। उन्हें स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराएगी। झालू कस्बे में डेंगू रोगी मिलने और वायरल के बुरी तरह से फैलने से लोगों में दहशत फैली है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि कस्बे में तीन डेंगू रोगी मिल चुके हैं। सूचना मिलने के बाद भी अभी तक कस्बे में न तो कोई स्वास्थ्य विभाग की टीम आई और न ही कोई चिकित्सक। जांच के नाम एक क्षेत्रीय एएनएम और एक अन्य कर्मचारी डेंगू रोगियों के नाम लिखकर ले गए। उन्होंने अन्य किसी भी संभावित रोगी की कोई भी जांच नहीं की है। उनका कहना है कि शायद स्वास्थ्य विभाग को अभी और डेंगू मिलने का इंतजार है।
सीएमओ डा. शशि कुमार अग्निहोत्री का कहना है कि यदि कर्मचारी नाम नोट कर वापस आए हैं, तो यह गलत है। संभावित रोगियों की जांच होनी चाहिए थी तथा आवश्यकता पड़ने पर दवा भी उपलब्ध करानी थी। इस मामले में दोबारा टीम भेजी जाएगी।

Spotlight

Most Read

Kotdwar

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की टीम ने डाला कण्वाश्रम में डेरा

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की टीम ने डाला कण्वाश्रम में डेरा

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बिजनौर में दिखा पुलिस की नाकामी का सबसे बड़ा सबूत

यूपी के बिजनौर में एक लाख के इनामी बदमाश आदित्य और उसके एक साथी ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। कोर्ट ने दोनों को बिजनौर जेल भेज दिया है। कुख्यात आदित्य और उसके साथी ने लॉडी मर्डर केस में सरेंडर किया है।

11 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper