गोंडा के दो उद्योगों के खिलाफ कार्रवाई शुरू

Basti Updated Sun, 26 Jan 2014 05:45 AM IST
बस्ती। गोंडा जिले के दो उद्योगों से निकले हानिकारक रसायन से बस्ती की कुआनों और बिसुही नदी के प्रदूषित हो जाने से काफी संख्या में मछलियों के मरने के मामले में उद्योगों के विरुद्ध प्रशासनिक कार्रवाई शुरू हो गई है। एडीएम राकेश कुमार ने एसडीएम सदर को जांच रिपोर्ट के आधार पर इकाइयों के विरुद्ध जांच कर कार्रवाई को लिखा है। वहीं एसडीएम सदर के. बालाजी ने कहा कि रिपोर्ट का परीक्षण किया जा रहा है। चूंकि मामला दूसरे जिले का है, इसलिए कार्रवाई से पहले हर पहलु को देखना पड़ेगा। उन्होंने यह भी कहा कि इस मामले में परीक्षण के बाद उद्योगों को 133 के तहत नोटिस जारी किया जाएगा।
बता दें कि 22 जनवरी को कुआनों का पानी प्रदूषित होने के कारण कई स्थानों पर मछलियां मरने लगीं। इस मामले में प्रभारी डीएम/सीडीओ आईपी पांडेय ने क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण अधिकारी को नदी के पानी का नमूना लेने और उसकी जांच के लिए प्रयोगशाला में भेजने का निर्देश दिया। प्रभारी क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण अधिकारी ई. एके श्रीवास्तव और वैज्ञानिक सहायक अरुण कुमार श्रीवास्तव ने पगारे घाट के बिसुही नदी/कुआनों और अमहट घाट स्थित कुआनों नदी के जल का नमूना लिया। टीम को सर्वेक्षण में बिसुही नदी का जल रंगीन एवं बिसुही नदी के कुआनों नदी में मिलने के बाद कुआनों नदी का पानी हल्का भूरा मिला। इसके अतिरिक्त टीम ने कुआनों अईलाघाट सोनहा और टिनिच और वाल्टरगंज के बीच स्थित कुआनों नदी का भी सर्वेक्षण किया। टीम को इन सभी स्थानों पानी का रंग भूरा मिला और मछलियां मरी पाई गईं। प्रशासन को भेजी गई रिपोर्ट में बभनान एवं दतौली मनकापुर स्थित आसवनी इकाइयों से बिसुही/कुआनों नदी में प्रदूषित जल डालने की बात कही गई है। साथ ही इन दोनों इकाइयों के विरुद्ध कार्रवाई की सिफारिश की गई।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

मरीज की मौत पर परिजन ने सरकारी अस्पताल में किया तांडव

बस्ती के सरकारी अस्पताल में भर्ती एक मरीज की मौत के बाद तिमारदार ने खूब तांडव मचाया। तीमारदार ने अस्पताल में रखी कुर्सी और मेज को फेंकना शुरू कर दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls