विनियमितीकरण के सवाल पर उच्च शिक्षक मुखर

Basti Updated Mon, 20 Jan 2014 05:44 AM IST
बस्ती। विनियमितीकरण के सवाल पर उच्च शिक्षक मुखर होने लगे हैं। एपीएन पीजी कालेज में शनिवार को राज्य विश्वविद्यालय/अनुदानित महाविद्यालय स्ववित्त पोषित शिक्षक संघ की बैठक हुई। ‘ए’ ग्रेड के महाविद्यालयों में संचालित स्ववित्त पोषित पाठ्यक्रमों में कार्यरत शिक्षकों का वेतन और अनुमन्य भत्ते पर नाराजगी जाहिर की गई।
संघ के अध्यक्ष डा. बलजीत कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि प्रदेश के 331 अशासकीय सहायता प्राप्त महाविद्यालयों में संचालित स्ववित्त पोषित पाठ्यक्रमों में कार्यरत शिक्षकों की संख्या 1600 है। इनके विनियमितीकरण के संबंध में राज्य सरकार को यूजीसी भी स्पष्ट निर्देश दे चुका है। विनियमितीकरण को लेकर सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव, सीएम अखिलेश यादव सहित कई मंत्रियों आश्वासन के बाद भी शिक्षकों के विनियमितीकरण का मार्ग प्रशस्त नहीं हो पाया। 16 जनवरी को कैबिनेट में सरकार ने राष्ट्रीय मूल्यांकन परिषद की ओर से ग्रेड ए के कालेजों में संचालित स्ववित्त पोषित पाठ्यक्रमों में कार्यरत शिक्षकों को 21600 रुपये और अनुमन्य भत्ता स्वीकृत किया है। यह गलत है। ग्रेडिंग की अंतिम तिथि अप्रैल 2015 है, ऐसे में इससे पहले लिया गया निर्णय सही नहीं है। इस मामले को लेकर शिक्षक 21 जनवरी को सपा मुख्यालय लखनऊ पहुंचकर अपना विरोध दर्ज कराएंगे।
इस मौके पर डॉ. रघुनाथ चौधरी, डॉ.फूलदेव, डॉ. बलराम, डॉ. ब्रजेश, डॉ. विनोद, डॉ.एएन भारती, डॉ. सुरेंद्र सिंह, डॉ. अजय, डॉ. सुधाकर, डॉ. बीना सिं, डॉ. नूतन यादव, डॉ. सौम्या पाल, डॉ.अश्वनी, डॉ.एपी शुक्ल, डॉ.रघुबर पांडेय आदि मौजूद रहे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

मरीज की मौत पर परिजन ने सरकारी अस्पताल में किया तांडव

बस्ती के सरकारी अस्पताल में भर्ती एक मरीज की मौत के बाद तिमारदार ने खूब तांडव मचाया। तीमारदार ने अस्पताल में रखी कुर्सी और मेज को फेंकना शुरू कर दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls