'My Result Plus
'My Result Plus

कड़ाके की ठंड से कांप उठा जनजीवन

Basti Updated Sat, 29 Dec 2012 05:30 AM IST
ख़बर सुनें
बस्ती। शुक्रवार सीजन का सबसे ठंडा दिन रहा। एक दिन पहले से चल रही सर्द हवाओं ने ठिठुरन बढ़ा दी है। अधिकतम तापमान गिरकर 12 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। जबकि न्यूनतम तापमान 4.3 डिग्री रिकार्ड किया गया। खुले को कौन कहे, कमरे के भीतर भी बिना हीटर-ब्लोवर के रह पाना मुश्किल हो रहा है। मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान है कि न्यूनतम टेंप्रेचर अभी एक से डेढ़ डिग्री तक और नीचे जा सकता है मगर शनिवार को दिन के तापमान में कुछ बढ़ोतरी होगी। नरेंद्र देव कृषि विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक डाक्टर पद्माकर त्रिपाठी के मुताबिक, रविवार या सोमवार से पुरवा हवाएं चलने का अनुमान है। तब ठंड से तो कुछ राहत मिलेगी लेकिन बदली छा सकती है। ठंड के असर से आम जनजीवन बुरी तरह से जूझ रहा है। रोजमर्रा के काम समय पर नहीं हो पा रहे हैं। बाजारों में भी लोग इक्का-दुक्का ही दिखाई दे रहे हैं। दोपहर में गुनगुनी धूप होते ही कर्मचारी और अधिकारी दफ्तरों से बाहर निकल आए। कचहरी में भी अधिवक्ताओं और वादकारियों को धूप का आनंद लेते देखा गया। स्टेडियम में ठंड का असर दिखा। हालांकि खिलाड़ियों के उत्साह में कमी नहीं दिखी। अलाव का माकूल इंतजाम न होने से पटरी दुकानदारों, यात्रियों, रिक्शा चालकों को ठिठुरते देखा गया। एडीएम राम एकबाल सिंह का कहना है कि हर्रैया क्षेत्र में गुरुवार को चार सौ कंबल वितरित कर दिए गए हैं। साथ ही डीएम, एडीएम, एसडीएम के वाहनों में 10-10 कंबल रखकर चलने की व्यवस्था की गई है। ताकि कहीं भी जरूरतमंद दिखे तो उसे कंबल दिया जा सके।
...ताकि किसी को न मिले मुआवजा
ठंड से हो रही मौतों को प्रशासन कबूल करने से हिचक रहा है। पिछले साल भी मौतों के सात मामलों की जांच तहसील स्तर से की गई। इनमें रुधौली तहसील के रुधौली कला गांव के 44 वर्षीय राधेश्याम पुत्र सोमई के मामले में रिपोर्ट दी गई कि वह एक वर्ष से गैस तथा पेशाब के साथ मांस आने की बीमारी से पीड़ित बताया गया। जबकि इसी गांव के 64 वर्षीय श्री के बारे में बताया गया कि वे अत्यंत वृद्ध हो गए थे। मौत का कारण वृद्ध होना बताया गया। हर्रैया तहसील के रमया गांव के 64 वर्षीय सूर्या के बारे में मौत की वजह झटके की बीमारी बताई गई। इनके पास अंत्योदय कार्ड इंदिरा आवास और दो बीघे जमीन होनी बताया गया। इसी गांव के 70 वर्षीया मलीदन पत्नी साहब अली की मृत्यु का कारण टीबी होना बताया गया। पति को भैंस का व्यापारी बताया गया जबकि उसका अंत्योदय कार्ड होना और तीन बीघे जमीन और मकान होना बताया गया। इसी तहसील के ग्राम कुसमौर के 35 वर्षीय राजेश कुमार चौधरी पुत्र राम जग चौधरी की हार्ट अटैक से मौत होनी बताई गई। उन्हें डेयरी चलाने और गन्ना खरीदने का धंधा करने वाला बताया गया। गुआंव के 55 वर्षीय मेवा लाल की मृत्यु का कारण भी बीमारी बताई गई। लखना के 55 वर्षीय होमगार्ड हरि प्रसाद की मौत का कारण अचानक गश खाकर गिर जाना बताया गया। लेकिन उसे क्यों गश आया? यह नहीं बताया गया। परिजनों की मानें तो उनसे मनचाहा बयान दर्ज कराया गया। लोगों का मानना है कि यह गरीबों के खिलाफ साजिश है।

शासन की मंशा पर फेर दिया पानी
प्रमुख सचिव राहत एवं आपदा की ओर से ठंड शुरू होते ही स्पष्ट निर्देश दे दिए गए थे कि शीत लहरी के चलते किसी भी गरीब को परेशानी नहीं होनी चाहिए। जहां भी आवश्यकता हो वहां पर त्वरित अलाव सहित अन्य जरूरी इंतजाम किए जाएं। धन की कोई कमी नहीं है। अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए गए थे कि किसी भी असहाय और गरीब व्यक्ति की मौत ठंड से न होने पाए।

हवा में जल रहा प्रशासन का अलाव
ठंड से जन जीवन कांप रहा है। मगर व्यवस्था की खामियों के चलते राहत नहीं मिल पा रहा है। प्रशासन ने असहाय और निर्बल परिवारों को शीत लहरी से बचाने के लिए जिले के 49 स्थानों पर अलाव जलाने की व्यवस्था की थी। लेकिन लोग शिकायत कर रहे हैं कि प्रशासन का अलाव हवा में जल रहा है। कचहरी चौराहा निवासी रघुवीर, चंद्रकेशव आदि का कहना है कि कभी भी उन्हें अलाव जलता नहीं मिला।
प्रशासन की ओर से सदर तहसील के कलवारी चौराहा, नगर चौराहा, सोनूपार चौराहा, गायघाट, महसों चौराहा, महादेवा चौराहा, लालगंज, कुदरहा चौराहा, मनौरी, मुंडेरवा, ओड़वारा, कैली अस्पताल, बनकटी तिराहा व वाल्टरगंज चौराहे पर अलाव जलवाने का आदेश हुआ था। इसी तरह हर्रैया तहसील क्षेत्र के तहसील हर्रैया गेट के सामने, विक्रमजोत वायरलेस चौराहा, छावनी थाना के अंदर, विशेषरगंज बाजार के पश्चिमी चौराहा, भिवरा तिराहा, चिलमा ग्रामीण बैंक के पास, गौर-बभनान मार्ग पर रेलवे स्टेशन के दक्षिण, प्राइमरी पाठशाला दुबौलिया बाजार के पूरब चौराहे पर, दुबौला चौराहा, परशुरामपुर ब्लाक के सामने, धर्मूपुर टैक्सी स्टैंड, महराजगंज प्रधान के घर के सामने, कप्तानगंज पुलिस बूथ, कप्तानगंज वायरलेस चौराहा व गौर रेलवे स्टेशन के बगल में अलाव जलाया जाना था। रुधौली तहसील क्षेत्र के बखिरा चौराहा, तहसील गेट, भानपुर तिराहा, परसा लाल शाही, हनुमानगंज, पकरी सोएम, जमदाशाही व पड़री बैंक और इसी तरह तहसील भानपुर के बड़ोखर बाजार चौराहा, नरखोरिया पड़ाव माली छाजन के पास, दुबौली लालमन चौधरी मेडिकल स्टोर के सामने, असनहरा पुलिस चौकी के पास, भानपुर पड़ाव मंदिर के पास, बरगदवा पड़ाव पर हायर सेकेंड्री स्कूल के पास, सोनहा पड़ाव पर, देईपार पड़ाव, दसिया पड़ाव, आमा टिनिच चौराहा, भिरिया ऋतुराज चौराहा व मानिक चंद्र तिराहे पर हलका लेखपाल की देखरेख में अलाव जलाना था। हल्का लेखपाल नियमित रूप से अलाव जलने की रिपोर्ट भेज रहे हैं मगर हकीकत दूसरी ही है।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Lucknow

कुशीनगर हादसा: 90 की रफ्तार में नौनिहालों की वैन को रौंदते हुए निकली थी ट्रेन

कुशीनगर के दुदही बाजार के पास मानव रहित क्रासिंग पर जिस वक्त स्कूली वैन सीवान-गोरखपुर पैसेंजर ट्रेन से टकराई थी, उस समय उसकी गति 90 किलोमीटर प्रति घंटा थी।

27 अप्रैल 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के बस्ती में दर्दनाक हादसा, भीषण आग की वजह से 12 घर जले

यूपी के बस्ती जिले में एक दर्दनाक हादसा हो गया। यहां के कठोतिया गांव में रविवार को अचानक भीषण आग लग गई, जिस वजह से करीब एक दर्जन घर जल गए और दो मवेशियों की झुलसने की वजह से मौत हो गई।

22 अप्रैल 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen