धनाभाव में स्वयं सहायता समूहों पर संकट

Basti Updated Fri, 28 Dec 2012 05:30 AM IST
बस्ती। जिले में स्वयं सहायता समूहों का बुरा हाल है। इनके खाते में ऋण की धनराशि काफी पहले भेजने के बाद भी बैंकों से उनका भुगतान अब तक नहीं हो पाया है। ऐसे में समूहों के संचालन में दिक्कतें आ रही हैं। ऐसे समूहों की संख्या 50 है।
स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना का संचालन किया जाता है। इसके तहत स्वयं सहायता समूहों को ऋण देकर स्वरोजगार को बढ़ावा दिया जाता है। जिले में स्वयं सहायता समूहों को समय से ऋण की धनराशि का भुगतान बैंकों की ओर से नहीं की जा रही है। ऐसे में काफी दिनों से ऋण वितरण लंबित है। दुबौलिया ब्लॉक के दो समूहों में से एक को फरवरी में, दूसरे को सितंबर में ऋण की धनराशि बैंक को भेजी गई थी। बनकटी के दो समूहों को अक्टूबर में, हर्रैया के एक समूह को मार्च में, तीन समूहों को सितंबर में, पांच समूहों को नवंबर में धनराशि भेजी गई है। कुदरहा के तीन समूहों को मार्च में, तीन को मई में धन भेजा गया। विक्रमजोत के एक समूह को मई में और दो को अगस्त में विभाग की ओर से धन भेज दिया गया। गौर ब्लाक के तीन समूहों को मई में, पांच समूहों को मार्च में दो को जून में और एक को जुलाई में धनराशि रिलीज की गई। मगर अब तक उनका भुगतान समूहों को नहीं किया गया है। जिले में 50 ऐसे समूह हैं, जिन्हें भुगतान नहीं हुआ है।
इस संबंध में पीडी डीआरडीए वीर पाल ने बताया कि 29 दिसंबर को आफीसर्स क्लब बस्ती में प्रशिक्षण सह शिविर का आयोजन किया गया है। इसी में समूहों को ऋण वितरित किया जाएगा।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

मरीज की मौत पर परिजन ने सरकारी अस्पताल में किया तांडव

बस्ती के सरकारी अस्पताल में भर्ती एक मरीज की मौत के बाद तिमारदार ने खूब तांडव मचाया। तीमारदार ने अस्पताल में रखी कुर्सी और मेज को फेंकना शुरू कर दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls