नकली नोट के सौदागर की तलाश

Basti Updated Tue, 25 Sep 2012 12:00 PM IST
बस्ती। नकली नोट छापकर बाजार में खपवाने वाला सरगना पुलिस की पकड़ से दूर है। यही वजह है कि पकडे़ गए कैरियर से अधिक जानकारी नहीं मिल सकी है। नोट बनाने के लिए वे लोग कागज कहां से लाते हैं? या इनके साथ काम करने वाले और कहां-कहां पर कैरियर लगे हैं। हालांकि हर्रैया से पकडे़ गए तीनों कैरियर सोमवार को जेल भेज दिए गए।
एसपी एमडी कर्णधार ने तीनों कैरियर को पत्रकारों के सामने पेश किया। हर्रैया पुलिस ने इन्हें एसओजी टीम की मदद से पकड़ा। बकौल एसपी इनमें से संजय पांडेय और सुशील पांडेय हर्रैया थानाक्षेत्र के करमडाडे़ गांव के हैं। इनका तीसरा साथी श्याम कुमार खड़गूपुर गोंडा का है। इनका सरगना पुरानी बस्ती क्षेत्र के दक्षिण दरवाजा निवासी राजू गुप्ता बताया जा रहा है। तीनों हर्रैया के मछली मंडी मोड़ से गिरफ्तार किए गए थे। पकडे़ गए आरोपियों के कब्जे से 315 बोर के तीन तमंचे, कारतूस, प्रिंटर और 100-100 की 15 हजार का नकली नोट बरामद हुआ। इन सभी का कहना है कि राजू गुप्ता ही इन्हें नोट छापकर देता है। बता दें कि अभी कुछ ही दिन पहले संजय पांडेय रोडवेज के पास से नकली नोट के साथ पकड़ा गया था। उस समय संजय ने बताया था कि नकली नोट उसे बस के कंडक्टर ने दिया था। 15 दिन पहले ही उसकी जमानत हुई थी। अब दूसरी बार फिर वह नकली नोट के मामले में पकड़ा गया। एसपी ने एसओ हर्रैया बृजेश कुमार सिंह और एसओजी टीम को पांच हजार रुपये नकद पुरस्कार देने की घोषणा की है।

Spotlight

Related Videos

मरीज की मौत पर परिजन ने सरकारी अस्पताल में किया तांडव

बस्ती के सरकारी अस्पताल में भर्ती एक मरीज की मौत के बाद तिमारदार ने खूब तांडव मचाया। तीमारदार ने अस्पताल में रखी कुर्सी और मेज को फेंकना शुरू कर दिया।

23 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper