अधोमानक दवाओं की सूची विधानसभा अध्यक्ष को भेजी

Basti Updated Wed, 19 Sep 2012 12:00 PM IST
बस्ती। रुधौली के विधायक संजय प्रताप जायसवाल ने अब अधोमानक दवाओं के खिलाफ अभियान छेड़ा है। प्राइवेट प्रैक्टिस पर रोक लगाने की मांग उठाने के बाद विधायक ने जेनेरिक दवाओं के सप्लायरों की पूरी कुंडली तैयार की है। दवा कंपनियों के मालिक, प्रोडक्ट का ब्योरा और पांच दर्जन के करीब दवाओं के नाम राज्यपाल और विधानसभा अध्यक्ष को भेजा है। उन्होंने जनता के हितों का ध्यान रखते हुए अधोमानक दवाओं की बिक्री पर रोक लगाने की मांग की है।
अधोमानक दवाआें के कारोबार ने रिटेलर और कुछ डॉक्टरों को मालामाल कर दिया है। दवाओं के सप्लायर भी फश अर्श पर पहुंच गए हैं। विधायक ने लिखा है कि कुछ सरकारी और गैर सरकारी डॉक्टरों की मिलीभगत से जेडी के मालिक राकेश दुबे और अजय दुबे सहित सात अन्य लोग जेनेरिक दवाओं का बड़ा कारोबार कर रहे हैं। 63 से अधिक अधोमानक दवाएं बनवाते हैं। ‘ए’ अक्षर से 33 दवाएं। ‘बी’ से तीन, ‘सी’ से दो, ‘एफ’ अक्षर से एक, ‘जी’ से एक, ‘जे’ से एक, ‘एल’ से एक, ‘एम’ से एक, ‘एस’ अक्षर से 12, ‘यू’ अक्षर की दो दवाएं कुछ डॉक्टर लिख रहे हैं। जिम्मेदार भी इन अधेमानक दवाओं के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करते हैं। विधायक ने आरोप लगाया है कि विभाग कार्रवाई के नाम पर कुछ दवाओं का सैंपल भरकर कोरम पूरा कर लेता है। गरीब मरीजों को लूटने की नीयत से औनेपौने दाम में बिकने वाली दवाओं पर सप्लायर भारी भरकम एमआरपी प्रिंट करा देते हैं। जो डॉक्टर इन दवाओं को लिखते हैं उनके वहां गाड़ी, रेफ्रिजरेटर, एसी से लेकर अन्य सुविधाएं दवा दलाल उपलब्ध कराते हैं। विधायक ने राज्यपाल से पेटेंट मेडिसिन और जेनेरिक दवाएं सरकारी अस्पतालों में उपलब्ध कराने, अधोमानक दवाओं की आड़ में दवा सप्लायराें की ओर से गरीब मरीजों का शोषण रोकने, प्राइवेट प्रैक्टिस बंद कराने की मांग उठाई है। कहा कि वह प्रशासन को एक माह का समय देते हैं। अगर इन दिनों में अधोमानक दवाएं शहर में बंद नहीं हुई तो वह आंदोलन को बाध्य होंगे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

मरीज की मौत पर परिजन ने सरकारी अस्पताल में किया तांडव

बस्ती के सरकारी अस्पताल में भर्ती एक मरीज की मौत के बाद तिमारदार ने खूब तांडव मचाया। तीमारदार ने अस्पताल में रखी कुर्सी और मेज को फेंकना शुरू कर दिया।

23 जनवरी 2018