चिप बचाएगा वाहन को चोरी से

Basti Updated Mon, 03 Sep 2012 12:00 PM IST
बस्ती। जब इरादे नेक और हौसले बुलंद हो तो कोई भी मुकाम हासिल करना नामुमकिन नहीं होता। कुछ ऐसा ही कर दिखाया बस्ती के होनहार छात्र रिजवान ने। उन्होंने एक ऐसा चिप बनाया है, जिसे वाहन में लगाने पर चोरी का खतरा नहीं रह जाता। डीएम के निर्देश पर आरटीओ ने चिप की खूबी खुद की आंखों से देखी है। चिप का लाभ अधिकतर लोगों को दिलाने के लिए शासन में लिखापढ़ी करने की तैयारी चल रही है।
आईटीआई गौर में इलेक्ट्रिक ट्रेड के छात्र रिजवान वाहन चोरी को रोकने के लिए नेटवर्किंग डिवाइस तैयार करने का सपना पाले हुए थे। करीब नौ माह की मेहनत के बाद सपना हकीकत में बदल गया। ऐसा चिप तैयार हो गया, जिसे लगाने के बाद वाहन चोरी की घटना को रोका जा सके। इस चिप का पूरा नाम लाक बेस्ड नेटवर्क (एलबीएन) है। इसे वाहन में लगाने पर उसके चोरी का भय खत्म हो जाता है। मोबाइल में फीड दस अंकों का कोड आफ करते ही रफ्तार में चल रहा वाहन रुक जाएगा। फिर से जब कोड आन किया जाएगा तभी वाहन स्टार्ट होगा। ऐसे में चोर को मजबूरन वाहन छोड़कर भागना पड़ेगा। इतना ही नहीं इस चिप की विशेषता यह भी है कि सर्विलांस के जरिए वाहन का लोकेशन भी जाना जा सकता है। रिजवान के इस चिप की खूबी आरटीओ देवेंद्र कुमार त्रिपाठी ने भी देखी है। उन्होंने एक बाइक पर इस आविष्कार की पड़ताल की है। रिजवान को शाबाशी देते हुए इस चिप के प्रयोग के लिए डीएम से सिफारिश की है। रिजवान (25) टिनिच कस्बे के निकट साड़ी कल्प गांव के निवासी हैं। 15 साल की उम्र में वह नेटवंर्किग कार्य से जुड़ गए थे। उनके मन में ऐसा चिप बनाने का ख्याल कैसे आया के सवाल पर कहा कि समाचार पत्रों में हर रोज वाहन चोरी की घटनाएं पढ़ते रहते हैं। एक दिन बैठे उनके मन में यह ख्याल आया कि क्यों न एक ऐसी नेटवर्किंग डिवाइस तैयार की जाए, जिससे वाहन चोरी का खतरा ही खत्म हो जाए। करीब नौ माह मेहनत के दौरान उन्होंने चिप तैयार कर ही ली। सबसे पहले अपनी बाइक पर इसे फिट किया। बताया कि इस चिप की तमाम खासियत हैं। इसमें इमरजेंसी में काम लेने के लिए पुश बटन भी लगाया गया है। इससे दो नंबरों पर बात भी की जा सकती है। इसके लिए ईयर फोन की आवश्यकता है। चिप की सफलता से उत्साहित रिजवान ने अब डीएम को पत्र देकर इसे पेटेंट कराने का अनुरोध किया है। बताया कि गोपनीयता रखने के लिए चिप के निर्माण, कहां लगाना है आदि को वह शेयर नहीं करना चाहते हैं। तर्क है कि अगर लोग जान जाएंगे कि चिप कहां लगा तो उसे निकालकर वाहन चुरा लेंगे। इस नाते उसे वह उचित मंच पर ही शेयर करेंगे ताकि गलत हाथों में इसे पड़ने से बचा सके।
बगैर ईधन के चलने वाले इंजन पर काम
रिजवान एलबीएन चिप की सफलता के बाद अब एक ऐसे इंजन पर काम कर रहे हैं जो बगैर ईधन के चल सके। पिछले दो माह से ऐसा इंजन तैयार करने के लिए वह दिन रात एक किए हुए हैं। इस इंजन का वजन 15 से 20 किलो का होगा। इंजन की खूबियां सहित अन्य जानकारी पूछने पर, उनका एक ही जवाब है भाई साहब इंतजार करिए सबसे पहले आविष्कार के बारे में आप को ही बताएंगे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी पुलिस भर्ती को लेकर युवाओं में जोश, पहले ही दिन रिकॉर्ड रजिस्ट्रेशन

यूपी पुलिस में 22 जनवरी से शुरू हुआ फॉर्म भरने का सिलसिला पहले दिन रिकॉर्ड नंबरों तक पहुंच गया।

23 जनवरी 2018

Related Videos

ट्रेन में कर रहा था पाकिस्तान से जुड़ी ऐसी बाते, पुलिस ने लिया हिरासत में

मुंबई से गोरखपुर जा रही कुशीनगर एक्सप्रेस ट्रेन में सफर कर रहे एक संदिग्ध शख्स को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। पुलिस को ये शिकायत ट्रेन में बैठे एक पैरा मिलिट्री के जवान की ओर से मिली थी।

12 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper