बारहकोनी गांव में मचा कोहराम

Basti Updated Fri, 03 Aug 2012 12:00 PM IST
सल्टौआ(बस्ती)/वराणसी। सोनहा थानाक्षेत्र के बारहकोनी गांव के भवानी शुक्ल के घर बुधवार की रात आई एक खबर ने कोहराम मचा दिया। अच्छे खासे परिवार का एक झटके में अवसान हो गया। एक के बाद एक परिवार के चार सदस्यों की मौत ने पूरे गांव को झकझोर कर रख दिया। जो भी सुना, सन्न रह गया। सहसा किसी को यकीन नहीं हो रहा था। मगर सच तो सच है। परिवार ही नहीं, पूरे इलाके में शोक का माहौल है। अब भी जिंदगी से जूझ रहे चाचा-भतीजी
उधर, चारों का अंतिम संस्कार गुरुवार की देर रात हरिश्चंद्र घाट पर किया गया। घाट पर रिश्तेदारों एवं अन्य सगे संबंधियों की भीड़ लगी रही। वहीं, चाचा और भतीजी अब भी अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं।
बारहकोनी गांव के वीरेंद्र प्रसाद शुक्ला इंजीनियर थे। वे बुधवार को अपनी मां राजेश्वरी देवी, पत्नी माधवी और परिवार के ही महेंद्र उर्फ सोनू पुत्र लालजी के साथ कार से विंध्याचल देवी के दर्शन करने गए थे। सोनू इंजीनियरिंग कर अपनी विधवा मां के साथ लखनऊ में रह रहा था। बुधवार की रात लौटते समय मिर्जापुर जिले के कटका थानाक्षेत्र के औराई चौराहे पर उनकी कार लग्जरी वाहन से टकरा गई। इसमें वीरेंद्र, राजेश्वरी, माधवी और महेंद्र उर्फ सोनू की मौत हो गई। यह खबर आते ही भवानी शुक्ला पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा है। उनके इंजीनियर बेटे के अलावा पत्नी, पुत्रवधू की मौत ने उन्हें हिलाकर रख दिया है। बुजुर्ग भवानी शुक्ल अपने परिवार के लिए न जाने क्या-क्या सपने देखे थे। लेकिन इन मौताें ने उनके बुढ़ापे की लाठी छीन ली। हादसे का शिकार हुए वीरेंद्र अपने तीन भाइयों रवि (21), अतुल (19), व विक्की (12) में सबसे बड़ा था। पिता के ही आफिस में वह एकाउन्ट सेक्शन में तैनात था। वीरेन्द्र का छोटा भाई रामकृष्ण अस्पताल में जीवन व मौत से जूझ रहे हैं।
मिर्जापुर कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, सड़क हादसे में बुधवार की शाम चार लोगों की मौत हो गई। वाराणसी के अर्दली बाजार निवासी रामकृष्ण शुक्ला का परिवार बुधवार को कार से दोपहर में दो बजे मां विंध्यवासिनी के दर्शन करने जा रहा था। कार में कुल छह लोग सवार थे। परिवार का ही एक सदस्य कार चला रहा था। शाम करीब चार बजे राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर दो जीटी रोड पर कटका गांव के करीब पहुंचे थे कि विंध्याचल से सवारी लादकर वाराणसी जा रहे लग्जरी वाहन से भिड़ंत हो गई। कार के परखचे उड़ गए और उसमें सवार चार लोगाें की मौके पर ही मौत हो गई। मृतकाें में वीरेंद्र शुक्ला (22), उनके भाई महेंद्र कुमार शुक्ला (38) पुत्रगण रामकृष्ण, माधवी (20) पत्नी वीरेंद्र शुक्ला, मां राजेश्वरी (45) पत्नी रामकृष्ण शामिल हैं। वहीं कार के पीछे बैठी वीरेंद्र शुक्ला की पांच वर्षीय पुत्री दिव्यंाशी, भाई रवि शुक्ला (18) घायल हो गए।

Spotlight

Most Read

Varanasi

मतदाता पुनरीक्षण में लापरवाही, चार अफसरों को नोटिस

मतदाता पुनरीक्षण में लापरवाही, चार अफसरों को नोटिस

19 जनवरी 2018

Related Videos

ट्रेन में कर रहा था पाकिस्तान से जुड़ी ऐसी बाते, पुलिस ने लिया हिरासत में

मुंबई से गोरखपुर जा रही कुशीनगर एक्सप्रेस ट्रेन में सफर कर रहे एक संदिग्ध शख्स को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। पुलिस को ये शिकायत ट्रेन में बैठे एक पैरा मिलिट्री के जवान की ओर से मिली थी।

12 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper